Tuesday, September 21, 2021
Homeरिपोर्टमसूद अज़हर को प्रतिबंधित करने के लिए सुरक्षा परिषद पहुँचे US, UK और फ्रांस

मसूद अज़हर को प्रतिबंधित करने के लिए सुरक्षा परिषद पहुँचे US, UK और फ्रांस

इससे पहले 2009 और 2016 में मसूद अज़हर पर प्रतिबन्ध लगाने के लिए सुरक्षा परिषद में प्रस्ताव लाया जा चुका है। 2016 में पठानकोट हमले के बाद लाए गए इस प्रस्ताव पर फ्रांस, अमेरिका और ब्रिटेन ने भारत का साथ दिया था।

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का सरगना मसूद अज़हर को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिबंधित करने की दिशा में भारत को बड़ी कूटनीतिक सफलता मिलती दिख रही है। फ्रांस ने कहा है कि वह अगले कुछ दिनों में आतंकी मसूद अज़हर पर प्रतिबन्ध लगाने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में प्रस्ताव लाएगा। जैश-ए-मोहम्मद को पहले ही संयुक्त राष्ट्र ने प्रतिबंधित कर रखा है। इसी आतंकी संगठन ने पुलवामा हमले की जिम्मेदारी भी ली है। इस हमले में 40 से अधिक भारतीय जवान वीरगति को प्राप्त हुए। भारत अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान को अलग-थलग करने के लिए कूटनीतिक अभियान चला रहा है।

इससे पहले 2009 और 2016 में मसूद अज़हर पर प्रतिबन्ध लगाने के लिए सुरक्षा परिषद में प्रस्ताव लाया जा चुका है। 2016 में पठानकोट हमले के बाद लाए गए इस प्रस्ताव पर फ्रांस, अमेरिका और ब्रिटेन ने भारत का साथ दिया था। 2017 में अमेरिका ने ब्रिटेन और फ्रांस के समर्थन से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में रेज़ोलुशन 1267 पारित किया था, जिसमें पाकिस्तानी आतंकी मसूद अज़हर पर प्रतिबंध की माँग की गई थी। आपको बता दें कि चीन हमेशा से इस प्रस्ताव के पास होने में अड़ंगा लगाता रहा है।

फ्रांस की राजधानी पेरिस में चल रही फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) की बैठक में पाकिस्तान को ‘ग्रे लिस्ट’ से ब्लैक लिस्ट वाले देशों की सूची में शामिल करने का भी प्रयास किया जाएगा। पाकिस्तान को 2018 में ग्रे लिस्ट में डालते हुए चेतावनी दी गई थी कि अगर उसने अपनी ज़मीन से संचालित हो रहे आतंकी संगठनों पर कार्रवाई नहीं की तो उसे ब्लैक लिस्ट में डाल दिया जाएगा। मीडिया में प्रकाशित एक ख़बर के अनुसार राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और फ्रांस के कूटनीतिक सलाहकार फ़िलिप एटिन के बीच इस मसले को लेकर गहन चर्चा हुई।

पुलवामा हमले के बाद अमेरिका ने भी पाकिस्तान को मसूद अज़हर पर कार्रवाई करने को कहा है। अमेरिका ने पाकिस्तान से मसूद अज़हर को आतंकियों की सूची में डालने को कहा है। ज्ञात हो कि पुलवामा हमले के 100 घंटे के भीतर भारतीय सुरक्षाबलों ने जैश के 3 आतंकियों को मार गिराया था। भारत को भी इस ऑपरेशन में बड़ी क्षति पहुँची क्योंकि सेना के एक मेजर सहित 4 जवान वीरगति को प्राप्त हुए। इस मुठभेड़ में पुलवामा हमले का साज़िशकर्ता गाज़ी भी मारा गया। इस हमले का असली मास्टरमाइंड मसूद अज़हर है, जो पाकिस्तान के पंजाब स्थित बहावलपुर से आतंकी गतिविधियों को अंजाम देता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस राजस्थान में सबसे ज्यादा रेप, वहाँ की पुलिस भेज रही गंदे मैसेज-चौकी में भी हो रही दरिंदगी: कॉन्ग्रेस है तो चुप्पी है

NCRB 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक राजस्थान में जहाँ 5,310 केस दुष्कर्म के आए तो वहीं उत्तर प्रेदश में ये आँकड़ा 2,769 का है।

आज पाकिस्तान के लिए बैटिंग, कभी क्रिकेट कैंप में मौलवी से नमाज: वसीम जाफर पर ‘हनुमान की जय’ हटाने का भी आरोप

पाकिस्तान के साथ सहानुभूति रखने के कारण नेटिजन्स के निशाने पर आए वसीम जाफर पर मुस्लिम क्रिकेटरों को तरजीह देने के भी आरोप लग चुके हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,586FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe