Saturday, July 20, 2024
Homeरिपोर्टमीडियाजहाँ इस्लाम छोड़ने वाले एक्स मुस्लिमों को मिला मंच, वामपंथियों की धुलाई: प्रदीप भंडारी...

जहाँ इस्लाम छोड़ने वाले एक्स मुस्लिमों को मिला मंच, वामपंथियों की धुलाई: प्रदीप भंडारी के शो ने पूरे किए 1 साल, कहा – राष्ट्र और सनातन की सेवा जारी रखेंगे

प्रदीप भंडारी ने इस मौके कहा है कि हम भारत राष्ट्र और सनातन धर्म की सेवा करना जारी रखेंगे।

‘जन की बात’ के संस्थापक प्रदीप भंडारी के शो ‘जनता का मुकदमा’ ने एक वर्ष पूरे कर लिए हैं। ये शो ‘इंडिया न्यूज़’ पर आता है। इस एक साल में इस शो में राष्ट्रवाद से जुड़े कई मुद्दों को कवर किया गया और देशद्रोहियों की पोल खोली गई। आतंकवाद और वामपंथ के विरुद्ध हमेशा मुखर रहने वाले प्रदीप भंडारी ने इस शो के माध्यम से लगातार देशहित के मुद्दों पर आवाज़ उठाई और इस्लामी कट्टरपंथ की बार-बार जनता के सामने पोल खोली।

चीन में बिहार के जिस छात्र अमन नागसेन की हत्या हो गई थी, उसकी डेड बॉडी वापस लाने के लिए प्रदीप भंडारी ने इस शो के माध्यम से अभियान चलाया, जिसके बाद गया में उसका अंतिम-संस्कार हुआ। पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली TMC की जीत के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ हुई हिंसा पर भी उन्होंने आवाज़ उठाई। वामपंथी नेता कविता कृष्णन के हिन्दू विरोध को लेकर खुलासे किए।

साथ ही ‘डिस्मैंटलिंग ग्लोबल हिंदुत्व’ के पाकिस्तानी कनेक्शन का भी खुलासा किया। इस शो में कश्मीरी घाटी में राष्ट्रवादियों की सुरक्षा, ओवैसी के भड़काऊ भाषणों को लेकर मुकदमा दर्ज करने, नरेंद्र गिरी हत्याकांड में न्याय के लिए, पंजाब में ईसाई धर्मांतरण के खिलाफ, गुरुग्राम में सार्वजनिक नमाज के खिलाफ, दीवाली में पटाखों को प्रतिबंधित करने के फैसले के खिलाफ, पंजाब पीएम मोदी की सुरक्षा में सेंध में खालिस्तान का हाथ होने के खुलासे के बाद उसके खिलाफ, माँ श्रृंगार गौरी की पूजा-अर्चना – इन सभी मुद्दों पर अभियान चलाया।

साथ ही प्रदीप भंडारी ने ‘इंडिया न्यूज़’ के शो ‘जनता का मुकदमा’ के माध्यम से जम्मू कश्मीर टेरर फंडिंग को लकेर भी आवाज उठाई। साथ ही ज्ञानवापी ढाँचे में मिले शिवलिंग की पूछ-अर्चना के लिए अभियान चलाया। नवाब मलिक ने ED के सामने स्वीकार किया था कि हसीं पार्कर का बॉडीगार्ड सलीम NCP कार्यकर्ता था – ये ब्रेकिंग भी इसी शो में चलाया गया। उन्होंने इस मौके कहा है कि हम भारत राष्ट्र और सनातन धर्म की सेवा करना जारी रखेंगे।

एक शो में प्रदीप भंडारी ने इस्लाम मजहब छोड़ चुके एक्स मुस्लिमों को भी बुलाया और उनकी बात सुनी। उन्होंने इस शो से कट्टरपंथियों को आईना दिखाया। इन पूर्व मुस्लिमों ने बताया कि उन्हें इस्लाम छोड़ने की प्रेरणा कहाँ से मिली और इस्लाम छोड़ने के पीछे वजह क्या थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली हाईकोर्ट ने शिव मंदिर के ध्वस्तीकरण को ठहराया जायज, बॉम्बे HC ने विशालगढ़ में बुलडोजर पर लगाया ब्रेक: मंदिर की याचिका रद्द, मुस्लिमों...

बॉम्बे हाईकोर्ट ने मकबूल अहमद मुजवर व अन्य की याचिका पर इंस्पेक्टर तक को तलब कर लिया। कहा - एक भी संरचना नहीं गिराई जाए। याचिका में 'शिवभक्तों' पर आरोप।

आरक्षण पर बांग्लादेश में हो रही हत्याएँ, सीख भारत के लिए: परिवार और जाति-विशेष से बाहर निकले रिजर्वेशन का जिन्न

बांग्लादेश में आरक्षण के खिलाफ छात्र सड़कों पर उतर आए हैं। वहाँ सेना को तैनात किया गया है। इससे भारत को सीख लेने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -