Sunday, August 1, 2021
Homeदेश-समाजअसम: 9 साल की पोती के साथ 58 वर्षीय समीर अली ने किया रेप,...

असम: 9 साल की पोती के साथ 58 वर्षीय समीर अली ने किया रेप, गिरफ्तार

समीर अली ने पहले बहला-फुसलाकर नाबालिग लड़की को अपने घर में बुलाया और फिर उसके साथ बलात्कार किया। इस जघन्य अपराध को अंजाम देने के बाद से वह पुलिस से भागता फिर रहा था। आखिरकार जोगीगोपा पुलिस ने उसे भरलकुंडी गाँव से गिरफ्तार कर लिया है।

असम पुलिस ने राज्य के बोंगाईगाँव जिले के जोगीगोपा शहर में 9 साल की एक बच्ची के साथ बलात्कार करने के आरोप में समीर अली नाम के 58 वर्षीय व्यक्ति को गिरफ्तार किया है।

घटना बुधवार (सितंबर 16, 2020) की है। जानकारी के मुताबिक, समीर अली ने पहले बहला-फुसलाकर नाबालिग लड़की को अपने घर में बुलाया और फिर उसके साथ बलात्कार किया। इस जघन्य अपराध को अंजाम देने के बाद से वह पुलिस से भागता फिर रहा था। आखिरकार जोगीगोपा पुलिस ने उसे भरलकुंडी गाँव से गिरफ्तार कर लिया है

आरोपी पीड़िता का रिश्तेदार है

मामले के संबंध में FIR (No. 306/20) दर्ज की गई है। रिपोर्ट के अनुसार, प्रारंभिक जाँच में सामने आया है कि आरोपित, पीड़िता का दादा है। घटना से इलाके में भय और तनाव का माहौल बना हुआ है।

यह पहली बार नहीं है जब इस तरह की घटना प्रकाश में आई है। इससे पहले असम के डिब्रूगढ़ जिले में रिकी अहमद नाम के युवक द्वारा 15 साल की नाबालिग लड़की के साथ कई बार बलात्कार करने का मामला सामने आया था। पुलिस ने इस मामले में आरोपित रिकी अहमद उर्फ बिक्की को नालीपुल के कावेरी पैटी क्षेत्र से मंगलवार (9 सितंबर, 2020) को गिरफ्तार किया था। परिजनों ने बताया था पीड़िता के साथ 20 बार से ज्यादा दुष्कर्म किया गया था। इसके साथ ही बताया गया था कि आरोपित रिकी अहमद, पीड़िता का मामा था। 

डिब्रूगढ़ के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पद्मनाव बरुआ के अनुसार आरोपित के खिलाफ डिब्रूगढ़ पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 448/376 डी (ए) / 506, यौन अपराध अधिनियम से बच्चों की सुरक्षा की धारा 4 के तहत (1513/20) मामला दर्ज किया था।

पुलिस अधिकारी ने बताया था, “इस अपराध में आरोपित ने अपनी भूमिका से इनकार कर दिया है। लेकिन हमारे पास आरोपित के खिलाफ कई सबूत मौजूद हैं। जिसको मद्देनजर रखते हुए रिकी अहमद को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।”

अतिरिक्त एसपी ने कहा था, “एक सप्ताह के भीतर, हम चार्जशीट पेश करेंगे और फास्ट-ट्रैक कोर्ट में इस मामले की सुनवाई की दरख्वास्त करेंगे।” गौरतलब है कि कोरोना वायरस के चलते हुए लॉकडाउन के दौरान असम में आपराधिक मामलों में काफी बढ़त हुई है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुहर्रम पर यूपी में ना ताजिया ना जुलूस: योगी सरकार ने लगाई रोक, जारी गाइडलाइन पर भड़के मौलाना

उत्तर प्रदेश में डीजीपी ने मुहर्रम को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी हैं। इस बार ताजिया का न जुलूस निकलेगा और ना ही कर्बला में मेला लगेगा। दो-तीन की संख्या में लोग ताजिया की मिट्टी ले जाकर कर्बला में ठंडा करेंगे।

हॉकी में टीम इंडिया ने 41 साल बाद दोहराया इतिहास, टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुँची: अब पदक से एक कदम दूर

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। 41 साल बाद टीम सेमीफाइनल में पहुँची है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,514FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe