Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाजइमाम ने हमास के दरिंदों को बताया 'मसीहा', यूपी पुलिस ने मौलाना सुहैल अहमद...

इमाम ने हमास के दरिंदों को बताया ‘मसीहा’, यूपी पुलिस ने मौलाना सुहैल अहमद अंसारी को किया गिरफ्तार: साथी आतिफ की तलाश

पुलिस ने फिलहाल दोनों आरोपितों के सोशल मीडिया एकाउंट से विवादित पोस्ट डिलीट करवा दिया है। पुलिस के मुताबिक दोनों आरोपित मौदहा कस्बे में हैदरगंज के रहने वाले हैं।

इजरायल हमास के बीच जारी जंग के दौरान फिलिस्तीन के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट करने पर उत्तर प्रदेश की हमीरपुर पुलिस ने एक मौलाना को अरेस्ट किया है। वहीं उसके साथी की तलाश की जा रही है। उत्तर प्रदेश पुलिस ने दोनों आरोपितों के खिलाफ समाज में विद्वेष फैलाने और दंगा भड़काने की कोशिश करने के मामले में केस दर्ज किया है। 

पुलिस के मुताबिक हमीरपुर जिले के मौदहा क़स्बा निवासी आतिफ चौधरी और इमाम मौलाना सोहेल अहमद अंसारी ने सोशल मीडिया में इजरायल व फिलिस्तीन के मध्य चल रहे युद्ध को लेकर युवको ने फिलिस्तीन का समर्थन करते हुए तीन स्टेटस पर कई टिप्पणिया की हैं। इस मामले में पुलिस ने फ़िलहाल मौलाना को गिरफ्तार कर लिया है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, मौलाना सोहेल अहमद अंसारी और आतिफ चौधरी ने सोशल मीडिया साइट इंस्टाग्राम पर फिलिस्तीन के समर्थन में पोस्ट डाली थी। इसमें हमास के दरिंदों को मुस्लिमों का मसीहा  बताते हुए उनके समर्थन में आगे आने के लिए अपील किया गया था। यह पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद हरकत में आई पुलिस ने दोनों के खिलाफ केस दर्ज किया है। 

पुलिस ने फिलहाल दोनों आरोपितों के सोशल मीडिया एकाउंट से विवादित पोस्ट डिलीट करवा दिया है। पुलिस के मुताबिक दोनों आरोपित मौदहा कस्बे में हैदरगंज के रहने वाले हैं। इन दोनों के खिलाफ दो समुदायों के बीच दंगा भड़काने, सोशल मीडिया पर विवादित बयान देने या पोस्ट करने की धाराओं में केस दर्ज किया गया है। इस मामले में दूसरे आरोपित आतिफ चौधरी को गिरफ्तार करने के लिए दबिश दी जा रही है। वहीं पुलिस गिरफ्तार मौलाना सोहेल अंसारी से पूछताछ कर रही है। 

जुमे की नमाज के बाद पुलिस की गिरफ्त में आए मौलाना

गौरतलब है कि हमास आतंकियों को मसीहा बताने वाले मौलाना सुहैल अहमद अंसारी को शुक्रवार को ही जुमे की नमाज के बाद गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। वहीं, दूसरे आरोपित की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है।

इस मामले में मौदहा कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक सुरेश कुमार सैनी ने बताया कि इस मामले में मौलाना सुहैल अंसारी समेत दो लोगों के खिलाफ धारा-153ए, 505/2 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। 

बता दें कि इजरायल ने फिलिस्तीन पर हमला तेज कर दिया है। इजरायल ने जमीन स्तर पर भी गाजा में युद्ध को छेड़ दिया है। इजरायल ने फिलिस्तीन की गाजा पट्टी पर रह रहे लोगों को वहाँ से जाने के लिए कहा है। वहीं, अब हमास और इजरायल को लेकर भी भारत में दो गुट हो गए हैं। एक जो इजरायल का समर्थन कर रहा है तो दूसरा फिलिस्तीन और हमास के समर्थन में दलीलें दे रहा है। यह तबका ज़्यादातर भारत में रहने वाले मुस्लिमों और वामपंथियों का है। 

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -