Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजनिज़ामुद्दीन मरकज में हर रोज देश-विदेश से जुटते थे 5000 जमाती: दिल्ली पुलिस की...

निज़ामुद्दीन मरकज में हर रोज देश-विदेश से जुटते थे 5000 जमाती: दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा की पूछताछ में कई नए खुलासे

दिल्ली पुलिस द्वारा मरकज के मौलाना साद, मोहम्मद अशरफ, मुफ्ती शहजाद, डॉ. जीशान, मुरसालीन सैफी, मो. सलमान और यूनुफ को दूसरा नोटिस जारी कर फिर से कुछ सवालों के जवाब माँगे हैं। साथ ही पुलिस ने दूसरे नोटिस का जल्द ही जवाब देने की बात कही है। इतना ही नहीं दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा तबलीगी मरकज की जाँच रिपोर्ट हर रोज गृह मंत्रालय को भेज रही है।

दिल्ली निजामुद्दीन से निकले तबलीगी जमातियों के बाद से देश में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती चली जा रही है। वहीं मरकज मामले में जैसे-जैसे दिल्ली पुलिस की जाँच आगे बढ़ती चली जा रही है ऐसे ही मरकज से जुड़े एक के बाद एक नए खुलासे हो रहे हैं। दिल्ली पुलिस को मरकज से जुड़े लोगों से पूछताछ में जानकारी मिली है कि दिल्ली मरकज में हर रोज देश-विदेश से करीब पाँच हजार लोग आते थे। फिलहाल दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा द्वारा जमातियों से पूछताछ जारी है।

मामले की जाँच कर रही दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा को मरकज से जुड़े लोगों से पूछताछ में पता लगा है कि निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज में हर रोज देश और विदेश से 4 से 5 हजार लोग इकट्ठा होते थे। यहाँ आने वाले लोगों से उनके देश और उनके उद्देश्य के बारे में पूछा जाता था। इसके बाद जो लोग जमात के लिए आते थे उन लोगों को मरकज में रोका जाता था और जो लोग किसी दूसरे मकसद से मरकज में आते थे उन लोगों को यहाँ से वापस कर दिया जाता था।

इसलिए दिल्ली स्थित मरकज में हर दिन जमातियों के आने-जाने का सिलसिला लगा रहता था। लगातार एक के बाद एक मिल रही नई जानकारियों को ध्यान में रखते हुए दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा द्वारा यह पूछताछ जारी है। हालाँकि, कोरोना संक्रमण के खतरे से बचने के लिए अधिकारियों द्वारा यह पूछताछ अभी मोबाइल फोन पर ही चल रही है। इतना ही नहीं खुद दिल्ली पुलिस के अधिकारी मरकज से जुड़े लोगों को सामने बैठाकर पूछताछ करने से बच रही है।

वहीं दिल्ली पुलिस द्वारा मरकज के मौलाना साद, मोहम्मद अशरफ, मुफ्ती शहजाद, डॉ. जीशान, मुरसालीन सैफी, मो. सलमान और यूनुफ को दूसरा नोटिस जारी कर फिर से कुछ सवालों के जवाब माँगे हैं। साथ ही पुलिस ने दूसरे नोटिस का जल्द ही जवाब देने की बात कही है। इतना ही नहीं दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा तबलीगी मरकज की जाँच रिपोर्ट हर रोज गृह मंत्रालय को भेज रही है। जानकारी के मुताबिक गृह मंत्रालय इस रिपोर्ट को सभी राज्यों से साझा करता है।

गौरतरलब है कि दिल्ली पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा खाली कराए गए दिल्ली स्थित मरकज के बाद से मरकज का मौलाना साद फरार है। पुलिस उसकी तलाश में दिल्ली सहित कई राज्यों में लगातार छापेमारी कर रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -