Monday, July 22, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय250 जवान, 129 टन मेडिकल उपकरण, 30 बेड वाला अस्पताल: 'ऑपरेशन दोस्त' के तहत...

250 जवान, 129 टन मेडिकल उपकरण, 30 बेड वाला अस्पताल: ‘ऑपरेशन दोस्त’ के तहत भारत ने राहत सामग्री भरकर तुर्की भेजे 6 विमान, भूकंप से 15000 मौतें

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा, ''ऑपरेशन दोस्त के तहत छठी फ्लाइट तुर्की पहुँच गई है। राहत प्रयासों में तेजी लाने के लिए ज्यादा खोज और बचाव दल, डॉग स्क्वॉड, आवश्यक खोज और पहुँच उपकरण, दवाएँ और चिकित्सा उपकरण अपनी सेवा देने के लिए तैयार हैं।''

तुर्की-सीरिया में आए विनाशकारी भूकंप से जान-माल की भारी क्षति हुई है। मृतकों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। ऐसे में भारत ने भी भूकंप प्रभावित देश की मदद के लिए अपना हाथ बढ़ाया है। भारत लगातार राहत सामग्री भेजकर तुर्की-सीरिया की मदद कर रहा है। एक रिपोर्ट के अनुसार, तुर्की के राष्ट्रपति ने बताया कि भूकंप से अब तक 15,000 लोग अपनी जान गँवा चुके हैं।

आपदा की इस घड़ी में भारत भूकंप आने के बाद से लगातार राहत सामग्री भेज रहा है। भारत ‘ऑपरेशन मदद’ की तहत इस कार्य को अंजाम दे रहा है। इस बीच राहत सामग्री के साथ एक और विमान तुर्की पहुँच चुका है। भारत सरकार अब तक इस तरह के छह विमानों तुर्की भेज चुकी है। दूसरी ओर तुर्की व सीरिया की सरकार जल्द से जल्द बचाव कार्य को तेजी से समाप्त करना चाहती है ताकि जिंदा बचे लोगों को सकुशल बाहर निकाला जा सके। इसी क्रम में विश्व के देश दोनों देशों की मदद कर रहे हैं।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने गुरुवार (9 फरवरी 2023) को छठे विमान के तुर्की पहुँचने की जानकारी दी। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ”ऑपरेशन दोस्त के तहत छठी फ्लाइट तुर्की पहुँच गई है। राहत प्रयासों में तेजी लाने के लिए ज्यादा खोज और बचाव दल, डॉग स्क्वॉड, आवश्यक खोज और पहुँच उपकरण, दवाएँ और चिकित्सा उपकरण अपनी सेवा देने के लिए तैयार हैं।”

भारत ने मंगलवार (7 फरवरी 2023) को तुर्की में राहत सामग्री भेजी थी। राहत सामग्री में 30 बिस्तरों वाला एक मोबाइल अस्पताल भी शामिल था। इसके साथ ही भारत ने चार सी-17 ग्लोबमास्टर सैन्य परिवहन विमानों के जरिए विशेष खोज और बचाव दल भेजा था। भारत सरकार ने सीरिया के लिए भी राहत सामग्री भेजी थी। भारतीय वायु सेना के सी-130 जे विमान के जरिए सीरिया में मदद पहुँचाई गई है।

उल्लेखनीय है कि ऑपरेशन दोस्त के तहत अब तक NDRF और इंडियन आर्मी के 250 जवानों को तुर्की भेजा जा चुका है। वहीं अब तक सात विमानों के जरिए 129 टन मेडिकल उपकरण और अन्य राहत सामग्री भेजी गई है। इसके अलावा भारत से तुर्की के लिए 7वें विमान के रवाना होने की भी खबर है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केंद्र सरकार ने 4 साल में राज्यों को की ₹1.73 लाख करोड़ की मदद, फंड ना मिलने पर धरना देने वाली ममता सरकार को...

वित्त मंत्रालय ने बताया है कि केंद्र सरकार 2020-21 से लेकर 2023-24 तक राज्यों को ₹1.73 लाख करोड़ विशेष मदद योजना के तहत दे चुकी है।

जो बायडेन फिर से बने अमेरिकी राष्ट्रपति उम्मीदवार: ‘भूलने की बीमारी’ के कारण कर दिया था ट्वीट, सदमे में कमला हैरिस, 12 घंटे से...

जो बायडेन टेस्ट ले रहे थे कमला हैरिस का। वो भोकार पार-पार के, सर पटक कर रोने के बजाय खुश हो गईं। पिघलने के बजाय बायडेन को गुस्सा आ गया और...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -