Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीतिपहले तेजस्वी यादव की मंच पर दिखा शॉर्प शूटर मोहम्मद कैफ, फिर बंद कमरे...

पहले तेजस्वी यादव की मंच पर दिखा शॉर्प शूटर मोहम्मद कैफ, फिर बंद कमरे में मिलन की तस्वीरें हुई वायरल: सीवान में पत्रकार की हत्या में भी जा चुका है जेल

मोहम्मद कैफ उर्फ बंटी का शहाबुद्दीन की बीवी हिना शहाब और बेटे ओसामा शहाब से भी नजदीकी है। कहा जा रहा है कि गैंगस्टर से सांसद बने मोहम्मद शाहबुद्दीन की मौत के बाद खाली हुए उनके आपराधिक साम्राज्य पर कब्जा करना चाहता है। इसलिए वह अक्सर राजनीतिक गतिविधियों में भी दिखता है। अग्निवीर योजना के विरोध में उसने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था और जेल गया था।

बिहार में 1990 के दशक को जंगलराज कहा जाता है। उस दौरान हत्या, बलात्कार, अपहरण, डकैत आदि अपराध ने संगठित रूप ले लिया था और उसे राजनेताओं का संरक्षण भी हासिल था। ये राजद के संस्थापक और उनकी पत्नी राबड़ी देवी का दौैर था। उस दौर को आज उनके बेटे तेजस्वी यादव फिर याद दिलाई, जब शार्प शूटर के साथ उनकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं।

दरअसल, बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा महागठबंधन का साथ छोड़ने के बाद वहाँ के राजनीतिक समीकरण बदल गए हैं। इसे साधने के लिए तेजस्वी यादव जन विश्वास यात्रा पर निकले हैं। इसी यात्रा में तेजस्वी यादव जब गुुरुवार (22 फरवरी 2024) को सिवान के टड़वा पहुँचे। वहाँ उनके साथ कुख्यात शूटर मोहम्मद कैफ उर्फ बंटी भी दिखा।

मोहम्मद कैफ सिर्फ रैली के दौरान ही तेजस्वी यादव के साथ नहीं था, बल्कि अतिथि भवन का एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस फोटो में तेजस्वी यादव के साथ मोहम्मद कैफ बैठा हुआ दिख रहा है। इसमें तेजस्वी यादव कैफ के साथ हाथ मिलाते हुए दिख रहे हैं। इसके साथ ही एक अन्य तस्वीर में वो कैफ के साथ बैठे हुए दिख रहे हैं।

ये वही मोहम्मद कैफ है, जिसे सिवान के कुख्यात गैंगस्टर मोहम्मद शहाबुद्दीन के बहन के लड़के यूसुफ की हत्या में जेल जा चुका है। इतना ही नहीं, सिवान के भाजपा सांसद रहे ओमप्रकाश यादव के प्रेस प्रतिनिधि श्रीकांत भारतीय की हत्या में भी मोहम्मद कैफ का नाम आया है। वह सिवान के गैंगस्टर शहाबुद्दीन के साथ भी कई बार दिख चुका है और उनका सहयोगी रहा है।।

मोहम्मद कैफ उर्फ बंटी का शहाबुद्दीन की बीवी हिना शहाब और बेटे ओसामा शहाब से भी नजदीकी है। कहा जा रहा है कि गैंगस्टर से सांसद बने मोहम्मद शाहबुद्दीन की मौत के बाद खाली हुए उनके आपराधिक साम्राज्य पर कब्जा करना चाहता है। इसलिए वह अक्सर राजनीतिक गतिविधियों में भी दिखता है। अग्निवीर योजना के विरोध में उसने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था और जेल गया था।

कैफ पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या का भी आरोपित बनाया गया था। पत्रकार राजदेव रंजन की हत्याकांड में मोहम्मद कैफ को पुलिस द्वारा प्राथमिक अभियुक्त बनाया गया था। पूछताछ के बाद सीबीआई ने उसे जेल भेज दिया था। बाद में उसे क्लीन चिट मिल गई थी। मोहम्मद कैफ पर दर्जनों मामले में लंबित हैं। वह कई बार जेल भी जा चुका है।

मंच पर और तेजस्वी यादव से व्यक्तिगत तौर पर मिलने के बाद सामने आई तस्वीरों के प्रसारित होने के बाद मोहम्मद कैफ ने बताया कि वह पिछले दो साल से जमानत पर बाहर है। उसने यह भी बताया कि वह सिवान में बच्चों को अपने ‘कैफ क्रिकेट एकेडमी’ में प्रशिक्षण दे रहा है। उस पर रंगदारी, लेबी सहित मारपीट के कई मामले दर्ज हैं।

एक कुख्यात क्रिमिनल के साथ तेजस्वी यादव के मिलने पर राजनीतिक भूचाल आ गया है। भाजपा ने इसको लेकर सवाल उठाया है। बिहार भाजपा ने ट्वीट करके तेजस्वी यादव से पूछा है कि वे जन विश्वास यात्रा निकाल रहे हैं या अपराधी विश्वास यात्रा? भाजपा ने तेजस्वी पर वोटबैंक की राजनीति करने का आरोप लगाया है। साथ ही राष्ट्रीय जनता दल (राजद) को ‘राष्ट्रीय जहरीला दल’ कहा है।

भाजपा ने अपने ट्वीट ने लिखा है, “तेजस्वी यादव जी ‘जन विश्वास यात्रा’ निकाल रहे या ‘अपराधी विश्वास यात्रा?’ वोटबैंक के लिए अंधे तेजस्वी यादव ने पत्रकार राजदेव रंजन यादव जी के खून के छींटे से रंगे हत्यारे के साथ मंच साझा कर गुंडाराज की झलक फिर से पेश की है। वोट बैंक के लिए ये समाज और सिद्धांत सब कुछ गिरवी रख देंगे!”

बता दें कि मोहम्मद कैफ पहले युवा राजद से जुड़ा था। कुछ दिन राजद में रहने के बाद उसने राजद से नाता तोड़ लिया था। साल 2020 में हुए विधानसभा में वह रघुनाथपुर सीट से विधायकी का चुनाव भी लड़ा था। उसे बिहार के एक क्षेत्रीय दल ने अपना उम्मीदवार बनाया था। हालाँकि, इस चुनाव में उसे हार का सामना करना पड़ा था। अब माना जा रहा है कि वह फिर राजद के साथ जुड़ने की कोशिश कर रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘दरबार हॉल’ अब कहलाएगा ‘गणतंत्र मंडप’, ‘अशोक हॉल’ बना ‘अशोक मंडप’: महामहिम द्रौपदी मुर्मू का निर्णय, राष्ट्रपति भवन ने बताया क्यों बदला गया नाम

राष्ट्रपति भवन ने बताया है कि 'दरबार' का अर्थ हुआ कोर्ट, जैसे भारतीय शासकों या अंग्रेजों के दरबार। बताया गया है कि अब जब भारत गणतंत्र बन गया है तो ये शब्द अपनी प्रासंगिकता खो चुका है।

जिसका इंजीनियर भाई एयरपोर्ट उड़ाने में मरा, वो ‘मोटू डॉक्टर’ मारना चाह रहा था हिन्दू नेताओं को: हाई कोर्ट से माँग रहा था रहम,...

कर्नाटक हाई कोर्ट ने आतंकी मोटू डॉक्टर को राहत देने से इनकार कर दिया है। उस पर हिन्दू नेताओं की हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोप है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -