Friday, July 10, 2020
Home रिपोर्ट मीडिया लल्लनटॉप 2.0 : 9 महीने पुरानी फेक न्यूज़ का फैक्ट चेक कर आरोप कर...

लल्लनटॉप 2.0 : 9 महीने पुरानी फेक न्यूज़ का फैक्ट चेक कर आरोप कर दिया साबित

फेकिंग न्यूज़ की एक खबर का फैक्ट चेक किए हुए अभी महीना भी नहीं बीता था कि हिटलर के लिंग की नाप-छाप रखने वाला और महिलाओं की योनि में कसाव पर 'गद्य' लिखने वाले 'दी लल्लनटॉप' नामक पत्रकारिता के संक्रामक रोग ने एक नया कीर्तिमान रचा है।

ये भी पढ़ें

आशीष नौटियाल
पहाड़ी By Birth, PUN-डित By choice

दी लल्लनटॉप की हालत देखकर बचपन की याद आती है, जब मेले में शाम ढलते ही आइसक्रीम, खिलौनों, चूड़ियों और मिठाई वाला चिल्लाता था – “बिक गया माल” और इस ‘बिक गया माल’ में वो 1 आइसक्रीम माँगने वाले को भी अपना सारा बचा हुआ स्टॉक भी थमाकर बस किसी भी तरह से वहाँ से भाग जाना चाहता था।

फेकिंग न्यूज़ की एक खबर का फैक्ट चेक किए हुए अभी महीना भी नहीं बीता था कि हिटलर के लिंग की नाप-छाप रखने वाला और महिलाओं की योनि में कसाव पर ‘गद्य’ लिखने वाले ‘दी लल्लनटॉप’ नामक पत्रकारिता के संक्रामक रोग ने एक नया कीर्तिमान रचा है। इस बार अपने पाठकों को मारक मजा देने की कसम को निभाते हुए दी लल्लनटॉप ने बहुत ही चतुराई से फेकिंग न्यूज़ की खबर का फैक्ट चेक तो नहीं किया लेकिन ‘वायरल’ ख़बरों के कच्चे माल के अभाव में एक ऐसी वेबसाइट की खबर का फैक्ट चेक किया जो व्यंग्य लेख लिखती है। इस वेबसाइट का नाम है ‘द फॉक्सी।’

सितंबर 12, 2018 को द फाक्सी द्वारा प्रकाशित किया गया यह व्यंग्य लेख फ़ूड ब्लॉगर्स पर लिखा गया था। लेकिन द फॉक्सी को तब शायद यह विचार नहीं आया होगा कि जर्नलिज़्म में दी लल्लनटॉप नाम की मीडिया गिरोहों की इस घातक टुकड़ी ने अपने पाठकों की तार्किक क्षमता को हल्के में लेकर मारक मजा देने की कसम खा रखी है।

फैक्ट चेक के लिए बाजार जब कोई खबर ना हो तो लल्लनटॉप और उन्हीं की तरह की एक विचाधारा रखने वाले स्टाकर से फैक्ट चेकर बने ऑल्ट न्यूज़ ने यह सबसे आसान तरीका बना लिया है कि फेकिंग न्यूज़ का ही फैक्ट चेक कर के जीवनयापन किया जाए। वैसे भी चुनाव नतीजों से हतोत्साहित दी लल्लनटॉप को फैक्ट चेक के नाम पर गोभी के पत्तों में कीड़ों तक को ढूँढता हुआ भी देखा गया है।

क्या है मामला?

हास्य-व्यंग्य लिखने वाली वेबसाइट द फॉक्सी ने अपनी वेबसाइट पर सितंबर 12, 2018 को एक लेख लिखा जिसका शीर्षक था – “Delhi Police Arrests Food Blogger; Accused Of Enjoying Meals Without Even Having A Food Blog” यानी, दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे व्यक्ति को गिरफ्तार किया, जो अपने आप को फ़ूड ब्लॉगर बताकर कैफे और रेस्टॉरेंट्स से फ्री में खाना खाता था, जबकि उसका कोई फ़ूड ब्लॉग था ही नहीं।

इस हेडलाइन को देखकर ही प्रथमद्रष्ट्या यह स्पष्ट हो जाता है कि यह कोई व्यंग्य होगा। लेकिन जब बात ‘दी लल्लनटॉप’ की आती है तो मामला जरा दूसरा हो जाता है। दी लल्लनटॉप ने इस हेडलाइन को चुनाव के बाद समय निकालकर बेहद मार्मिक तरीके से इसका फैक्ट चेक अपने कर्मचारी से करवाया और फिर उसे यह यूट्यूब पर पढ़वाया भी गया क्योंकि अगर पकड़े भी गए तो दी लल्लनटॉप शायद जानता है कि जवाब में अपने पाठकों को ‘ही ही ही’ कर के अपनी विश्वसनीयता साबित कर सकता है और साहित्यिक तरीके से अपने पाठक को वो कसम याद दिला सकता है, जिसमें उन्हें मारक मजा दिलवाने की अटूट कसम खाई थी।

लगभग नौ महीने पुरानी इस फेकिंग न्यूज़ को दी लल्लनटॉप ने गंभीरता से लेते हुए इसे यूट्यूब पर भी बेचकर अपने पाठकों को जमकर उल्लू बनाया है। द फॉक्सी द्वारा अपने लेख में लिखे गए काल्पनिक नाम, स्वाति आदि को बेहद मार्मिक तरीके से दी लल्लनटॉप ने पड़ताल करते हुए अंत में निष्कर्ष भी निकालते हुए बताया कि इस फ़ूड ब्लॉगर को ऐसा करने के लिए जेल भी हुई।

निम्न तस्वीरों में आप ‘फैक्ट चेक’ की निर्मम हत्या होते हुए अपनी नग्न आँखों से देख सकते हैं

फैक्ट चेक हम शर्मिंदा हैं
ओह !! बेहद क्रिएटिव था, हालाँकि महँगा पड़ा। ही ही ही …
खोजी स्तर – जेम्स बॉन्ड तृतीय

बता दें कि दी लल्लनटॉप में ऐसा चलता रहता है। अक्सर इन्हें ट्रैफिक जुटाने के लिए MEME बनाने वाले पेजों पर 10 पेजों के गद्य लिखते हुए भी पाया जाता है, जिसमें किसी न किसी तरीके से ये ब्राह्मणवाद से लेकर पितृसत्ता और मनुवाद को ठूँसकर ज्ञान देते हुए पाए जाते हैं। इसी तरह से हाल ही में दी लल्लनटॉप ने फेकिंग न्यूज़ की भी एक खबर का फैक्ट चेक किया था और अपने पाठकों को समझाया था कि यह फेकिंग न्यूज़ उन्हें फेक लगी इसलिए इसका फैक्ट चेक किया गया।

इसी तरह से गाड़ियों पर EVM भरकर ले जाने का भी झूठ दी लल्लनटॉप ने जमकर बेचा लेकिन फिर भी राहुल गाँधी की EVM हैक होने से नहीं रोक पाए। यह मीडिया का इतना बेशर्म पहलू है कि स्पष्टीकरण के बाद भी दी लल्लनटॉप के द्वारा यह खबर सोशल मीडिया से लेकर बाकायदा यूट्यूब तक पर दिखाकर जमकर भ्रांतियाँ, अफवाह और फेक न्यूज़ फैलाई गई।

हमारी सलाह

दी लल्लनटॉप को एवेंजर्स से समय में पीछे जाने वाली मशीन लाकर हिटलर और तमाम समकालीन लोगों के अंग विशेष की नाप-छाप पर ही ध्यान देना चाहिए और इस फैक्ट चेक के टंटे में नहीं पड़ना चाहिए। या फिर अपना नाम भी फेकिंग न्यूज़ वर्जन 2.0 कर लेना चाहिए। फिर भी अगर समय बिताने के लिए कुछ काम करना ही हो तो जेसीबी की खुदाई देखकर जीवनयापन कर सकते हैं। यदि हिटलर के लिंग की नाप रखने से दी लल्लनटॉप को फुरसत मिले, तो उसे समय निकालकर नरेंद्र मोदी द्वारा जारी की गई कुछ योजनाओं का लाभ भी उठाना चाहिए, (यदि नरेंद्र मोदी की योजनाओं को इस्तेमाल करने में उन्हें कोई आपत्ति ना हो तभी) और प्रधानमंत्री मुद्रा योजना द्वारा कुछ लोन लेकर स्वरोजगार की राह अपनानी चाहिए। लोन के लिए अप्लाई करने की विस्तृत प्रक्रिया इस लिंक पर पढ़ सकते हैं।

अभी हटा ली वीडिओ और अपडेट कर दिया आर्टिकल

हालाँकि, अब लल्लनटॉप ने विडियो हटा दिया है और आर्टिकल को भी अपडेट किया है। लेकिन, मूर्खता पकड़े जाने पर भी उन्होंने अपनी प्रकृति नहीं त्यागी और खुद को दोष देने की जगह फेक न्यूज़ के फैलाव पर दोष मढ़ा। जो लोग meme तक के फैक्ट चेक करते हों, उनके द्वारा ऐसा लंगड़ा कुतर्क रखना ठगी ही है। आप भी मूर्खतापूर्ण ‘नोट’ को यहाँ पढ़ लीजिए कि अपने आलस्य से इन्होंने न सिर्फ सितम्बर 2018 की ‘ख़बर’ का फैक्ट चेक किया बल्कि, ये भी नहीं देखा कि जब फैक्ट चेक कर रहे हैं तो कम से कम उसका उद्गम तो जान लें। फैक्ट चेक के समय तो आम लेख से कहीं ज्यादा सतर्कता होनी चाहिए, लेकिन लल्लनटॉप को क्या, वो तो मारक मज़ा देते हैं।

खेद प्रकट करते हुए भी दे दिया मारक मज़ा
लल्लनटॉप का वो मार्मिक वीडियो, जिसकी वजह से फैक्ट चेक समाज में उनकी निंदा हो रही है
जादू देखोगे ? – एक… दो …तीन… आया मारक मज्जा?
क्या दी लल्लनटॉप ने आदित्य के पास जाकर उसे बताया कि उन्होंने आदित्य की भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया है?

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

आशीष नौटियाल
पहाड़ी By Birth, PUN-डित By choice

ख़ास ख़बरें

महिलाओं को बंधक बनाकर फरीदाबाद में रुका था विकास दुबे, बोले लल्लन वाजपेयी- सदियों बाद आज़ाद हुए

कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद विकास दुबे ने साथियों संग फरीदाबाद के एक घर में शरण ली थी।

Tiktok समेत 59 प्रतिबंधित चीनी एप को सरकार ने भेजे 70 सवाल, 22 जुलाई तक देना होगा जवाब

प्रतिबंध लगाने के बाद भारत सरकार टिकटॉक समेत 59 चीनी एप को 70 सवालों की सूची के साथ नोटिस भेजा है।

व्यंग्य: विकास दुबे एनकाउंटर पर बकैत कुमार की प्राइमटाइम स्क्रिप्ट हुई लीक

आज सुबह खबर आई कि एनकाउंटर हो गया। स्क्रिप्ट बदलनी पड़ी। जज्बात बदल गए, हालात बदल गए, दिन बदल गया, शाम बदल गई!

मोदी सरकार ने प्लास्टिक कचरे से सड़क बना बचाए ₹3000000000, डबल करने का है इरादा: जानिए कैसे हुआ मुमकिन

2016 में मोदी सरकार ने इस पहल की आधिकारिक तौर पर घोषणा की थी। इसके बाद से प्लास्टिक कचरे से 11 राज्यों में करीब 1 लाख किमी लंबी सड़कों का निर्माण हो चुका है।

ऑपइंडिया एक्सक्लूसिव: साहिल के पिता परवेज 3 बार में 3 तरह से, 2 अलग जगहों पर मरे… 16 हिन्दुओं के नाम FIR में

आखिर साहिल परवेज ने तीन बार में तीन अलग-अलग बातें क्यों बोलीं? उसके पिता की हत्या घर के गेट के पास हुई या फिर बाबू राम चौक पर? उसे अस्पताल ले जाने वाला नितेश कौन है? साहिल अपने पिता को स्कूटी पर ले गया था, या उसका दोस्त शाहरुख?

रतन लाल की हत्या से पहले इस्लामी भीड़ ने 2 और पुलिसकर्मियों को बनाया था बंधक: दिल्ली दंगों की चार्जशीट

जिस भीड़ ने रतन लाल की निर्दयता से हत्या कर दी थी उसी इस्लामी भीड़ ने टेंट में दो अन्य पुलिसकर्मियों को भी बंधक बना लिया था।

प्रचलित ख़बरें

शोएब अख्तर के ओवर में काँपते थे सचिन, अफरीदी ने बिना रिकॉर्ड देखे किया दावा

सचिन ने ऐसे 19 मैच खेले, जिसमें शोएब पाकिस्तानी टीम का हिस्सा थे। इसमें सचिन ने 90.18 के स्ट्राइक और 45.47 की औसत से 864 रन बनाए।

क्या है सुकन्या देवी रेप केस जिसमें राहुल गाँधी थे आरोपित, कोर्ट ने कर दिया था खारिज

राजीव गाँधी फाउंडेशन पर जाँच को लेकर कल एक टीवी डिबेट में बीजेपी के संबित पात्रा और कॉन्ग्रेस के प्रवक्ता गौरव बल्लभ के बीच बहस आगे बढ़ते-बढ़ते एक पुराने रेप के मामले पर अटक गई जिसमें राहुल गाँधी को आरोपित बनाया गया था।

‘गुप्त सूत्रों’ से विकास दुबे का एनकाउंटर: राजदीप खोजी पत्रकारों के सरदार, गैंग की 2 चेली का भी कमाल

विकास दुबे जब फरार था, तभी 'खोजी बुद्धिजीवी' अपने काम में जुट गए। ऐसे पत्रकारों में प्रमुख नाम थे राजदीप सरदेसाई, स्वाति चतुर्वेदी और...

रवीश कुमार जैसे गैर-मुस्लिम, चाहे वो कितना भी हमारे पक्ष में बोलें, नरक ही जाएँगे: जाकिर नाइक

बकौल ज़ाकिर नाइक, रवीश कुमार हों या 'मुस्लिमों का पक्ष लेने वाले' अन्य नॉन-मुस्लिम... उन सभी के लिए नरक की सज़ा की ही व्यवस्था है।

हमने कंगना को मौका नहीं दिया होता तो? पूजा भट्ट ने कहा- हमने उतनों को लॉन्च किया, जितनों को पूरी इंडस्ट्री ने नहीं की

पूजा भट्ट ने दावा किया कि वो एक ऐसे 'परिवार' से आती हैं, जिसने उतने प्रतिभाशाली अभिनेताओं, संगीतकारों और टेक्नीशियनों को लॉन्च किया है, जितनों को पूरी फिल्म इंडस्ट्री ने मिल कर भी नहीं किया होगा।

UP: पुलिस मुठभेड़ में मारा गया ₹50,000 का इनामी पन्ना यादव उर्फ डॉक्टर, 3 दर्जन से ज्यादा संगीन मामलों में था आरोपित

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर का ₹50000 का इनामी अपराधी पन्ना यादव उर्फ सुमन यादव उर्फ़ 'डॉक्टर' बहराइच जिले के हरदी इलाके में एसटीएफ व पुलिस की संयुक्त मुठभेड़ में मारा गया है।

Covid-19: भारत में 24 घंटे में सामने आए 26506 नए मामले, अब तक 21604 की मौत

भारत में कोरोना संक्रमण के अब तक 7,93,802 मामले सामने आ चुके हैं। बीते 24 घंटे में 475 लोगों की मौत हुई है।

महिलाओं को बंधक बनाकर फरीदाबाद में रुका था विकास दुबे, बोले लल्लन वाजपेयी- सदियों बाद आज़ाद हुए

कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद विकास दुबे ने साथियों संग फरीदाबाद के एक घर में शरण ली थी।

Tiktok समेत 59 प्रतिबंधित चीनी एप को सरकार ने भेजे 70 सवाल, 22 जुलाई तक देना होगा जवाब

प्रतिबंध लगाने के बाद भारत सरकार टिकटॉक समेत 59 चीनी एप को 70 सवालों की सूची के साथ नोटिस भेजा है।

व्यंग्य: विकास दुबे एनकाउंटर पर बकैत कुमार की प्राइमटाइम स्क्रिप्ट हुई लीक

आज सुबह खबर आई कि एनकाउंटर हो गया। स्क्रिप्ट बदलनी पड़ी। जज्बात बदल गए, हालात बदल गए, दिन बदल गया, शाम बदल गई!

भैसों के सामने आने से पलटी गाड़ी, पिस्टल छीन कच्चे रास्ते से भाग रहा था विकास दुबे: यूपी STF

​कैसे पलटी गाड़ी? कैसे मारा गया विकास दुबे? एनकाउंटर पर STF ने घटनाक्रमों का दिया सिलसिलेवार ब्यौरा।

विकास दुबे के पिता नहीं होंगे अंतिम संस्कार में शामिल, माँ ने भी कानपुर जाने से किया इनकार

विकास दुबे का शव लेने से परिजनों ने मना कर दिया है। उसके माता-पिता ने अंतिम संस्कार में शामिल होने से भी इनकार किया है।

भारत के मजबूत तेवर देख चीनी राजदूत ने कहा- हमारी सेना पीछे हट चुकी है, धर्मशाला में धू-धू जला जिनपिंग

चीन के राजदूत सुन वेईडॉन्ग ने स्वीकार किया है कि गलवान घाटी में हुए हिंसक संघर्ष के बाद भारत में उनके देश को लेकर अविश्वास बढ़ा है।

विकास दुबे के एनकाउंटर को लेकर प्रियंका गाँधी और अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर साधा निशाना

कॉन्ग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के मुख्य आरोपित विकास दुबे के एनकाउंटर पर सवाल उठा सियासत शुरू कर दी है।

मोदी सरकार ने प्लास्टिक कचरे से सड़क बना बचाए ₹3000000000, डबल करने का है इरादा: जानिए कैसे हुआ मुमकिन

2016 में मोदी सरकार ने इस पहल की आधिकारिक तौर पर घोषणा की थी। इसके बाद से प्लास्टिक कचरे से 11 राज्यों में करीब 1 लाख किमी लंबी सड़कों का निर्माण हो चुका है।

UAPA के तहत गिरफ्तार शरजील इमाम को दिल्ली HC ने दिया झटका: याचिका खारिज, बेल देने से भी किया इंकार

देशद्रोह के मामले में आरोपित शरजील इमाम ने अपनी याचिका में दावा किया था कि जाँच एजेंसी कानूनी प्रक्रिया का उल्लंघन कर रही हैं और उससे उसकी जमानत का अधिकार छीन रही है।

हमसे जुड़ें

237,463FansLike
63,336FollowersFollow
272,000SubscribersSubscribe