Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजमदरसे में बच्चों से गुप्तांग धुलवाता है मौलवी, शौच के बाद नितंब साफ कराने...

मदरसे में बच्चों से गुप्तांग धुलवाता है मौलवी, शौच के बाद नितंब साफ कराने का भी आरोप: अब्दुल हफीज के खिलाफ शिकायत, जाँच शुरू

ऑपइंडिया के पास शिकायत कॉपी मौजूद। इसमें मौलवी अब्दुल हफीज को शिकायतकर्ताओं ने बेहद शातिर बताते हुए आशंका जताई है कि वो गाँव वालों को आपस में ही लड़ना चाहता है। उस पर कई अन्य बच्चों के साथ भी बहला-फुसला कर उल्टी-सीधी हरकतें करने और विरोध करने पर धमकाने का भी आरोप है। इस शिकायती पत्र पर लगभग आधे दर्जन ग्रामीणों ने दस्तखत कर रखे हैं।

उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले में एक मदरसे के मौलवी पर नाबालिग छात्रों से अश्लील हरकतें करने का मामला सामने आया है। मौलवी का नाम अब्दुल हफीज है। आरोपित अब्दुल बच्चों से अपना गुप्तांग धुलवाता है। एक बच्चे ने आरोप लगाया कि शौच के बाद मौलवी नितंब धुलवाता है। इनकार करने वह छात्रों को धमकाता भी है। कई छात्रों ने इस वजह से मदरसे में जाने से भी इनकार कर दिया है।

गुरुवार (11 जून 2024) कई ग्रामीणों ने जिले के पुलिस अधीक्षक को शिकायत देकर मौलवी पर कड़ी कार्रवाई की माँग की है। शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने मामले की जाँच शुरू कर दी है। वहीं, मौलाना ने इन आरोपों से पल्ला झाड़ लिया है। अपनी सफाई में मौलवी ने खुद पर लगे आरोपों को बेबुनियाद बताया और शिकायतकर्ताओं पर लीगल एक्शन लेने की बात कही है।

यह मामला बस्ती जिले के थाना क्षेत्र मुंडेरवा का है। इस क्षेत्र के गाँव परसा हज्जाम में काफी लंबे समय से अरबिया शम्सुल उलूम नाम का मदरसा संचालित हो रहा है। इस मदरसे में गाँव और उसके आसपास के कई नाबालिग बच्चे मज़हबी एवं दीनी तालीम हासिल करने जाते हैं। लगभग 3 साल पहले मुंडेरवा थाना क्षेत्र का मौलवी अब्दुल हफीज इस मदरसे में बच्चों को पढ़ाने के लिए रखा गया था।

दी गई शिकायत के अनुसार, मौलवी की नियुक्ति के पीछे भी कुछ लोगों द्वारा मदरसे पर कब्ज़ा करने की साजिश बताई गई है। इसमें आगे कहा गया है कि अब्दुल हफीज बच्चों को पढ़ाने का ढोंग कर रहा है, क्योंकि उसे गाँव के कुछ लोगों ने खिला-पिला कर रखा है। कुछ ही समय बाद बच्चे मौलवी द्वारा अपने साथ अत्याचार किए जाने की शिकायत करने लगे। इन पीड़ितों में एक बच्चा बिहार का भी है।

बच्चे ने फोन करके अपने घर बताया था कि मदरसे में अब्दुल हफीज शौच से लौटने के बाद बच्चों से अपना नितम्ब धुलवाता है। इसके साथ ही उसने अपने साथ गंदी हरकतें करने का भी आरोप लगाया है।पीड़ित छात्र के परिजनों ने इस शिकायत की फोन पर रिकॉर्डिंग भी कर रखी है। इसी रिकार्डिंग में बच्चे ने आगे कहा कि वो अब मदरसे में नहीं पढ़ेगा।

शिकायतकर्ताओं ने मदरसे में चल रही इन हरकतों से खुद को शर्मिंदा बताया है। आरोप यह भी लगाया गया है कि मौलवी अब्दुल हफीज को गाँव के ही सादिक अली के बेटे मुस्लिम, परवेज अहमद और तबब्कल हुसैन सहित कुछ अन्य लोगों का संरक्षण मिला हुआ है। ग्रामीणों ने यह भी आशंका जताई कि उलटे उनको ही फँसाने की साजिश रची जा रही है।

ऑपइंडिया के पास शिकायत कॉपी मौजूद। इसमें मौलवी अब्दुल हफीज को शिकायतकर्ताओं ने बेहद शातिर बताते हुए आशंका जताई है कि वो गाँव वालों को आपस में ही लड़ना चाहता है। उस पर कई अन्य बच्चों के साथ भी बहला-फुसला कर उल्टी-सीधी हरकतें करने और विरोध करने पर धमकाने का भी आरोप है। इस शिकायती पत्र पर लगभग आधे दर्जन ग्रामीणों ने दस्तखत कर रखे हैं।

मुझ पर लगे आरोप निराधार, लेंगे लीगल एक्शन

मीडिया से बात करते हुए मौलवी ने खुद पर लगे आरोपों को निराधार बताया है। अब्दुल हफीज इसे मदरसे को बदनाम करने की साजिश करार दिया है और खुद को बदनाम करने वालों के खिलाफ लीगल नोटिस भेजने का एलान किया है। मौलवी ने अबरार अहमद, मोहम्मद सगीर, निसार, मोहम्मद हकीम, समसुद्दीन और यूनुस पर आए दिन खुद को धमकियाँ देने का आरोप लगाया।

मौलाना अब्दुल हफीज ने इन सभी लोगों से अपनी जान का खतरा बताया है। मदरसे के लीगल एडवाइजर शोएब आजम ने इस शिकायत को गाँव के मनबढ़ों द्वारा मदरसे पर कब्ज़े की साजिश कहा है। वहीं, इस मदरसे में पढ़ने वाले छात्रों के परिजन बस्ती पहुँचकर बच्चे को वहाँ ले जाने के लिए आए हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -