Thursday, July 25, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयटी-20 लीग के विदेशी क्रिकेटरों को पैसा भी नहीं दे रहा पा रहा कंगाल...

टी-20 लीग के विदेशी क्रिकेटरों को पैसा भी नहीं दे रहा पा रहा कंगाल पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर जेम्स फॉकनर ने खोल दी पोल

इसके पहले अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों को घटिया खाना देकर PCB की भारी किरकिरी हुई थी। PSL में खेल रहे एलेक्स हेल्स ने मार्च 2021 में इंस्टाग्राम पर उन्हें परोसे गए खाने का एक फोटो शेयर किया था, जिसमें दिख रहा अंडा बेहद घटिया था।

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की देखा-देखी पड़ोसी ने पाकिस्तान सुपर लीग (Pakistan Super League- PSL) शुरू तो कर दिया, लेकिन खिलाड़ियों को पैसे नहीं देने के कारण अब दुनिया भर में उसकी भद पिटने लगी है। PSL के लिए खेल रहे ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाद जेम्स फॉकनर (Australian Cricketer James Faulkner) ने भुगतान नहीं करने और लगातार झूठ बोलने को लेकर खेल को बीच में छोड़कर वापस ऑस्ट्रेलिया लौट गए हैं।

ट्विटर पर फॉकनर ने कहा, “मैं पाकिस्तान क्रिकेट प्रशंसकों से माफी माँगता हूँ, लेकिन दुर्भाग्य से मुझे पिछले 2 मैचों से हटना पड़ा और अब PSL टी-20 छोड़ना पड़ रहा है। इसकी वजह है किए गए समझौते और भुगतान का पाकिस्तान क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (PCB) द्वारा सम्मान नहीं किया गया। मैं यहाँ शुरू से रहा हूँ और वे मुझसे लगातार झूठ बोले जा रहे हैं।”

फॉकनर ने आगे कहा, “मुझे छोड़ते हुए दुख हो रहा है, क्योंकि मैं पाकिस्तान में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को वापस लाने में मदद करना चाहता था। यहाँ बहुत सारे प्रतिभाशाली युवा और अद्भुत प्रशंसक हैं। लेकिन, यहाँ पाकिस्तान क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड और PSL द्वारा मेरे साथ जो व्यवहार किया जा रहा है, वह बेहद अपमानजनक है। मुझे उम्मीद है कि आप मेरी स्थिति को समझेंगे।”

ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज खिलाड़ी जेम्स फॉकनर द्वारा पाकिस्तान के क्रिकेट बोर्ड पर लगाए गए आरोपों के बाद पाकिस्तान क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (PCB) ने अपनी गलती मानने के बजाय उसने उल्टा आरोप लगा दिया। पीसीएबी ने फॉकनर को ही झूठा और उनके आरोपों को भ्रामक बता दिया।

फॉकनर के बयानों पर पीसीबी ने ट्वीट किया, “पीसीबी और क्वेटा ग्लैडिएटर्स जेम्स फॉल्कनर के झूठे और भ्रामक आरोपों पर खेदजनक संज्ञान लिया है और इस मामले पर जल्दी ही एक विस्तृत बयान जारी किया जाएगा।” बता दें कि 31 वर्षीय फॉकनर PSL में इस साल ग्वेटा ग्लैडिएटर्स की टीम का हिस्सा थे और उन्होंने अपनी टीम के लिए मैच भी खेले थे।

फॉकनर के आरोपों के बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने पाकिस्तान और उसके क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को ट्रोल करना शुरू कर दिया। आकाश गुप्ता नाम के एक यूजर ने कहा कि PSL का असली नाम ‘पाकिस्तान सुपर लीग’ नहीं, ‘पाकिस्तान पैसा शॉर्टेज लीग’ है।

सायन दास नाम की एक ट्विटर यूजर ने फॉकनर के ट्वीट पर जवाब देते हुए लिखा, “वे जेम्स फॉल्कनर को संभाल नहीं पा रहे हैं और PSL में कोहली के होने के सपने देख रहे हैं।”

हरिकृष्णा नाम के एक ट्विटर यूजर ने जवाब दिया, “भाई आपसे गलती हो गई। ये ट्वीट करने से पहले आपको पाकिस्तान छोड़ देना चाहिए था, क्योंकि कुछ भी हो सकता है। आपके सकुशल घर लौटने की कामना करता हूँ।”

मनु नाम के ट्विटर यूजर ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और मंत्री फहद चौधरी का फोटो शेयर कर उनका मजाक उड़ाया।

ये पहली बार नहीं है, जब पाकिस्तान क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड पर अंगुली उठी है। इसके पहले अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों को घटिया खाना देकर सुर्खियों में बटोरी थी। उस समय भी PCB की भारी किरकिरी हुई थी। PSL में खेल रहे एलेक्स हेल्स ने मार्च 2021 में इंस्टाग्राम पर उन्हें परोसे गए खाने का एक फोटो शेयर किया था।

स्टाग्राम पर PCB द्वारा उपलब्ध कराए गए नाश्ते की एक तस्वीर पोस्ट की थी और कैप्शन दिया था ‘टोस्ट, आमलेट, और बेक्ड बीन्स’। हेल्स द्वारा डाली गई तस्वीर में दो अंडे और एक टोस्ट शामिल था, लेकिन अंडों की क्वालिटी वाकई खराब थी। जो पैकेट खुला नहीं दिख रहा है तस्वरी में हो सकता है कि उसमें बेक्ड बीन्स शामिल हो।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -