Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाज'यदि आज राम और कृष्ण होते तो जेल भेजता': इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर...

‘यदि आज राम और कृष्ण होते तो जेल भेजता’: इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर ने की आपत्तिजनक टिप्पणी, पहले भी कर चुका है ‘शिवलिंग पर पेशाब’ करने का दावा

प्रोफेसर विक्रम हरिजन इससे पहले भी हिन्दू धर्म के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणियाँ कर चुके हैं। प्रोफेसर ने एक बयान में कहा था कि वो अपने गाँव के पास बने मंदिर के शिवलिंग पर पेशाब कर चुके हैं। इस पर भी विवाद हुआ था।

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज स्थित इलाहबाद यूनिवर्सिटी के एक प्रोफेसर ने भगवान राम और कृष्ण पर आपत्तिजनक टिप्पणी की है। आरोपित का नाम विक्रम हरिजन है जो आधुनिक इतिहास विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर कार्यरत हैं। विक्रम ने अपने X एकाउंट पर राम और कृष्ण को जेल भेजने की बात कही है। इस मामले में विश्व हिन्दू परिषद ने रविवार (22 अक्टूबर, 2023) को प्रोफेसर विक्रम पर धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लगा कर FIR दर्ज करवाई है। पुलिस मामले की जाँच कर रही है

यह मामला कर्नलगंज थानाक्षेत्र का है। विश्व हिन्दू परिषद प्रयागराज के पदाधिकारी शुभम ने आरोपित प्रोफेसर के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज करवाई है। शिकायत में शुभम ने बताया कि असिस्टेंट प्रोफेसर विक्रम हरिजन आए दिन अपने X हैंडल से हिन्दू देवी-देवताओं का अपमान किया करते हैं। प्रोफेसर द्वारा भगवाम राम और कृष्ण के खिलाफ लिखे शब्दों से शुभम ने न सिर्फ आम जनता बल्कि इलाहबाद यूनिवर्सिटी के छात्रों को भी आक्रोशित बताया है।

शिकायतकर्ता ने आरोपित पर कड़ी कार्रवाई की माँग की है। पुलिस ने आरोपित प्रोफेसर के खिलाफ IPC की धारा 153 A, 295 A और IT एक्ट की धारा 66 के तहत केस दर्ज किया है। मामले की जाँच की जा रही है। ऑपइंडिया के पास FIR कॉपी मौजूद है।

क्या कहा था प्रोफेसर विक्रम ने

दरअसल, प्रोफेसर डॉ विक्रम ने 22 अक्टूबर, 2023 (रविवार) को सुबह 7:37 पर एक आपत्तिजनक पोस्ट किया। इस ट्वीट में उन्होंने लिखा, “यदि आज प्रभु श्री राम होते तो मैं ऋषि शम्भुक का वध करने के लिए उनको मैं आईपीसी की धारा 302 के तहत जेल भेजता और यदि आज कृष्णा होते तो महिलाओं के साथ सेक्सुअल हैरेसमेंट के केस के लिए उनको भी मैं जेल में भेजता?”

थोड़े ही समय में ये ट्वीट वायरल हो गया और लोग प्रोफेसर पर कार्रवाई की माँग करने लगे। राव सनी सिंह अहीर ने लिखा, “आप मेरे विश्वविद्यालय के प्रोफेसर है आपका सम्मान करता था पर अब आप के खिलाफ FIR करूँगा, किस प्रमाण के आधार पर हमारे कुल पुरुष, ब्राह्मण वाद के घोर विरोधी, प्रजा पालक, नारी रक्षक अभीर कुल दीपक द्वारिका नरेश महाक्षत्रप कृष्ण को बलात्कारी बता रहे है? अहीरो की देन है कि आप सुरक्षित हैं।” सनी ने प्रोफेसर से ट्वीट डिलीट करने के लिए कहा। हालाँकि, प्रोफेसर विक्रम ने अभी तक अपना ट्वीट डिलीट नहीं किया है।

पहले भी विवादों में रहे हैं प्रोफेसर विक्रम

रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रोफेसर विक्रम हरिजन इससे पहले भी हिन्दू धर्म के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणियाँ कर चुके हैं। साल 2019 में प्रोफेसर विक्रम हरिजन ने एक बयान में कहा था कि वो अपने गाँव के पास बने मंदिर के शिवलिंग पर पेशाब कर चुके हैं। हालाँकि इस बयान के बाद काफी समय तक प्रोफेसर अवकाश पर रहे। उन्होंने यूनिवर्सिटी में अपने मॉबलिन्चिग की आशंका भी जताई थी।

बता दें कि प्रोफेसर विक्रम ने दिल्ली के JNU से PHD की है। फीस वृद्धि के मुद्दे पर वो प्रदर्शनकारी छात्रों के साथ देखे गए थे। इस वजह से विक्रम को यूनिवर्सिटी प्रशासन की तरफ से कारण बताओं नोटिस भी जारी हुई थी। एक अन्य पुराने वीडियो में आरोपित प्रोफेसर को हिन्दू धर्म और शास्त्रों को खत्म करने का भाषण मंच से देते हुए देखा जा सकता है। X हैंडल @itsme7999999 द्वारा 4 अक्टूबर 2023 को शेयर किए गए इस वीडियो में मंच पर गौतम बुद्ध और डॉ भीमराव अम्बेडकर की तस्वीरें लगी हैं।

20 अक्टूबर 2023 को प्रोफेसर विक्रम हरिजन ने मनुस्मृति को शूद्र और महिला विरोधी बताया था। तब उन्होंने कहा था कि अगर वो जज होते तो मनु को फाँसी पर चढ़ा देते। अपने इस बयान को प्रोफेसर ने X हैंडल के टॉप पर पिन किया है।

राहुल गाँधी की भारत जोड़ो यात्रा में हुए थे शामिल

जिस प्रोफेसर पर लगातार हिन्दू देवी-देवताओं के अपमान का आरोप है वो राहुल गाँधी की भारत जोड़ो यात्रा में खुद के शामिल होने का दावा करते हैं। 16 सितंबर, 2023 को प्रोफेसर विक्रम हरिजन ने अपनी और राहुल गाँधी की तस्वीर अपने X हैंडल पर साझा की है। खुद प्रोफेसर ने वह तस्वीर उत्तर प्रदेश के बागपत जिले की बताई है।

राहुल गाँधी से मुलाकात के अनुभवों को साझा करते हुए प्रोफेसर ने लिखा, “मैं भी राहुल जी से बागपत में मिला था। सर ने पूछा था कि कॉन्ग्रेस में क्या खामियाँ हैं, मेरी कम्युनिटी के बारे मे पूछा, बहन मायावती के राजनीत के बारे में, भारत जोड़ो यात्रा के ग्राउंड पर प्रभाव. आज क्या मोदी साहेब ऐसा सवाल कर सकते हैं?”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -