Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाजकेन्द्रीय मंत्री महेश शर्मा से ₹2 करोड़ का ब्लैकमेल, मीडिया में काम कर चुकी...

केन्द्रीय मंत्री महेश शर्मा से ₹2 करोड़ का ब्लैकमेल, मीडिया में काम कर चुकी लड़की गिरफ्तार

महेश शर्मा ने लड़की के धमकी भरे पत्र की तहरीर गौतम बुद्धनगर के एसएसपी वैभव कृष्ण को दी। सोमवार को ₹45 लाख की किश्त लेने जब लड़की कैलाश अस्पताल पहुँची तो उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

लोकसभा निर्वाचन के तीसरे चरण के ठीक पहले केन्द्रीय संस्कृति व पर्यटन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) महेश शर्मा को ब्लैकमेल कर उनसे पैसे ऐंठने की कोशिश का मामला सामने आया है। मंत्री की कुछ व्यक्तियों के साथ निजी बातचीत को सार्वजनिक करने की धमकी दे उनसे ₹2 करोड़ की राशि माँगी गई थी।

पुलिस को दी सूचना, बिछा जाल

समाचार पत्र दैनिक जागरण के पोर्टल के अनुसार महेश शर्मा ने लड़की के धमकी भरे पत्र की तहरीर गौतम बुद्धनगर के एसएसपी वैभव कृष्ण को दी। सोमवार को ₹45 लाख की किश्त लेने जब लड़की कैलाश अस्पताल पहुँची तो उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

चुनाव से पहले की बातचीत, मीडिया में काम कर चुकी है लड़की

अब तक प्राप्त जानकारी के अनुसार गिरफ्तार लड़की मीडिया में काम कर चुकी है। यही नहीं, साजिश में कुल 6-7 लोगों के शामिल होने की आशंका जताई जा रही है, जिनमें एक किसी निजी चैनल का मालिक भी हो सकता है। हिंदी दैनिक अमर उजाला ने यह भी दावा किया है कि यह गैंग पहले भी कई लोगों को अपना शिकार बना चुका है।

बातचीत किस बारे में थी, यह तो पता नहीं चला है पर मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बातचीत चुनावों के पहले की है।

पश्चिम उत्तर प्रदेश के कद्दावर नेता माने जाते हैं महेश शर्मा

महेश शर्मा को पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भाजपा का कद्दावर चेहरा माना जाता है। मंत्री बनने के पहले भी वह नोएडा के विधायक रह चुके हैं। इस बार वह पुनः निर्वाचित होने के लिए उम्मीदवार हैं। 2009 में पहला चुनाव गौतमबुद्ध नगर लोकसभा का लड़ने वाले महेश शर्मा 2012 में पहली बार नोएडा से विधायक निर्वाचित हुए, और 2014 में सांसद व मंत्री बने।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,363FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe