Tuesday, July 23, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेक'आपके पास आधार कार्ड है तो आपको भी मोदी सरकार से मिलेगा ₹4.78 लाख...

‘आपके पास आधार कार्ड है तो आपको भी मोदी सरकार से मिलेगा ₹4.78 लाख का लोन’: सोशल मीडिया पर दावा, PIB ने बताया क्या है सच

इस बारे में पीआईबी फैक्ट चेक ने ट्वीट कर कहा है, "दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार सभी आधार कार्ड होल्डर्स को 4,78,000 रुपए का लोन उपलब्ध करा रही है।"

सोशल मीडिया पर आए दिन अलग-अलग तरह के दावे देखने को मिलते रहते हैं। ऐसा ही एक दावा सरकार द्वारा दिए जा रहे लोन के लिए किया जा रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल पोस्ट में कहा जा रहा है कि केंद्र सरकार आधार कार्ड होल्डर्स को 4.78 लाख रुपए का लोन दे रही है। वायरल पोस्ट की जाँच करते हुए भारत सरकार की नोडल एजेंसी PIB ने इसे फर्जी करार दिया है।

दरअसल, सोशल मीडिया पर वायरल मैसेज में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फोटो और आधार कार्ड के लोगो के साथ बनी एक तस्वीर वायरल की जा रही है। इस फोटो में लिखा हुआ है, “सरकार दे रही है सभी आधार वालों को 4,78,000 रुपए का लोन।”

इस वायरल मैसेज की सच्चाई पता करने के लिए केंद्र सरकार की नोडल एजेंसी ‘प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो (PIB)’ ने इसका फैक्ट चेक किया है। इस फैक्ट चेक में पीआईबी (PIB Fact Check) ने पाया कि सोशल मीडिया पर किया जा रहा यह दावा पूरी तरह से भ्रामक है और इसमें किसी तरह की सच्चाई नहीं हैं।

इस बारे में पीआईबी फैक्ट चेक ने ट्वीट कर कहा है, “दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार सभी आधार कार्ड होल्डर्स को 4,78,000 रुपए का लोन उपलब्ध करा रही है। यह दावा फर्जी है। ऐसे मैसेज को फॉरवर्ड ना करें। कभी भी अपना निजी या बैंकिंग डिटेल किसी के साथ शेयर न करें।” बता दें कि ऐसा ही एक मैसेज इसी साल जुलाई-अगस्त के मध्य में भी वायरल हो रहा था, तब भी PIB फैक्ट चेक ने ऐसा ही ट्वीट कर लोन वाले दावे को फर्जी करार दिया था।

गौरतलब है, साइबर अपराध (फ्रॉड) करने वाले लोग सोशल मीडिया के विभिन्न माध्यमों, खासतौर से व्हाट्सएप्प के जरिए इस तरह के ऑफर्स देते हैं। ऐसा इसीलिए किया जाता है, ताकि लोग लोन के झाँसे में आकर अपनी बैंक डिटेल, ओटीपी इत्यादि उनके साथ शेयर कर दें। ऐसा देखा गया है कि लोग ऐसे मैसेज देखने के बाद जानकारी शेयर कर देते हैं और फ्रॉड का शिकार हो जाते हैं।

यही नहीं, कई बार लोग लोन के ऐसे दावों के साथ भेजे गए लिंक्स पर क्लिक करके आपनी निजी और बैंकिंग डिटेल्स शेयर कर देते हैं। इसके बाद, फ्रॉड उनके बैंक अकाउंट से पैसे निकाल लेते हैं। यही कारण है कि PIB फैक्ट चेक ने ऐसे फर्जी दावों की जाँच करते हुए कहा है कि इस तरह के ऑफर्स के झाँसे में आकर बैंकिंग डिटेल्स किसी के साथ शेयर न करें।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -