Monday, July 22, 2024
Homeविविध विषयअन्यएक शिवलिंग पन्ने का भी... वजन सिर्फ 530 ग्राम और कीमत ₹500 करोड़: बुजुर्ग...

एक शिवलिंग पन्ने का भी… वजन सिर्फ 530 ग्राम और कीमत ₹500 करोड़: बुजुर्ग के लॉकर में मिला, पुलिस ने जाँच के लिए भेजा

एडीजीपी जयंत मुरली ने शिवलिंग मिलने के बाद बताया कि उन्हें टिप मिली थी कि तंजावुर में एक शख्स पर पन्ने का शिवलिंग है। छापेमापी हुई तो व्यक्ति के बैंक लॉकर से शिवलिंग बरामद हुआ।

तमिलनाडु के त्रिची में सीआईडी पुलिस ने बीते गुरुवार (30 दिसंबर 2021) को तंजावुर में एक व्यक्ति के पास से 500 करोड़ रुपए का पन्ने का शिवलिंग (Emerald Lingam) बरामद किया। इस शिवलिंग को बैंक लॉकर में रखा गया था। एडीजीपी जयंत मुरली ने शिवलिंग मिलने के बाद शुक्रवार को इस संबंध में मीडिया को जानकारी दी। उन्होंने बताया कि उन्हें टिप मिली थी कि तंजावुर में एक शख्स पर पन्ने का शिवलिंग है। छापेमापी हुई तो व्यक्ति के बैंक लॉकर से शिवलिंग बरामद हुआ।

पुलिस ने बताया कि वरिष्ठ अधिकारियों के नेतृत्व में एक टीम ने गुरुवार को तंजावुर के अरुलानंद नगर के 7वें चौराहे पर एक घर में छापेमारी की। उन्होंने घर पर तकरीबन 80 वर्ष के एन ए समियप्पन के बेटे एन एस अरुण से जब पूछताछ की तो अरुण ने जानकारी दी कि उसके पिता ने तंजावुर में एक बैंक लॉकर में प्राचीन पन्ना लिंगम रखा है। इसके बाद उस शिवलिंग को बरामद करके पुलिस ने उसे जाँच के लिए भेजा।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, जिस शिवलिंग को बैंक लॉकर से बरामद किया गया उसका वजन 530 ग्राम और ऊँचाई 8 सेंटीमीटर है। जब अरुण से इस विषय में पूछताछ हुई तो उन्हें खुद नहीं मालूम था कि उनके पिता को इतनी प्राचीन वस्तु कहाँ से मिली। एडीजीपी ने कहा कि उन्होंने शिवलिंग मिलने के बाद उसे रत्नविदों को दिखाया, जिन्होंने इसकी कीमत 500 करोड़ रुपए आँकी है। इसे धर्मपुरम अधीनम जैसे संरक्षकों के साथ वेरीफाई किया गया है। उन्होंने इसके असली होने की पुष्टि की है। अब आगे वैज्ञानिक विश्लेषण होगा और उस मंदिर की पहचान की जाएगा जिसमें ये शिवलिंग था।

वहीं इंडिया प्राइड प्रोजेक्ट के सह-संस्थापक एस विजय कुमार ने 500 करोड़ रुपए के अनुमान को मिथ बताया। साथ ही कहा कि पन्ना से बने शिवलिंगों की चोरी साउथ इंडिया के मंदिरों और मठों से 80 के दशक के अंत से हो रही है। अब पुलिस इस बात की जाँच भी कर रही है कि क्या ये शिवलिंग वही है जो साल 2016 में नागपट्टिनम जिले के थिरुकुवलाई में शिव मंदिर से गायब हो गया था। रिपोर्ट के अनुसार, एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पूरे मामले की जाँच में सम्यप्पन सहयोग कर रहे हैं। पुलिस उनके बैकग्राउंड के बारे में पूछताछ कर रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -