Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजNSUI नेता रहा है भीलवाड़ा का लव जिहादी, कॉलेज में चुनाव भी जीता: हिंदू...

NSUI नेता रहा है भीलवाड़ा का लव जिहादी, कॉलेज में चुनाव भी जीता: हिंदू नाम रख लड़कियों का करता है शिकार, कई शहरों में नाम बदलकर रहा

मनीष बन हिंदू लड़की को ब्लैकमेल करने वाला शाहिद पाली में NSUI का सक्रिय कार्यकर्ता था। बांगड़ कॉलेज में हुए छात्रसंघ चुनाव में संयुक्त महासचिव के पद पर जीत भी हासिल की थी।

राजस्थान के भीलवाड़ा में हिंदू लड़की को ब्लैकमेल करने के आरोप में पकड़ा गया शाहिद खान गोरी कॉन्ग्रेस की छात्र शाखा NSUI का सदस्य रहा है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कॉलेज में उसने चुनाव भी जीत था। अंदेशा जताया जा रहा है कि उसने पहचान छिपाकर कई अन्य लड़कियों को भी शिकार बनाया है। शाहिद को 18 जुलाई 2022 को गिरफ्तार किया गया था।

दैनिक भास्कर के मुताबिक आरोपित शाहिद के कमरे की तलाशी में पुलिस ने फर्जी कागज और आधार कार्ड बरामद किया है। शाहिद पाली जिले के बादशाह झंडा का रहने वाला है। भीलवाड़ा के पंचवटी इलाके में उसने अपना नाम मनीष सेन बता किराए पर कमरा लिया था। पहचान छिपाने के लिए खुद ही आधार कार्ड भी एडिट कर लिया था।

वह भीलवाड़ा की एक मोबाइल कंपनी में काम कर रहा था। माना जा रहा है कि बीते 10 साल से वह पाली और भीलवाड़ा में अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग नामा से रहा है। साल 2014-15 में वह बांगड़ कॉलेज में हुए छात्रसंघ चुनाव में संयुक्त महासचिव के पद पर जीता था। वह पाली में NSUI का सक्रिय कार्यकर्ता था।

पुलिस को शाहिद गोरी के मोबाईल की जाँच में पीड़िता के कई फोटो मिले हैं। पुलिस यह जानने का भी प्रयास कर रही है कि कहीं उसने सोशल मीडिया या अन्य माध्यमों से कुछ और लड़कियों को भी तो शिकार नहीं बनाया है।

क्या है मामला

भीलवाड़ा जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र में एक कॉलेज छात्रा ने मनीष सेन बने शाहिद के खिलाफ ब्लैकमेल करने की शिकायत दर्ज करवाई थी। पीड़िता का कहना था कि शाहिद के पास उसकी कुछ आपत्तिजनक तस्वीरें हैं। उसी के बलबूते वह उसे धमका कर कमरे में ले गया था। इस दौरान रेप का प्रयास किया। लेकिन लड़की के शोर मचाने पर वह सफल नहीं हो पाया। बाद में पीड़िता ने अपने परिजनों को सारी जानकारी दी। पुलिस के आगे शाहिद ने मनीष सेन के नाम से सोशल मीडिया पर फर्जी आईडी बनाने की बात कबूली थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -