Wednesday, September 22, 2021
Homeसोशल ट्रेंड'शरजील भाई धमकी दो': NDTV के बाद Times Now और HT की रिपोर्ट में...

‘शरजील भाई धमकी दो’: NDTV के बाद Times Now और HT की रिपोर्ट में मुस्लिम का फोटो, लोग ले रहे मजे

अब Times Now द्वारा प्रकाशित Covid-19 से जुड़ी खबर भी सोशल मीडिया में चर्चा का विषय बनी हुई है। कई यूजर Times Now की तारीफ कर रहे हैं, साथ ही अधिकांश यूजर शरजील उस्मानी को याद कर रहे हैं जिसने NDTV को धमकी दी थी।

कोरोना वायरस से सम्बंधित खबर में फीचर इमेज में एक मुस्लिम व्यक्ति की फोटो लगाए जाने के बाद NDTV को इस्लामी चरमपंथियों की धमकी मिलनी शुरू हुई और अंततः NDTV को अपना ट्वीट डिलीट करना ही पड़ा। इसके बाद आज (09 अगस्त 2021) Times Now के द्वारा भी पिछले 24 घंटों में भारत में मिलने वाले संक्रमण के मामलों से सम्बंधित खबर प्रकाशित की गई और उसमें फीचर इमेज के तौर पर एक मुस्लिम महिला का फोटो उपयोग किया गया।

ज्ञात हो कि शुक्रवार (6 अगस्त, 2021) को आई NDTV की खबर में बताया गया था कि भारत में पिछले 1 दिन के मुकाबले कोरोना के 4% ज्यादा मामले आए हैं और नए मामलों की संख्या 44,643 है। जिस प्रकार हर खबर के साथ तस्वीर होती है, जो प्रतीकात्मक भी हो सकती है। इस खबर के साथ भी एक व्यक्ति (मुस्लिम) की तस्वीर थी, जो कोरोना टेस्ट करा रहा था। इस्लामी चरमपंथियों ने इसे मुस्लिमों को बदनाम करने की साजिश करार दिया और पूछा कि आखिर कोरोना की खबर में मुस्लिम व्यक्ति की तस्वीर क्यों लगाई गई?

खुद को इस्लामी एक्टिविस्ट कहने वाले शरजील उस्मानी भी धमकी पर उतर आया। उन्होंने सीधा यही सवाल पूछा कि आखिर वो कौन सा एम्प्लॉय है, जिसने NDTV में इस तरह की तस्वीर के प्रयोग करने का निर्णय लिया? साथ ही उसने NDTV के कर्मचारियों से कहा कि वो मैसेज भेज कर गुप्त रूप से बता सकते हैं कि किसने ऐसा किया है। इसके बाद NDTV ने ट्वीट डिलीट कर दिया।

Times Now के अलावा हिंदुस्तान टाइम्स ने भी पटना में Covid-19 टीकाकरण से सम्बंधित कार्यक्रम में एक मुस्लिम महिला का फोटो उपयोग किया था लेकिन संभवतः विवाद होने की संभावना के चलते ट्विटर पर पोस्ट की गई रिपोर्ट का फोटो बदल दिया गया है हालाँकि हिंदुस्तान टाइम्स की वेब रिपोर्ट में अभी भी मुस्लिम महिला का फोटो ही है।

अब Times Now द्वारा प्रकाशित Covid-19 से जुड़ी खबर भी सोशल मीडिया में चर्चा का विषय बनी हुई है। कई यूजर Times Now की तारीफ कर रहे हैं, साथ ही अधिकांश यूजर शरजील उस्मानी को याद कर रहे हैं जिसने NDTV को धमकी दी थी। हाल ही में चर्चा में रहे The Skin Doctor ने प्रतिक्रिया देते हुए व्यंग्यात्मक रूप से पूछा कि Times Now में ऐसा कौन है जिसने रिपोर्ट के साथ ऐसी फोटो का उपयोग करने का निर्णय लिया।

कई मीडिया संस्थान शायद इसीलिए मौलानाओं द्वारा किए गए अपराधों में भी पुजारियों व साधु-संतों की प्रतीकात्मक तस्वीर डाल देते हैं, फकीरों को तांत्रिक बताते हैं, क्योंकि हिन्दू सहिष्णु हैं। अपना अपमान होते हुए देख कर भी हिन्दू सिर्फ विरोध भर ही करते हैं। सहिष्णु हिन्दुओं के विरोध पर ‘कड़ा जवाब’ देकर लिबरल गिरोह के पत्रकार खुद को ‘शेर’ दिखाते हैं। लेकिन, इस्लामी चरमपंथियों के आगे इनके पास ‘भीगी बिल्ली’ बनने के अलावा कोई चारा नहीं रहता।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गुजरात के दुष्प्रचार में तल्लीन कॉन्ग्रेस क्या केरल पर पूछती है कोई सवाल, क्यों अंग विशेष में छिपा कर आता है सोना?

मुंद्रा पोर्ट पर ड्रग्स की बरामदगी को लेकर कॉन्ग्रेस पार्टी ने जो दुष्प्रचार किया, वह लगभग ढाई दशक से गुजरात के विरुद्ध चल रहे दुष्प्रचार का सबसे नया संस्करण है।

‘मुंबई डायरीज 26/11’: Amazon Prime पर इस्लामिक आतंकवाद को क्लीन चिट देने, हिन्दुओं को बुरा दिखाने का एक और प्रयास

26/11 हमले को Amazon Prime की वेब सीरीज में मु​सलमानों का महिमामंडन किया गया है। इसमें बताया गया है कि इस्लाम बुरा नहीं है। यह शांति और सहिष्णुता का धर्म है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,782FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe