Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाज28 साल बाद टेंट से आजादी... चैत्र नवरात्रि के पहले दिन रामलला बुलेट प्रूफ...

28 साल बाद टेंट से आजादी… चैत्र नवरात्रि के पहले दिन रामलला बुलेट प्रूफ के अस्थाई मंदिर में होंगे शिफ्ट

"कोरोना वायरस का राम नवमी मेले पर कोई असर नही पड़ेगा। राम नवमी मेला निश्चित समय पर ही होगा, जिसमें हमेशा की तरह पारंपरिक धार्मिक आयोजन किए जाएँगे। मेला रोकने की कोई बात नहीं है।"

रामजन्मभूमि पर सुप्रीम कोर्ट से फैसला आने के बाद से अयोध्या में जन्मभूमि पर विशाल मंदिर निर्माण की प्रक्रिया तेज हो गई है। पहले इस हेतु सुप्रीम कोर्ट के निर्णय अनुसार ट्रस्ट बनाया गया। जिसके बाद से राममंदिर बनने की दिशा में तेजी आई है। रामलला को टेंट से निकलकर अस्थायी मंदिर में शिफ्ट करने की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आ रही है, इस दिशा में तैयारी भी अब अंतिम चरण में पहुँच चुकी है। रामलला चैत्र नवरात्रि के पहले दिन यानी 25 मार्च को फाइबर के बने बुलेट प्रूफ के अस्थाई मंदिर में शिफ्ट हो जाएंगे। रिपोर्ट्स के अनुसार इसके लिए कोलकाता में तैयार बुलेट प्रूफ मंदिर शनिवार देर रात अयोध्या पहुँच गया है। यह मंदिर 21×15 फुट का है।

मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक बुलेट प्रूफ फाइबर से बना यह मंदिर अनेक सुख-सुविधाओं से लैस है। जिसमें रामलला को गर्मी से बचाने के लिए दो एसी भी लगाए जाएंगे। मंदिर के लिए चबूतरा 24 मार्च तक तैयार हो जाएगा। जिसके बाद 25 मार्च को रामलला को इस चबूतरे पर विराजमान कराया जाएगा, जहाँ वे अपने भाइयों संग टेंट से निकलकर इस मंदिर में विराजेंगे। इसके बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जो गोरखनाथ मंदिर के मठाधीश भी हैं, रामलला की प्रथम आरती करेंगे।

न्यूज एजेंसी के अनुसार रामलला के प्रमुख पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने मीडिया से कहा, “27 सालों से रामलला टेंट में विराजमान हैं। अब रामलला के लिए फाइबर का मंदिर आ गया है। जिसमें उनके लिए सारी सुख-सुविधाएँ होंगी। अब रामलला को अब किसी भी तरह की समस्या नहीं होगी।” याद रहे कि अयोध्या में स्थाई मंदिर के निर्माण होने तक रामलला इसी फाइबर से बने अस्थाई मंदिर में विराजेंगे।

वहीं कोरोना के चलते मौजूद भय के बीच अयोध्या जिलाधिकारी अनुज झा ने कहा कि कोरोना वायरस का राम नवमी मेले पर कोई असर नही पड़ेगा। राम नवमी मेला निश्चित समय पर ही होगा, जिसमें हमेशा की तरह पारंपरिक धार्मिक आयोजन किए जाएँगे। मेला रोकने की कोई बात नहीं है। जिलाधिकारी ने मीडिया से आगे कहा कि एडवाइजरी जारी कर मेले में आने वाले लोगो को जागरूक किया जाएगा, जिससे मेले को सुरक्षित संपन्न किया जा सके।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फ्लाईओवर के ऊपर ‘पैदा’ हो गया मज़ार, अवैध अतिक्रमण से घंटों लगता है ट्रैफिक जाम: देश की राजधानी की घटना

ताज़ा घटना दिल्ली के आज़ादपुर की है। बड़ी सब्जी मंडी होने की वजह से ये इलाका जाना जाता है। यहाँ के एक फ्लाईओवर पर अवैध मजार बना दिया गया है।

लाल किला के उपद्रवियों को कानूनी सहायता, पैसे भी: पंजाब की कॉन्ग्रेस सरकार ने बनाई कमिटी, चुनावी फायदे पर नजर?

पंजाब की कॉन्ग्रेस सरकार ने लाल किला के उपद्रवियों को कानूनी सहायता के साथ वित्तीय मदद भी देने की योजना बनाई है। 26 जनवरी को हुई थी हिंसा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,105FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe