Sunday, July 14, 2024
Homeरिपोर्टमीडियासुदर्शन न्यूज के रेजिडेंट एडिटर को गुरुग्राम पुलिस ने किया गिरफ्तार, हरियाणा सरकार से...

सुदर्शन न्यूज के रेजिडेंट एडिटर को गुरुग्राम पुलिस ने किया गिरफ्तार, हरियाणा सरकार से सुरेश चव्हाणके ने पूछे 9 सवाल

इस पूरे मामले में गुरुग्राम पुलिस ने मुकेश कुमार की गिरफ़्तारी के बारे में जानकारी देते हुए एक पत्र जारी किया। इसमें लिखा है कि बेबुनियाद, असत्य एवं भ्रामक तथ्यों के आधार पर मुकेश कुमार द्वारा एक ट्वीट किया गया था। इस मामले में संज्ञान लेते हुए गुरुग्राम की साइबर पुलिस ने विभिन्न धाराओं में एक केस दर्ज किया था।

सुदर्शन न्यूज के रेजिडेंट एडिटर को गुरुग्राम पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आज (11 अगस्त 2023 ) सुदर्शन न्यूज़ ने ट्वीट कर कहा था कि उसके रेजिडेंट एडिटर मुकेश कुमार का अपहरण कर लिया गया है। वहीं, अब गुरुग्राम पुलिस ने यह साफ़ कर दिया है कि उन्हें एक ‘असत्य और भ्रामक’ ट्वीट के मामले में गिरफ्तार किया गया है। बता दें कि एक दिन पहले 10 अगस्त 2023 को गुरुग्राम पुलिस ने मुकेश कुमार पर ट्वीट को लेकर केस दर्ज किया था। 

वहीं, गुरुग्राम पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए सुदर्शन न्यूज़ के CMD और संपादक सुरेश चव्हाणके ने ट्ववीट किया है। अपने ट्वीट में उन्होंने कहा, “गुरुग्राम पुलिस ने मुकेश कुमार जी को ‘राष्ट्रीय एकता को ख़तरा’ के लिए गिरफ़्तार करने की जानकारी देने वाली प्रेस नोट, उनको गुंडों की तरह उठाने के 7 घंटे बाद जारी की है। यह गिरफ़्तारी ग़ैरक़ानूनी और ग़लत है। सुदर्शन न्यूज़ मुकेश कुमार जी के साथ है और गिरफ़्तारी को मीडिया के स्वतंत्रता पर आक्रमण मानता है।”

इसके साथ ही सुरेश चव्हाणके ने एक और ट्वीट किया। इसमें उन्होंने हरियाणा पुलिस से कुछ सवाल किए हैं। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, “मेवात में जिहादी झुंड के सामने लाचार हरियाणा पुलिस द्वारा मुकेश कुमार को गिरफ़्तार करने पर मेरे कुछ प्रश्न।” अपने ट्वीट के साथ उन्होंने #ReleaseMukeshKumar भी यूज़ किया है। उन्होंने ट्वीट में ये सवाल पूछे हैं-

1- मुकेश जी जैसे वरिष्ठ पत्रकार को गुरुग्राम पुलिस ने गुंडों की तरह कैसे उठाया?

2 – गिरफ्तार करने पुलिस यूनिफ़ॉर्म में क्यों नहीं गई ?

3 – मेवात के जिहादियों के झुंड को गिरफ़्तार करने से काँपने वाली पुलिस पत्रकार से गुंडागर्दी कैसे कर रही है?

4- हिंदू महिलाओं के अत्याचारी खुले घुम रहे हैं और डरपोक पुलिस मुकेश कुमार के एक ट्वीट पर FIR कर रही है?

5 – एक अधिकारी के ईगो के आगे हरियाणा सरकार नतमस्तक है?

6- इस गिरफ्तारी पर राष्ट्रवादी पत्रकार क्यों मौन हैं?

7- यही गिरफ्तारी गैर भाजपा राज्य से होती तो वह क्या करते ?

8- पत्रकारों के संगठन और मानवाधिकार वाले कहाँ हैं?

9- क्या मेवात के हिंदुओं की बात करना हरियाणा सरकार की नजर में अपराध है?

गौरतलब है कि इस पूरे मामले में गुरुग्राम पुलिस ने मुकेश कुमार की गिरफ़्तारी के बारे में जानकारी देते हुए एक पत्र जारी किया। इसमें लिखा है कि बेबुनियाद, असत्य एवं भ्रामक तथ्यों के आधार पर मुकेश कुमार द्वारा एक ट्वीट किया गया था। इस मामले में संज्ञान लेते हुए गुरुग्राम की साइबर पुलिस ने विभिन्न धाराओं में एक केस दर्ज किया था। उसी मामले में साइबर थाना ने मुकेश कुमार को गिरफ्तार किया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -