Wednesday, June 16, 2021
Home राजनीति 24 भाजपा कार्यकर्ता, जो बंगाल में ममता बनर्जी की जीत के उन्माद में 1...

24 भाजपा कार्यकर्ता, जो बंगाल में ममता बनर्जी की जीत के उन्माद में 1 महीने के भीतर मार डाले गए…

पश्चिम बंगाल में जब से तृणमूल कॉन्ग्रेस की जीत हुई है और ममता बनर्जी की मुख्यमंत्री के रूप में लगातार तीसरी बार सत्ता में वापसी हुई है, तभी से भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या का सिलसिला और तेज़ ही हो गया है।

पश्चिम बंगाल में जब से तृणमूल कॉन्ग्रेस की जीत हुई है और ममता बनर्जी की मुख्यमंत्री के रूप में लगातार तीसरी बार सत्ता में वापसी हुई है, तभी से भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या का सिलसिला और तेज़ ही हो गया है। मतगणना के परिणाम आए 1 महीने से 1 हफ्ते ज्यादा ही हुए हैं, लेकिन पश्चिम बंगाल में दो दर्जन भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्याएँ हुई हैं।

यहाँ हम उन 24 भाजपा कार्यकर्ताओं की बात करेंगे, पिछले एक महीने में जिनकी हत्या सिर्फ इसीलिए कर दी गई क्योंकि वो भाजपा का समर्थन करते थे।

जयप्रकाश यादव

6 जून को उत्तर 24 परगना के बैरकपुर इलाके में भाजपा के पार्टी कार्यकर्ता पर बम से हमला कर हत्या कर दी गई। मृत कार्यकर्ता का नाम जयप्रकाश यादव बताया गया। बंगाल भाजपा ने सत्तारूढ़ तृणमूल कॉन्ग्रेस (टीएमसी) को इस हत्या के लिए जिम्मेदार ठहराया। स्थानीय सांसद अर्जुन सिंह ने भी बताया कि भाटपाड़ा के वार्ड नंबर 1 में तृणमूल के गुंडों ने भाजपा के कार्यकर्ता जे.पी. यादव के सिर पर बम मारकर उसकी हत्या कर दी।

अनिल बर्मन

उत्तर बंगाल के कूचबिहार जिले में विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (BJP) के एक कार्यकर्ता का शव जंगल में पेड़ से झूलता हुआ पाया गया। बीजेपी ने इसे हत्या बताते हुए सत्ताधारी तृणमूल कॉन्ग्रेस पर आरोप लगाया है। टीएमसी ने आरोपों को नकार दिया। ये घटना 30 मई की है। कार्यकर्ता की पहचान सिताई इलाके के निवासी अनिल बर्मन के रूप में हुई।

राजा सामंतो

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी के क्षेत्र डायमंड हार्बर के साधुरघाट गाँव में भाजपा के बूथ अध्यक्ष की हत्या कर दी गई। 29 मई को साउथ 24 परगना में हुई इस घटना में भाजपा कार्यकर्ता को पीट-पीट कर बेरहमी से मार डाला गया।

धीरेन बर्मन

कूचबिहार जिले के सीतलकुची में भाजपा के एक और कार्यकर्ता को मौत के घाट उतारने का आरोप सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ताओं पर लगा। मृतक की पहचान 34 साल के धीरेन बर्मन के तौर पर हुई। आरोप लगे कि उन्हें बर्बर तरीके से मौत के घाट उतारा गया। वह सीतलकुची ग्राम पंचायत के 234 नंबर बूथ के सक्रिय कार्यकर्ता थे। खेत के लिए निकले धीरेन का अपहरण किया गया और फिर मार डाला गया।

प्रोसेनजीत दास

23 मई को को दमदम पार्क में एक बीजेपी कार्यकर्ता का शव फंदे से झूलता हुआ पाया गया। बताया गया कि उन्होंने आत्महत्या की है। उनकी पहचान 40 वर्षीय प्रसेनजीत दास के रूप में हुई। वह दमदम पार्क के हरिचंद पल्ली का रहने वाले थे। चुनाव परिणाम घोषित होने के तुरंत बाद प्रसेनजीत हमले के डर से गए थे, लेकिन उन्हें अपने पिता की शारीरिक बीमारी के कारण घर लौटना पड़ा। वो पहले से दहशत में थे

वहीं TMC ने उन्हें मानसिक रूप से पागल और अवसादग्रस्त बता दिया। इलाके के बदमाशों ने उनकी पिटाई भी की थी।

निर्मल मंडल

आरोप है कि तृणमूल कॉन्ग्रेस समर्थकों ने 19 मई को हमला कर निर्मल मंडल को घायल कर दिया था। एक दिन बाद उनकी मौत हो गई थी। नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी ने विधानसभा चुनाव बाद हिंसा में मारे गए भाजपा समर्थक निर्मल मंडल के परिजन को बारूईपुर पार्टी सांगठनिक जिला कार्यालय में पाँच लाख रुपए का चेक पार्टी कोष से दिया था

घनश्याम राणा

हुगली के आरामबाग में खानकुल विधानसभा क्षेत्र के सकरीपारा किशोरपुर ग्राम पंचायत के बूथ संख्या 13 में पार्टी का काम देखने वाले घनश्याम राणा की पिटाई का आरोप TMC के गुंडों पर लगा, जिसके बाद अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

अरिंदम मिडी

16 मई को फाल्टा विधानसभा में बीजेपी कार्यकर्ता अरिंदम मिडी का शव फंदे से लटकता हुआ पाया गया। बता दें कि बीजेपी ने उनके बूथ (नंबर 205) में बढ़त बनाई थी। वो पंचकोली गाँव के रहने वाले थे।

धर्मा मंडल

14 मई को धर्मा मंडल नामक भाजपा कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई। पश्चिम बंगाल के नादिया जिले में उनके घर पर हमला किया गया और उनकी पिटाई की गई। TMC के गुंडों द्वारा पिटाई के बाद वो गंभीर रूप से घायल हो गए थे, जिसके बाद ये उनकी मौत हो गई।

मनोज जायसवाल

ठीक उसी दिन पश्चिम बंगाल में भाजपा कार्यकर्ता मनोज जायसवाल का शव पड़ा हुआ मिला। ये घटना बीरभूम के नलहाटी विधानसभा क्षेत्र में हुई।

मालदा में डबल मर्डर

भाजपा ने मालदा में अपने दो कार्यकर्ताओं की हत्या का आरोप राज्य की सत्ताधारी पार्टी पर लगाया। यहाँ दो भाजपा कार्यकर्ताओं का शव एक ही पेड़ से लटका मिला, जिनकी पहचान 21 वर्षीय मनोज और 19 साल के चैतन्य मंडल के रूप में हुई।

अरूप रुईदास

बाँकुरा में अरूप रुईदास नामक भाजपा कार्यकर्ता का शव पेड़ से लटकता मिला। वो इंडस विधानसभा क्षेत्र में भाजपा के बूथ एजेंट थे।

अभिजीत सरकार

2 मई को को अभिजीत सरकार नामक एक भाजपा कार्यकर्ता ने TMC के गुंडों की हरकतों के बारे में बताया। उसके कुछ ही देर बाद उनकी हत्या कर दी गई। उन्होंने कई बेसहारा कुत्तों को पाला था, जिनका कोई नहीं था। उनमें से एक मादा कुत्ते ने कुछ बच्चों को भी जन्म दिया था। अभिजीत सरकार ने उस कुत्ते की तरफ इशारा करते हुए कहा कि गुंडों ने इसके बच्चों को भी नहीं बख्शा और उन सभी को मार डाला।

उन्होंने रोते-रोते इन हरकतों के बारे में बताया। एक अन्य वीडियो में उन्होंने बताया था कि उनके घर और NGO दफ्तर को तोड़ डाला गया है। कुत्ते के 5 बच्चे को मार डाला गया। उन कुत्तों के बच्चों की तस्वीरें अभिजीत सरकार ने अपने फेसबुक हैंडल से शेयर की थी। उन्होंने बताया कि कोलकाता के बेलिहाता में वॉर्ड संख्या 30 से हिंसा की शुरुआत हुई और परेश पॉल व स्वप्न समंदर जैसे तृणमूल नेताओं के नेतृत्व में ये सब हुआ। 

शोभा रानी मंडल

पश्चिम बंगाल में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने जिन मृत कार्यकर्ताओं के परिजनों से मुलाकात की, उनमें से शोभा रानी मंडल का परिवार भी था। शोभा रानी मंडल के बेटे कमल मंडल नॉर्थ 24 परगना के भाटपारा स्थित जगद्दल विधानसभा क्षेत्र के बूथ संख्या 177 पर भाजपा के बूथ अध्यक्ष हैं। आरोप है कि TMC के गुंडों ने कमल पर हमला कर दिया और बेटे को बचाने के चक्कर में जख्मी हुईं माँ की मौत हो गई।

कमल मंडल और उनकी पत्नी को छड़ी से पीटा गया था। बुजुर्ग शोभा रानी मंडल की हत्या से उन्हीं की हमनाम 85 वर्षीय शोभा मजूमदार की हत्या की खबर लोगों के जेहन में फिर से ताज़ा हो गई। शोभा मजूमदार के बेटे भाजपा में सक्रिय थे, इसीलिए उनके परिवार पर हमला हुआ था। हमले में जख्मी होने के बाद वो चल बसी थीं।

उत्तम घोष

उत्तम घोष भी भाजपा के कार्यकर्ता थे। पश्चिम बंगाल के नादिया जिले में एक जगह है रानाघाट। यहीं के गंगनापुर इलाके में उत्तम घोष भाजपा के लिए काम कर रहे थे। उन्हें मतगणना के दिन ही आधी रात को मार डाला गया। उनकी हत्या का आरोप भी तृणमूल कॉन्ग्रेस के गुंडों पर लगा।

होरोम अधिकारी

होरोम अधिकारी पश्चिम बंगाल में भाजपा के कार्यकर्ता थे। वे साउथ 24 परगना के सोनारपुर दक्षिण इलाके में कार्यरत थे। उनकी हत्या कर दी गई। उनकी हत्या को लेकर मीडिया या सोशल मीडिया में ज्यादा कुछ नहीं है। भाजपा ने अपनी जिन कार्यकर्ताओं की हत्या की बात कही थी, उनमें उनका नाम भी शामिल है।

मोमिक मोइत्रा

पश्चिम बंगाल का सीतलकूची आपको याद होगा, जहाँ चुनाव के दौरान ही अर्धसैनिक बलों को घेर लिया गया था और आत्मरक्षा में जब CISF ने गोली चलाई तो 4 हमलावरों की मौत हो गई थी। ममता बनर्जी का एक कथित ऑडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें वो लाशों की राजनीति की बातें कर रही थीं। उसी इलाके में माइक मोइत्रा नाम के भाजपा कार्यकर्ता भी सक्रिय थे, जिनकी मतगणना के बाद हत्या कर दी गई।

गौरव सरकार

पश्चिम बंगाल के बीरभूम का एक इलाका है बोलपुर। यहाँ गौरव सरकार नामक भाजपा कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई। सोशल मीडिया पर उनके शव की तस्वीर खूब वायरल हुई और लोगों ने पूछा कि आखिर उनकी गलती क्या थी? भाजपा कार्यकर्ताओं ने सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया। उनके शव पर कमल निशान का झंडा भी डाला गया था।

हराधन रॉय, चन्दन रॉय

पश्चिम बंगाल के कूच बिहार में भी तृणमूल कार्यकर्ताओं ने जम कर हिंसा की। यहाँ भाजपा के कार्यकर्ता हराधन रॉय की हत्या कर दी गई। ये वो इलाका है, जहाँ भाजपा ने मात्र 69 वोटों से जीत दर्ज की है। हराधन रॉय के साथ-साथ यहाँ एक और भाजपा कार्यकर्ता चन्दन रॉय की भी हत्या कर दी गई। उनके सिर में गंभीर चोटें आई थीं।

मिंटू बर्मन

कूच बिहार में ही मिंटू बर्मन नामक भाजपा कार्यकर्ता की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई। मिंटू बर्मन को जल्दी-जल्दी में उनके साथी अस्पताल लेकर गए, जहाँ इलाज के दौरान ही उनकी मौत हो गई।

बिस्वजीत महेश

बिस्वजीत महेश की हत्या की खबर गुरुवार (मई 6, 2021) को आई। पश्चिमी मेदिनीपुर के घटल संगठन जिले में वो भाजपा के ‘शक्ति केंद्र प्रमुख’ के रूप में कार्यरत थे। आरोप है कि तृणमूल के गुंडों ने काफी बेरहमी से उनकी हत्या की। उनकी लाश क्षत-विक्षत अवस्था में मिली। उनके शरीर से आसपास काफी खून बह चुका था।

देबब्रत मैती

देबब्रत मैती को भी टीएमसी कार्यकर्ताओं ने बेरहमी से मार दिया, ऐसे आरोप हैं। नंदीग्राम के रहने वाले देबब्रत की इतनी पिटाई की गई थी कि अस्पताल में इलाज के दौरान ही वो चल बसे।

माणिक मंडल

भाजपा कार्यकर्ता माणिक मंडलउन 6 लोगों में थे, जिनकी चुनावी नतीजे आने के 24 घंटों के भीतर हत्या कर दी गई थी। कूच बिहार जिले के सीताकुलची में ये घटना हुई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अविवाहित रहे, राम मंदिर के लिए जीवन खपा दिया, आपातकाल में 18 महीने की जेल झेली: जानिए कौन हैं VHP के चंपत राय

धामपुर के RSM डिग्री कॉलेज में रसायन विज्ञान के प्रोफेसर रहे चंपत राय सुप्रीम कोर्ट में चली राम मंदिर के मुकदमे की सुनवाई में मुख्य पैरोकार एवं पक्षकार रहे हैं।

यूपी में एक्शन ट्विटर का सुरक्षा कवच हटने का आधिकारिक प्रमाण: IT और कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने 9 ट्वीट में लताड़ा

यह एक्शन इस बात का प्रमाण भी है कि मध्यस्थता प्लेटफार्म के रूप में ट्विटर को जो कानूनी छूट प्रदान की गई थी, वह अब आधिकारिक रूप से समाप्त हो गई है।

हत्या, बच्चे को गोली मारी, छात्रों को सस्पेंड किया: 15 घटनाएँ, जब ‘जय श्री राम’ कहने पर हिन्दुओं के साथ हुई क्रूरता

अब ऐसी घटनाओं को देखिए, जहाँ 'जय श्री राम' कहने पर हिन्दुओं की हत्या तक कर दी गई। गौर करने वाली बात ये कि इस तरह की घटनाओं पर कोई आउटरेज नहीं हुआ।

3 कॉन्ग्रेसी, 2 प्रोपेगंडा पत्रकार: जुबैर के अलावा इन 5 पर भी यूपी में FIR, ‘जय श्रीराम’ पर फैलाया था झूठ

डॉक्टर शमा मोहम्मद कॉन्ग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता हैं। सबा नकवी खुद को राजनीतिक विश्लेषक बताती हैं। राना अयूब को 'वाशिंगटन पोस्ट' ने ग्लोबल एडिटर बना रखा है। कॉन्ग्रेसी मशकूर अहमद AMU छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष हैं। पीएम मोदी के माता-पिता पर टिप्पणी कर चुके सलमान निजामी जम्मू कश्मीर के कॉन्ग्रेस नेता हैं।

2038 तक मियाँ-मुस्लिम होंगे बहुसंख्यक, हिंदुओं के मुकाबले ट्रिपल रेट से बढ़ रही आबादी: असम CM के पॉलिटिकल सेक्रेटरी ने चेताया

असम बीजेपी के विधायक जयंत बरुआ ने कहा है कि जनसंख्या वृद्धि की यही रफ्तार बनी रही तो 2037-38 तक राज्य में हिंदू अल्पसंख्यक हो जाएँगे।

35 मौके, जब AltNews वाले मोहम्मद जुबैर ने फैलाई फेक न्यूज़: बच्चियों को करता है टारगेट, कट्टरपंथियों का है ढाल

यहाँ हम उन मौकों की बात कर रहे हैं, जब-जब उसने फेक खबरों के सहारे प्रोपेगंडा रचा। अधिकांश उसने भाजपा और हिन्दू धर्म को बदनाम करने के लिए ऐसा किया।

प्रचलित ख़बरें

‘राजदंड कैसा होना चाहिए, महाराज ने दिखा दिया’: लोनी घटना के ट्वीट पर नहीं लगा ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ टैग, ट्विटर सहित 8 पर FIR

"लोनी घटना के बाद आए ट्विट्स के मद्देनजर योगी सरकार ने ट्विटर के विरुद्ध मुकदमा दायर किया है और कहा है कि ट्विटर ऐसे ट्वीट पर मैनिपुलेटेड मीडिया का टैग नहीं लगा पाया। राजदंड कैसा होना चाहिए, महाराज ने दिखा दिया है।"

‘जो मस्जिद शहीद कर रहे, उसी के हाथों बिक गए, 20 दिलवा दूँगा- इज्जत बचा लो’: सपा सांसद ST हसन का ऑडियो वायरल

10 मिनट 34 सेकंड के इस ऑडियो में सांसद डॉ. एस.टी. हसन कह रहे हैं, "तुम मुझे बेवकूफ समझ रहे हो या तुम अधिक चालाक हो... अगर तुम बिक गए हो तो बताया क्यों नहीं कि मैं भी बिक गया।

‘मुस्लिम बुजुर्ग को पीटा-दाढ़ी काटी, बुलवाया जय श्री राम’: आरोपितों में आरिफ, आदिल और मुशाहिद भी, ज़ुबैर-ओवैसी ने छिपाया

ओवैसी ने लिखा कि मुस्लिमों की प्रतिष्ठा 'हिंदूवादी गुंडों' द्वारा छीनी जा रहीहै । इसी तरह ज़ुबैर ने भी इस खबर को शेयर कर झूठ फैलाया।

राम मंदिर की जमीन पर ‘खेल’ के दो सूत्र: अखिलेश यादव के करीबी हैं सुल्तान अंसारी और पवन पांडेय, 10 साल में बढ़े दाम

भ्रष्टाचार का आरोप लगाने वाले पूर्व मंत्री तेज नारायण पांडेय 'पवन' और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से सुल्तान के काफी अच्छे रिश्ते हैं।

‘इस बार माफी पर न छोड़े’: राम मंदिर पर गुमराह करने वाली AAP के नेताओं ने जब ‘सॉरी’ कह बचाई जान

राम मंदिर में जमीन घोटाले के बेबुनियाद आरोपों के बाद आप नेताओं पर कड़ी कार्रवाई की माँग हो रही है।

फाइव स्टार होटल से पकड़ी गई हिरोइन नायरा शाह, आशिक हुसैन के साथ चरस फूँक रही थी

मुंबई पुलिस ने ड्रग्स का सेवन करने के आरोप में एक्ट्रेस नायरा नेहल शाह और उनके दोस्त आशिक साजिद हुसैन को गिरफ्तार किया।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
104,239FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe