Thursday, July 29, 2021
Homeदेश-समाजनिज़ामुद्दीन मरकज में हर रोज देश-विदेश से जुटते थे 5000 जमाती: दिल्ली पुलिस की...

निज़ामुद्दीन मरकज में हर रोज देश-विदेश से जुटते थे 5000 जमाती: दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा की पूछताछ में कई नए खुलासे

दिल्ली पुलिस द्वारा मरकज के मौलाना साद, मोहम्मद अशरफ, मुफ्ती शहजाद, डॉ. जीशान, मुरसालीन सैफी, मो. सलमान और यूनुफ को दूसरा नोटिस जारी कर फिर से कुछ सवालों के जवाब माँगे हैं। साथ ही पुलिस ने दूसरे नोटिस का जल्द ही जवाब देने की बात कही है। इतना ही नहीं दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा तबलीगी मरकज की जाँच रिपोर्ट हर रोज गृह मंत्रालय को भेज रही है।

दिल्ली निजामुद्दीन से निकले तबलीगी जमातियों के बाद से देश में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती चली जा रही है। वहीं मरकज मामले में जैसे-जैसे दिल्ली पुलिस की जाँच आगे बढ़ती चली जा रही है ऐसे ही मरकज से जुड़े एक के बाद एक नए खुलासे हो रहे हैं। दिल्ली पुलिस को मरकज से जुड़े लोगों से पूछताछ में जानकारी मिली है कि दिल्ली मरकज में हर रोज देश-विदेश से करीब पाँच हजार लोग आते थे। फिलहाल दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा द्वारा जमातियों से पूछताछ जारी है।

मामले की जाँच कर रही दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा को मरकज से जुड़े लोगों से पूछताछ में पता लगा है कि निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज में हर रोज देश और विदेश से 4 से 5 हजार लोग इकट्ठा होते थे। यहाँ आने वाले लोगों से उनके देश और उनके उद्देश्य के बारे में पूछा जाता था। इसके बाद जो लोग जमात के लिए आते थे उन लोगों को मरकज में रोका जाता था और जो लोग किसी दूसरे मकसद से मरकज में आते थे उन लोगों को यहाँ से वापस कर दिया जाता था।

इसलिए दिल्ली स्थित मरकज में हर दिन जमातियों के आने-जाने का सिलसिला लगा रहता था। लगातार एक के बाद एक मिल रही नई जानकारियों को ध्यान में रखते हुए दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा द्वारा यह पूछताछ जारी है। हालाँकि, कोरोना संक्रमण के खतरे से बचने के लिए अधिकारियों द्वारा यह पूछताछ अभी मोबाइल फोन पर ही चल रही है। इतना ही नहीं खुद दिल्ली पुलिस के अधिकारी मरकज से जुड़े लोगों को सामने बैठाकर पूछताछ करने से बच रही है।

वहीं दिल्ली पुलिस द्वारा मरकज के मौलाना साद, मोहम्मद अशरफ, मुफ्ती शहजाद, डॉ. जीशान, मुरसालीन सैफी, मो. सलमान और यूनुफ को दूसरा नोटिस जारी कर फिर से कुछ सवालों के जवाब माँगे हैं। साथ ही पुलिस ने दूसरे नोटिस का जल्द ही जवाब देने की बात कही है। इतना ही नहीं दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा तबलीगी मरकज की जाँच रिपोर्ट हर रोज गृह मंत्रालय को भेज रही है। जानकारी के मुताबिक गृह मंत्रालय इस रिपोर्ट को सभी राज्यों से साझा करता है।

गौरतरलब है कि दिल्ली पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा खाली कराए गए दिल्ली स्थित मरकज के बाद से मरकज का मौलाना साद फरार है। पुलिस उसकी तलाश में दिल्ली सहित कई राज्यों में लगातार छापेमारी कर रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

कराहते केरल में बकरीद के बाद विकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,743FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe