Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजबिहार में 15000 को आतंकी ट्रेनिंग, 12 जिलों में PFI ने बना रखे हैं...

बिहार में 15000 को आतंकी ट्रेनिंग, 12 जिलों में PFI ने बना रखे हैं टेरर सेंटर: ‘मिशन 2047’ में जुटे अतहर-अरमान ने उगले कई राज

बिहार में इन ठिकानों पर PFI अब तक 15000 से अधिक मुस्लिम युवाओं को अस्त्र-शस्त्र चलाने की ट्रेनिंग दे चुकी है। युवाओं को ट्रेनिंग देने के लिए राज्य में करीब 12 जिलों में ऑफिस खोला गया था।

पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया (PFI) द्वारा पटना के फुलवारीशरीफ में रची गई आतंकी साजिश में रोज नए खुलासे हो रहे हैं। पटना पुलिस की पूछताछ संदिग्ध आतंकी अतहर परवेज और अरमान मलिक ने बिहार में 15 हजार से अधिक मुस्लिम युवाओं को आतंकी ट्रेनिंग दिए जाने का खुलासा किया है। इनसे ही आतंकी मरगूब ने आतंकी संगठन ‘गजवा-ए-हिंद’ के स्लीपर सेल बना रखे थे। जिसका मकसद 2023 में देश के खिलाफ जिहाद थी। वहीं अब आतंक की ट्रेनिंग पाए इन युवकों के स्‍लीपर सेल की शिनाख्‍त पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती है।

मीडिया रिपोर्ट में पुलिस के हवाले से बताया गया है कि दोनों संदिग्ध आतंकियों ने खुलासा किया है कि PFI द्वारा इन जिलों में शारीरिक शिक्षा के नाम पर मुस्लिम युवाओं को आतंक की ट्रेनिंग दी जा रही थी। बिहार में इन ठिकानों पर PFI अब तक 15000 से अधिक मुस्लिम युवाओं को अस्त्र-शस्त्र चलाने की ट्रेनिंग दे चुकी है। युवाओं को ट्रेनिंग देने के लिए राज्य में करीब 12 जिलों में ऑफिस खोला गया था। जबकि, पूर्णिया को PFI का हेड क्वार्टर बनाया गया था। देश विरोधी गतिविधियों की इस बड़ी साजिश की जाँच अब एनआइए (NIA) व प्रवर्तन निदेशालय (ED) कर सकते हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, अब तक मिली जानकारी के अनुसार अतहर एवं अरमान मलिक ने पूछताछ में दक्षिण भारत के केरल और कर्नाटक से आने वाले आतंक के प्रशिक्षकों के नाम उजागर किए हैं। जो बिहार में मुस्लिम युवाओं को आतंकी प्रशिक्षण दे रहे थे। कहा जा रहा है कि दोनों आतंकियों ने PFI की आड़ में दो अन्य विंग और सिमी के पूर्व सदस्यों को संगठन में जोड़ने का उद्देश्य भी पुलिस को बताए हैं।

वहीं रिमांड पर लिए गए दोनों संदिग्ध आतंकियों से PFI की फंडिंग को लेकर भी कई सवाल किए गए हैं। रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि, PFI के बैंक अकाउंट में करीब 90 लाख रुपए के ट्रांजेक्शन किए जाने का सबूत मिला है।

बता दें कि फुलवारी शरीफ के नया टोला से 11 जुलाई, 2022 को पटना पुलिस ने अतहर परवेज और जलालुद्दीन को और 14 जुलाई को अरमान मल्लिक को अपने कब्जे में लिया था। वे फुलवारीशरीफ में शारीरिक प्रशिक्षण की आड़ में आतंकी प्रशिक्षण देते तथा भारत को 2047 तक इस्लामिक राष्ट्र (गजवा-ए-हिन्द) बनाने की साजिश से जुड़े हैं। इसके बाद बिहार पुलिस की जाँच के दौरान इनके पूरे आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश हो गया। रिपोर्ट के अनुसार, इस मामले में कुल 26 लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई है। आरोपितों में से 4 को गिरफ्तार भी किया जा चुका है। उनसे मिली जानकारियों के आधार पर आगे की जाँच चल रही है।

बिहार में रची जा रही थी इंडिया को खत्म करने की साजिश

बिहार पुलिस ने 14 जुलाई 2022 को 8 पन्नों वाले पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के दस्तावेज को लेकर चौंकाने वाले खुलासे किए थे, जो भारत के ‘कायर हिंदुओं’ को सबक सिखाने की बात करता है। यह दस्तावेज आने वाले वर्षों के लिए पीएफआई के लक्ष्य के बारे में बताता है।

‘इंडिया विज़न 2047’ नाम के दस्तावेज़ को पीएफआई ने अपने कैडर के बीच आंतरिक रूप से वितरित किया है। उसका लक्ष्य ‘कायर हिंदुओं’ पर पूरी तरह से हावी होना और उन्हें अपने अधीन करना है। यह लक्ष्य तब ही प्राप्त किया जा सकता है, जब पीएफआई के पीछे 10 प्रतिशत मुस्लिम एकजुट हों।

वहीं आतंकी संगठन गजवा-ए-हिन्द से जुड़ा मरगूब ‘इंडिया खत्म हो जाएगा’ मुहिम का हिस्सा था। कहा जा रहा है कि पाकिस्‍तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ भी उसे सपोर्ट कर रही थी। वह ‘गजवा-ए-हिंद’ वाट्सऐप ग्रुप बनाकर पाकिस्तान के कई लोगों को ग्रुप से जोड़ चुका था। रिपोर्ट के अनुसार, उसके पास मिले मोबाइल से मशकूर नामक एक पाकिस्तानी का नंबर मिला है, जिसने चैटिंग में खुद को आइएसआइ का एजेंट बताया है।

गौरतलब है कि PFI के इस केस में अब तक कुल 4 संदिग्ध आतंकियों की गिरफ्तारी हुई है। जिसमें अतहर परवेज, मो. जलालुद्दीन, अरमान मलिक और फिर दरभंगा के रहने वाले और प्रतिबंधित आतंकी संगठन सिमी के पूर्व सदस्यों को जेल से छुड़ाने में मदद करने वाले नुरुद्दीन जंगी शामिल हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मांस-मछली से मुक्त हुआ गुजरात का पातिलाना, इस्लाम और ईसाइयत से भी पुराना है इस शहर का इतिहास: जैन मंदिर शहर के नाम से...

शत्रुंजय पहाड़ियों की यह पवित्रता और शीर्ष पर स्थित धार्मिक मंदिर, साथ ही जैन धर्म का मूल सिद्धांत अहिंसा है जो पालिताना में मांस की बिक्री और खपत पर प्रतिबंध लगाने की मांग का आधार बनता है।

US में पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को लगी गोली, हमलावर सहित 2 की मौत: PM मोदी ने जताया दुख, कहा- ‘राजनीति में हिंसा की...

गोलीबारी के दौरान सुरक्षाबलों ने हमलावर को मार गिराया। इस हमले में डोनाल्ड ट्रंप घायल हो गए और उनके कान से निकला खून उनके चेहरे पर दिखा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -