Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाजसोनभद्र में धर्मांतरण गैंग जनजातीय लोगों को पढ़ा रहा था ईसाइयत का पाठ, चंगाई...

सोनभद्र में धर्मांतरण गैंग जनजातीय लोगों को पढ़ा रहा था ईसाइयत का पाठ, चंगाई सभा में बुलाकर देते थे तरह-तरह के लालच: 42 पर केस, 9 गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में धर्मांतरण कराने वाली गैंग का पर्दाफाश होने के बाद पुलिस ने इस मामले में 42 लोगों पर केस किया था, अब खबर है कि इनमें से 9 लोग पकड़ लिए गए हैं।

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में भोलेभाले गरीब व जनजातीय लोगों को पैसे का लालच देकर धर्मांतरण कराने वाली गैंग का पर्दाफाश होने के बाद पुलिस ने इस मामले में 42 लोगों पर केस किया था। अब खबर है कि इनमें से 9 आरोपित पकड़ लिए गए हैं। इनकी गिरफ्तारी गुरुवार (30 नवंबर 2023) को हुई और पुलिस ने इस बारे में अगले दिन यानी शुक्रवार को सूचित किया।

आरोप है कि ये सारे लोग गरीबों को चंगाई सभा का आयोजन कर अलग-अलग तरह के लालच देकर उन्हें ईसाई धर्म में परिवर्तित करने की कोशिश कर रहे थे। उनकी आर्थिक स्थिति का फायदा उठाकर अपने धर्म का प्रचार-प्रसार कर रहे थे।

छापे में पुलिस को इनके पास से कई ईसाई धर्म वाली पुस्तकें, प्रोपगेंडा फैलाने वाली सामग्री और लैपटॉप मिले है। बरामद सामग्री में ’10 बाइबिल पुस्तक, 13 पवित्र शास्त्र, तीन जागो भारत हिन्दुस्तान पुस्तक, तीन ग्लोबल डे आफ प्रेयर टीम पुस्तक, तीन परमेश्वर और परिवार पुस्तक, एक अदद सबसे महान रहस्य पुस्तक, एक प्रभु का आनन्द पुस्तक, एक प्रभु इशा मशीह पुस्तक’ जैसी पुस्तकें थीं।

केस पर बात करते हुए अपर पुलिस अधीक्षक कालू सिंह ने बताया कि जिले के चोपन थाना क्षेत्र के मलहिया टोला निवासी नरसिंह ने शिकायत दर्ज कराई थी कि कुछ लोग आदिवासी लोगों और गरीबों को फर्जी तरीके से ईसाई धर्म अपनाने के लिए प्रलोभन दे रहे हैं। कुछ रिपोर्ट्स के अनुसार, ये शिकायत अभी हाल में दी गई, लेकिन कुछ का कहना है कि 2021 में दर्ज शिकायत मामले में कार्रवाई हुई है।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि शिकायत के आधार पर उन्होंने उत्तर प्रदेश गैरकानूनी धर्म परिवर्तन निषेध अधिनियम के तहत 42 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। इनमें 9 पकड़े गए। गिरफ्तार आरोपितों में एक का नाम जयप्रभु है, वह तमिलनाडु का रहने वाला है। इसी तरह अजय कुमार यूपी रॉबर्ट्सगंज का है, चेका इमैनुअल आँध्र प्रदेश के विजयवाड़ा का है। इनके अलावा राजेंद्र कौल, छोटू रंजन, परमानंद सोहन, प्रेम नाथ प्रजापति और राम प्रताप हैं

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मंगलौर के बहाने समझिए मुस्लिमों का वोटिंग पैटर्न: उत्तराखंड की जिस विधानसभा से आज तक नहीं जीता कोई हिन्दू, वहाँ के चुनाव परिणामों से...

मंगलौर में हाल के विधानसभा उपचुनावों में कॉन्ग्रेस ने भाजपा को हराया। इस चुनाव में मुस्लिम वोटिंग का पैटर्न भी एक बार फिर साफ़ हो गया।

IAS बेटी ऑडी पर बत्ती लगाकर बनाती थी भौकाल, माँ-बाप FIR के बाद फरार: पूजा खेडकर को जाँच के बाद डॉक्टरों ने नहीं माना...

पूजा खेडकर का मामला मीडिया में उठने के बाद उनके माता-पिता से जुड़ी कई वीडियो सामने आई है। ऐसे में पुलिस ने उनकी माँ के खिलाफ एफआईआर की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -