Saturday, July 20, 2024
Homeराजनीति'ला इलाहा इल्लल्लाह' या अजमेर शरीफ की माँग कर दें तो... अरविंद केजरीवाल ने...

‘ला इलाहा इल्लल्लाह’ या अजमेर शरीफ की माँग कर दें तो… अरविंद केजरीवाल ने करेंसी नोटों पर माँगी लक्ष्मी-गणेश की तस्वीर तो मुस्लिम हुए नाराज़

केजरीवाल ने कहा कि एमके गाँधी की तस्वीर जस की तस बनी रहनी चाहिए, लेकिन अगर दूसरी तरफ भगवान गणेश और देवी लक्ष्मी की तस्वीर हो तो पूरे देश पर कृपा होगी। उन्होंने कहा कि वर्तमान करेंसी नोटों को वैसे ही रखा जा सकता है, लेकिन जो नए नोट छपते हैं उनमें हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरें हो सकती हैं।

दिल्ली के सीएम और आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने बुधवार (26 अक्टूबर 2022) को पीएम नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार से नोटों पर भगवान गणेश और देवी लक्ष्मी की फोटो को छापने की अपील की। केजरीवाल ने कहा कि वह चाहते हैं कि भारत में हर कोई अमीर हो और कभी-कभी, कोई कितनी भी कोशिश कर ले, कुछ कमी रह ही जाती है। उन्होंने कहा, “प्रयास तभी फलदायी होते हैं, जब हमारे पास देवी-देवताओं का आशीर्वाद होता है।”

मीडिया को संबोधित करते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा, “कल से एक दिन पहले दिवाली थी। हम सभी ने भगवान गणेश और देवी लक्ष्मी से प्रार्थना की। हमने स्वास्थ्य, धन और समृद्धि के लिए प्रार्थना की। हम जानते हैं कि कैसे व्यवसायी अपने कमरों में भगवान गणेश और लक्ष्मीजी के चित्र रखते हैं और अपना काम शुरू करने से पहले उनसे प्रार्थना करते हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “आज मैं केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री से भारतीय मुद्रा पर भगवान गणेश और देवी लक्ष्मी की तस्वीर शामिल करने की अपील करना चाहता हूँ। गाँधी जी की फोटो जैसी है, वैसी रह सकती है। अपनी अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए हमें और अधिक प्रयास करने की जरूरत है, लेकिन हमें अपने देवी-देवताओं के आशीर्वाद की भी जरूरत है।”

केजरीवाल ने कहा कि एमके गाँधी की तस्वीर जस की तस बनी रहनी चाहिए, लेकिन अगर दूसरी तरफ भगवान गणेश और देवी लक्ष्मी की तस्वीर हो तो पूरे देश पर कृपा होगी। उन्होंने कहा कि वर्तमान करेंसी नोटों को वैसे ही रखा जा सकता है, लेकिन जो नए नोट छपते हैं उनमें हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरें हो सकती हैं।

हालाँकि, अरविंद केजरीवाल की यह सलाह उन मुस्लिम ट्विटर यूजर को अच्छा नहीं लगा, जिनके लिए अल्लाह के अलावा किसी अन्य की प्रार्थना करना पाप है। मुस्लिम यूजर ने उनको ट्रोल करने की कोशिश की।

कुछ मुस्लिम ट्विटर यूजर्स ने अरविंद केजरीवाल को हिंदू राष्ट्रवादी संगठन आरएसएस का ‘छोटा रिचार्ज’ भी कहा।

एक ट्विटर यूजर ने तो यहाँ तक कहा कि अगर AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी ने नोटों पर ‘ला इलाह इल्लल्लाह’ (अल्लाह के अलावा कोई भगवान नहीं है) लिखने या अजमेर दरगाह की तस्वीर छापने का सुझाव दिया होता तो क्या होता।

कुछ लोगों ने तो यह भी दावा किया कि भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है और इसलिए नोटों पर हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरें नहीं लगानी चाहिए।

आम आदमी पार्टी के अमानतुल्ला खान और गोपाल इटालिया जैसे नेताओं ने अभी तक अरविंद केजरीवाल के इस बयान पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -