Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाजनूर-ए-इलाही में सौरभ के प्राइवेट पार्ट के पास गोली मारकर भागे इमरान और उसका...

नूर-ए-इलाही में सौरभ के प्राइवेट पार्ट के पास गोली मारकर भागे इमरान और उसका दोस्त, ऑफ ड्यूटी ASI की बहादुरी से धरे गए

एएसआई रविंद्र बताते हैं कि जब वे नूर-ए-इलाही करीब 8:25 pm पर पहुँचे। तो हाथापाई करते देखा। पीड़ित मदद की गुहार लगा रहा था। जब उन्होंने पूछा तो उसने बताया कि दोनों ने उससे उसका मोबाइल छीन लिया है। बस फिर क्या... ऑफ ड्यूटी एएसआई ने इतना सुनते ही वहाँ अपनी मोटरसाइकल छोड़ी और पिस्टल वाले युवक के पीछे भागे.....

उत्तरपूर्वी दिल्ली के दंगा प्रभावित इलाके नूर-ए-इलाही, यमुना विहार में बुधवार (मार्च 18, 2020) की रात लूटपाट की वारदात सामने आई। यहाँ विशेष समुदाय के दो युवकों ने बन्दूक की नोंक पर एक हिंदू युवक से उसका सामान छीना और उसे गोली मारी। लेकिन, ऑफ ड्यूटी एएसआई रविन्द्र की बहादुरी से दोनों को धड़ पकड़ा गया। दोनों आरोपितों की पहचान इमरान उर्फ मॉडल और इमरान के रूप में हुई।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, डीसीपी ऑफिस में कार्यरत एएसआई रविंद्र बुधवार की रात करीब 7 बजे अपने भतीजे से मिलने गए थे। मगर वापसी के दौरान उन्होंने तीन लोगों के बीच आपसी झड़प होती देखी। इनमें से एक ने इसी बीच 2 राउंड गोली फायर कर दी और फिर भागना शुरू कर दिया।

मगर, पुलिस अधिकारी ने पीड़ित की हालत देखकर उन चोरों का पीछा किया और उनमें से एक को पकड़ा लिया। इसके बाद पीड़ित ने भी चोर के साथी का पीछा किया और उसे भी पकड़ लिया गया। इस वारदात में पीड़ित के प्राइवेट पार्ट के पास गोली लगी।

एएसआई रविंद्र बताते हैं कि जब वे नूर-ए-इलाही करीब 8:25 pm पर पहुँचे। तो उन्होंने तीनों को हाथापाई करते देखा। पीड़ित मदद की गुहार के लिए चिल्ला रहा था। जब उन्होंने उससे पूछा तो उसने बताया कि दोनों लोगों ने उससे उसका मोबाइल छीन लिया है। बस फिर क्या… ऑफ ड्यूटी एएसआई ने इतना सुनते ही वहाँ अपनी मोटरसाइकल छोड़ी और पिस्टल वाले युवक के पीछे भागे। आरोपित एक रेस्ट्रां की ओर भाग रहा था। लेकिन पुलिस अधिकारी ने उसे पकड़ लिया और उससे उसकी पिस्टल छीनी।

इसके बाद वहाँ भीड़ इकट्ठा हुई और आरोपित को पीटा गया। पीड़ित सौरभ गुप्ता ने भी इस बीच दूसरे चोर को पकड़ लिया और बाद में दोनों को भजनपुरा थाने सौंपा गया। बाद में सौरभ गुप्ता को इलाज के लिए सरकारी अस्पताल के लिए भर्ती कराया गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

औरतों का चीरहरण, तोड़फोड़, किडनैपिंग, हत्या: बंगाल हिंसा पर NHRC की रिपोर्ट से निकली एक और भयावह कहानी

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) ने 14 जुलाई को बंगाल में चुनाव के बाद हुई हिंसा पर अपनी अंतिम रिपोर्ट कलकत्ता हाईकोर्ट को सौंपी थी।

विधानसभा से मंत्री का ही वॉकआउट: छत्तीसगढ़ कॉन्ग्रेस की लड़ाई में नया मोड़, MLA ने कहा था- मेरी हत्या करा बनना चाहते हैं CM

अपनी ही सरकार के रवैये से आहत होकर छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री TS सिंह देव सदन से वॉकआउट कर गए। उन पर आदिवासी विधायक ने हत्या के प्रयास का आरोप लगाया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,464FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe