Thursday, July 18, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयG20 समिट के बाद भारत-सऊदी अरब के संबंधों को नई उड़ान: कई क्षेत्रों में...

G20 समिट के बाद भारत-सऊदी अरब के संबंधों को नई उड़ान: कई क्षेत्रों में समझौते, बोले PM मोदी – ऐतिहासिक है इकोनॉमिक कॉरिडोर

"हम भारत, पश्चिम एशिया और यूरोप के बीच ऐतिहासिक कॉरिडोर स्थापित करने की बात की है। इससे हमारे बीच आर्थिक सहयोग, ऊर्जा का विकास और डिजिटल कनेक्टिविटी को बल मिलेगा।"

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान अल सऊद ने G20 समिट के समापन के बाद अपना भारत का एक दिवसीय राजकीय दौरा शुरू किया। नई दिल्ली स्थित ‘हैदराबाद हाउस’ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनकी बैठक भी हुई। ‘सऊदी-इंडिया स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप काउंसिल’ की बैठक के दौरान उन्होंने कहा कि भारत के साथ वो एक इकोनॉमिक कॉरिडोर बनाने की भी योजना तैयार हो रही है। हालाँकि, उन्होंने कहा कि ये काम दुष्कर है और इसमें अभी बहुत समय और मेहनत लगनी है।

उन्होंने कहा कि सऊदी अरब और भारत के संबंधों से दोनों देशों का फायदा है और दोनों देश साथ मिल कर भविष्य के मौकों के लिए काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सऊदी अरब में रहने वाला भारतीय समाज हमारा ही हिस्सा है और हम उनका अपने नागरिकों के लिए ख्याल रखेंगे। इससे पहले भारत और सऊदी अरब में कई समझौतों पर हस्ताक्षर हुए। भारत ने सऊदी अरब के साथ अपने रणनीतिक संबंधों को और मजबूत करने की बात कही।

काउंसिल की ये पहली लीडर्स बैठक थी, जिसकी घोषणा 2019 में पीएम मोदी के पहले सऊदी अरब दौरे के दौरान हुआ था। उन्होंने कहा कि इससे हमारे रणनीतिक संबंधों में मजबूती आई है। पीएम मोदी ने इन संबंधों में नए और आधुनिक आयाम जोड़ने की बात करते हुए सऊदी अरब को सबसे महत्वपूर्ण स्ट्रैटेजिक पार्टनर्स में से एक बताया और दोनों को विश्व की तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था करार दिया। उन्होंने कहा कि पूरे क्षेत्र की शांति और स्थिरता के साथ ये साझेदारी अहम है।

पीएम मोदी ने कहा, “इस बैठक से हमारे संबंधों को एक नई ऊर्जा और दिशा मिलेगी। हमें मानवता की भलाई के लिए काम करते रहने की प्रेरणा मिलेगी। हम भारत, पश्चिम एशिया और यूरोप के बीच ऐतिहासिक कॉरिडोर स्थापित करने की बात की है। इससे हमारे बीच आर्थिक सहयोग, ऊर्जा का विकास और डिजिटल कनेक्टिविटी को बल मिलेगा। क्राउन प्रिंस के ‘विज़न 2030’ के माध्यम से सऊदी अरब जिस तेजी से आर्थिक-सामाजिक प्रगति कर रहा है, उसके लिए मैं उनका अभिनन्दन करता हूँ।”

उन्होंने सऊदी अरब में रहने वाले भारतीयों के कल्याण के लिए प्रतिबद्धता हेतु और G20 की सफलता योगदान में लिए भी सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान अल सऊद को धन्यवाद दिया। 2019 के बाद सऊदी अरब के क्राउन्स प्रिंस की ये भारत की दूसरी राजकीय यात्रा है। बैठक से पहले राष्ट्रपति भवन में उनका परंपरागत स्वागत किया गया। IT, कृषि, फार्मा, पेट्रोकेमिकल और मानव संसाधन के क्षेत्रों में 2 दर्जन से भी अधिक MoU पर हस्ताक्षर किए गए।

क्राउन प्रिंस ने इस दौरान भारत की तारीफ़ करते हुए कहा कि इन समझौतों से दोनों देशों का भविष्य बेहतर होगा। क्राउन प्रिंस ने इस बैठक में ये भी ध्यान दिलाया कि सऊदी अरब की जनसंख्या का 7% हिस्सा भारतीय समाज का है, जिन्होंने मुल्क के आर्थिक विकास में बड़ा योगदान दिया है। उन्होंने आशा जताई कि ये काउंसिल दोनों देशों के नागरिकों की आकाँक्षाओं को पूरा करेगा। एनर्जी सेक्टर में भी एक बड़ी डील पर हस्ताक्षर हुए। इससे पहले मोहम्मद बिन सलमान ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से भी मुलाकात की थी

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -