Monday, July 15, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयम्यूजिक वीडियो की शूटिंग कर रही थी 8 मॉडल, नकाबपोशों ने किया गैंगरेप: बंदूक...

म्यूजिक वीडियो की शूटिंग कर रही थी 8 मॉडल, नकाबपोशों ने किया गैंगरेप: बंदूक की नोंक पर घटना, 80 आरोपित अदालत में पेश

अभी तक इनमें से किसी पर भी बलात्कार का आरोप नहीं लगाया गया है। पुलिस घटना की जाँच कर रही है। यह घटना जिस इलाके में हुई है वो अवैध खनन गतिविधियों के लिए जाना जाता है।

दक्षिण अफ्रीका (South Africa) की एक अदालत में गैंगरेप के मामले में गिरफ्तार 80 से अधिक लोगों को सोमवार (1 अगस्त 2022) को पेश किया गया। पिछले हफ्ते म्यूजिक वीडियो की शूटिंग के दौरान 8 मॉडल के साथ नकाबपोश, हथियारों से लैस लोगों ने सामूहिक बलात्कार किया था। इसको लेकर जैसे ही सोमवार को सुनवाई हुई, क्रुगर्सडॉर्प मजिस्ट्रेट कोर्ट (Krugersdorp Magistrates Court) के बाहर अपना रोष व्यक्त करने के लिए सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा हो गई।

अभी तक इनमें से किसी पर भी बलात्कार का आरोप नहीं लगाया गया है। पुलिस घटना की जाँच कर रही है। यह घटना जिस इलाके में हुई है वो अवैध खनन गतिविधियों के लिए जाना जाता है।

पुलिस मंत्रालय की प्रवक्ता लिरांडज़ु थेम्बा (Lirandzu Themba) ने वीओए को बताया कि पिछले गुरुवार (28 जुलाई 2022) को जोहान्सबर्ग के बाहर क्रूगर्सडॉर्प के खनन क्षेत्र में एक वीडियो शूट करते समय आठ महिलाओं के साथ बलात्कार और लूटपाट की घटना को अंजाम दिया दिया गया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक नकाबपोश बदमाशों ने बंदूक की नोक पर उन महिलाओं से कई बार बलात्कार किया।

थेम्बा ने कहा, “रविवार को पुलिस अधिकारी भीकी सेले ने आठ में से छह गैंगरेप पीड़िता से मुलाकात की।” सेले ने कहा कि इनमें सबसे कम उम्र की 19 वर्ष की एक लड़की है। ये सभी इस घटना के बाद से काफी डरी हुई हैं।”

बताया जा रहा है कि ये संदिग्ध कथित रूप से अवैध खनिक हैं जिन्हें जमा-जमास (zama-zamas) के नाम से जाना जाता है। ये जोहान्सबर्ग के कई बंद खदानों में सोने के लिए खुदाई करते हैं।

स्थानीय रिपोर्टों के अनुसार, कई खनिक (खदानों में काम करने वाले) विदेशी हैं। स्थानीय निवासी भी इस क्षेत्र में बढ़ रहे अपराधों के लिए जमा-जमास गिरोह को दोषी ठहराते हैं। प्रदर्शनकारी लेराटो नोगोबेनी का कहना है, “वे हमें गंभीरता से नहीं ले रहे हैं।” एक अन्य प्रदर्शनकारी, डेविड मक्गाका ने दक्षिण अफ्रीकी राष्ट्रीय रक्षा बल (South African National Defence Force) को तैनात करने का अनुरोध किया और कहा कि स्थानीय पुलिस बढ़ते अपराधों पर लगाम लगाने में नाकाम रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -