Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाजकासगंज में UP पुलिस पर हमला - कॉन्स्टेबल मृत, SI गंभीर घायल: एनकाउंटर में...

कासगंज में UP पुलिस पर हमला – कॉन्स्टेबल मृत, SI गंभीर घायल: एनकाउंटर में मारा गया शराब माफिया एलकार

CM योगी आदित्यनाथ ने दिए NSA लगाने के आदेश। मृत सिपाही के परिवार को ₹50 लाख की मदद के अलावा आश्रितों को एक नौकरी देने की घोषणा भी की गई।

उत्तर प्रदेश के कासगंज में मंगलवार (फरवरी 10, 2021) को बिकरु जैसा कांड दोहराया गया। शराब माफिया को पकड़ने गई पुलिस पर बेरहमी से हमला हुआ। हमले में एक सिपाही की हत्या कर दी गई। वहीं सब इंस्पेक्टर अर्धनग्न अवस्था में खून से लथपथ सड़क पर मिले। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले पर संज्ञान ले कर आरोपितों के विरुद्ध रासुका लगाने के निर्देश दिए। मृत सिपाही के परिवार को 50 लाख की मदद व एक नौकरी देने का ऐलान भी हुआ। दूसरी ओर पुलिस ने कार्रवाई के दौरान मुठभेड़ में एक हत्यारोपित को मार गिराया। एनकाउंटर में मारे गए शख्स की पहचान मोती धीमर के भाई एलकार के रूप में हुई।

बता दें कि घटना की सूचना मिलते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले पर कहा, “राज्य सरकार अपराध व अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति पर कार्य कर रही है। कानून व्यवस्था के संबंध में किसी भी प्रकार का समझौता न करते हुए संबंधित दोषियों के विरुद्ध अविलंब व सख्त कार्रवाई की जाए।”

पूरा मामला सिढ़पुरा थाने का है। यहाँ से दो पुलिसकर्मी- सब इंस्पेक्टर अशोक सिंह और सिपाही देवेंद्र 9 फरवरी को अवैध शराब की सूचना मिलने पर दबिश देने लोकेशन पर पहुँचे थे। लेकिन शराब माफियों को इस बात की  खबर हो गई।

पहले माफियों ने दोनों पुलिसकर्मियों को बंधक बनाकर पीटा। फिर उनकी वर्दी फाड़ कर उनसे उनके हथियार छीन लिए। इसके बाद दारोगा को रास्ते में फेंक दिया गया व सिपाही को अपने साथ लेकर चले गए।

जब किसी ग्रामीण ने रास्ते में बुरी तरह घायल पुलिसकर्मी को देखा तो इसकी सूचना पुलिस को दी गई। जानकारी होते ही पुलिस मौके पर पहुँची। तत्काल उन्हें अस्पताल पहुँचाया गया। साथ ही सिपाही की तलाश शुरू हुई। लगभग 1 घंटे तक तलाशी के बाद जंगल में वह खून से लथपथ मिले। पुलिस उन्हें भी जिला अस्पताल लेकर गई लेकिन इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया।

मालूम हो कि दोनों पुलिसकर्मी अवैध शराब के कारोबार पर सख्त कार्रवाई से पहले नोटिस चस्पा करने गए थे, मगर वहाँ उन्हें बंधक बना लिया गया और फिर उनके साथ बर्बरता से अंजाम दिया गया। कथित तौर पर दोनों कर्मियो को लाठी, डंडे के अलावा भाले जैसी धारदार चीजों से भी मारा गया। घटना के बाद कासगंज पहुँचे एडीजी अजय आनन्द ने भारी पुलिस बल के साथ वारदात स्थल का निरीक्षण किया। 

एडीजी ने बताया कि SI अशोक पाल और कॉन्स्टेबल देवेंद्र गश्त पर थे। उस दौरान वह नगला धीमर गाँव पहुँचे थे। इस गाँव में कच्ची शराब बनाने की सूचना पहले भी कई बार मिली है। मंगलवार शाम करीब 6.30 बजे CO पटियाली को पता चला कि SI और कॉन्स्टेबल के साथ मारपीट की गई है। सूचना पर कासगंज पुलिस और आस-पास के जनपदों की पुलिस घटनास्थल पर पहुँची। 

तलाश करने पर पुलिस को काली नदी की कटरी में तीन किलोमीटर की दूरी पर सिपाही और एसआई घायल हालत में मिले। सिपाही की इलाज के दौरान ले जाते समय मौत हो गई, वहीं एसआई अशोक पाल गंभीर रूप से घायल हैं। उनको इलाज के लिए अलीगढ़ रेफर किया गया है। एडीजी ने बताया कि इस वारदात में 4-6 अपराधी शामिल थे। पूरे गाँव को घेर कर तलाशी ली जा रही है। अपराधियों के ख़िलाफ़ सख्त से सख्त कार्रवाई होगी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मध्य प्रदेश और बिहार में भी काँवर यात्रा मार्ग में ढाबों-ठेलों पर लिखा हो मालिक का नाम’: पड़ोसी राज्यों में CM योगी के फैसलों...

रमेश मेंदोला ने कहा कि नाम बताने में दुकानदारों को शर्म नहीं बल्कि गर्व होना चाहिए। हरिभूषण ठाकुर बचौल बोले - विवादों से छुटकारा मिलेगा।

‘लैंड जिहाद और लव जिहाद को बढ़ावा दे रही हेमंत सोरेन की सरकार’: झारखंड में गरजे अमित शाह, कहा – बिगड़ रहा जनसंख्या का...

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर 'भूमि जिहाद', 'लव जिहाद' को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए उन पर तीखा हमला किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -