Wednesday, July 17, 2024
Homeसोशल ट्रेंड'लड़की हूँ लड़ सकती हूँ' कार्यक्रम में होर्डिंग वालों से भिड़े कॉन्ग्रेसी, जमकर चली...

‘लड़की हूँ लड़ सकती हूँ’ कार्यक्रम में होर्डिंग वालों से भिड़े कॉन्ग्रेसी, जमकर चली कुर्सियाँ: वीडियो वायरल, लोगों ने जमकर लिए मजे

“कार्यक्रम ‘लड़की हूँ लड़ सकती हूँ’ का था लेकिन आगरा में आपस में ही लड़ पड़े कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ता।”

उत्तर प्रदेश के आगरा में कॉन्ग्रेस की ओर से आयोजित ‘लड़की हूँ, लड़ सकती हूँ’ कार्यक्रम के दौरान मारपीट हो गई। कार्यक्रम स्थल के बाहर कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता की होर्डिंग वालों से कहासुनी हो गई। इसके बाद कार्यकर्ता को पीट दिया गया। इस दौरान कार्यकर्ताओं और होर्डिंग लगाने वालों के बीच जमकर कुर्सियाँ चलीं। इससे अफरातफरी मच गई। बाद में थाने पर दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया। 

गौरतलब है कि शहर के सूरसदन प्रेक्षागृह में सोमवार को कॉन्ग्रेस द्वारा ‘लड़की हूँ, लड़ सकती हूँ’ कार्यक्रम में आयोजित किया गया। इसमें महिला कॉन्ग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष नेटा डिसूजा और कॉन्ग्रेस की राष्ट्रीय सचिव अलका लांबा ने महिलाओं से सीधा संवाद किया। कार्यक्रम के दौरान सूरसदन प्रेक्षागृह के मुख्य द्वार पर कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता की होर्डिंग वालों से कहासुनी हो गई। 

इसके बाद कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता को पीट दिया गया। इस दौरान जमकर कुर्सियाँ चलीं। बीच-बचाव कराने पहुँचे शहर अध्यक्ष देवेंद्र चिल्लू के सिर में भी कुर्सी लग गई। शहर कॉन्ग्रेस के प्रवक्ता आईडी श्रीवास्तव ने बताया कि शहर अध्यक्ष के सिर में कुर्सी लगी पर उनके कोई चोट नहीं आई। इंस्पेक्टर हरीपर्वत ने बताया कि दोनों पक्षों में होर्डिंग लागने को लेकर लेनदेन पर कहासुनी हुई थी, समझौता हो गया है। 

सोशल मीडिया पर लोगों ने लिए मजे

इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसे लेकर बीजेपी नेता सहित आम सोशल मीडिया यूजर्स जमकर मजे ले रहे हैं।

इस वीडियो को सीएम योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने शेयर करते हुए लिखा, “कार्यक्रम ‘लड़की हूँ लड़ सकती हूँ’ का था लेकिन आगरा में आपस में ही लड़ पड़े कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ता।”

बीजेपी कार्यकर्ता गौरव तिवारी ने इस वीडियो को शेयर करते हुए ट्वीट किया, “प्रियंका गाँधी के नारे “लड़की हूँ लड़ सकती हूँ” के बाद राहुल गाँधी ने दिया लड़कों को नारा कॉन्ग्रेस के लड़के हैं, कहीं भी कुर्सी तोड़ सकते हैं।”

एक यूजर ने लिखा, इस घटना के बाद नया नारा – “कॉन्ग्रेसी हैं, लड़ते रहते हैं”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अमेरिकी राजनीति में नहीं थम रहा नस्लवाद और हिंदू घृणा: विवेक रामास्वामी और तुलसी गबार्ड के बाद अब ऊषा चिलुकुरी बनीं नई शिकार

अमेरिका में भारतीय मूल के हिंदू नेताओं को निशाना बनाया जाना कोई नई बात नहीं है। निक्की हेली, विवेक रामास्वामी, तुलसी गबार्ड जैसे मशहूर लोग हिंदूफोबिया झेल चुके हैं।

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -