Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजजामनगर की पिच पर रवींद्र जडेजा की पत्नी रीवाबा ने खिलाया कमल, ननद-ससुर की...

जामनगर की पिच पर रवींद्र जडेजा की पत्नी रीवाबा ने खिलाया कमल, ननद-ससुर की फील्डिंग लगा भी रोक नही पाई कॉन्ग्रेस

रीवाबा कहती हैं, "27 साल में भाजपा ने जिस तरह काम तिया है, गुजरात मॉडल स्थापित किया है, लोग चाहते हैं कि आगे भी विकास की गाड़ी भाजपा ही आगे लेकर जाए। गुजरात भाजपा के साथ थी और भाजपा के साथ रहेगी।"

गुजरात विधानसभा चुनावों में जामनगर नॉर्थ से भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी रीवाबा जडेजा 72083 वोटों से जीत गई हैं। सुबह से लगातार खबर आ रही थी कि रीवाबा अपने प्रतिद्वंदी और कॉन्ग्रेस उम्मीदवार बिपेद्रसिंह से काफी वोटों से आगे हैं। हालाँकि अब उन्होंने अपनी जीत की बात कहते हुए अपने से जुड़े लोगों को आभार व्यक्त किया है।

तस्वीर साभार: eci.gov.in

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, रीवाबा जडेजा ने कहा, “जिन लोगों ने मुझे बतौर प्रत्याशी चुना, मेरे लिए काम किया, जन-जन तक पहुँचकर उनसे जुड़े…उन सबका मैं धन्यवाद देती हूँ। ये केवल मेरी जीत नहीं है बल्कि हम सब की है।” ट्वीट के मुताबिक चुनाव आयोग के आधिकारिक ट्रेंड का जिक्र है जिसमें बताया गया कि वह अपने प्रतिद्वंदी से 31, 333 वोटों से आगे हैं।

रीवाबा कहती हैं, “27 साल में भाजपा ने जिस तरह काम तिया है, गुजरात मॉडल स्थापित किया है, लोग चाहते हैं कि आगे भी विकास की गाड़ी भाजपा ही आगे लेकर जाए। गुजरात भाजपा के साथ थी और भाजपा के साथ रहेगी।”

बता दें कि गुजरात विधानसभा चुनावों में जहाँ रीवाबा जडेजा भारतीय जनता पार्टी की तरफ से मैदान में थीं। वहीं रवींद्र जडेजा की बहन और ससुर शुरू से कॉन्ग्रेस के समर्थन में थे। कॉन्ग्रेस ने रवींद्र जडेजा की बहन नैना और पिता अनिरुद्ध सिंह को मैदान में उतारा हुआ था। उन्होंने कहा था कि वह कॉन्ग्रेस के साथ हैं। परिवार का मसला, पार्टी के मसले से अलग है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -