Thursday, April 25, 2024
Homeदेश-समाज'एक ने मेरे पीछे अपना हाथ रख दिया...': केरल के मॉल में क्या-क्या हुआ,...

‘एक ने मेरे पीछे अपना हाथ रख दिया…’: केरल के मॉल में क्या-क्या हुआ, हीरोइन ने सब कुछ बताया

“मैंं एक मिनट के लिए सन्न रह गई। मैं उनके पास गई लेकिन उन्होंने मुझे इग्नोर किया। मैं समझ गई कि इन्हें मालूम है कि मुझे पता चल चुका है। दोनों फौरन मेरे सामने से चले गए। मैं गुस्से में थी क्योंकि मैं कुछ कह नहीं पाई थी।"

केरल के एक मॉल में मलयालम एक्ट्रेस के साथ छेड़छाड़ का मामला उजागर हुआ है। घटना कोच्चि के लुलु मॉल की है। एक्ट्रेस के मुताबिक वह अपनी माँ और बहन के साथ शॉपिंग के लिए गई थी, जहाँ दो युवकों ने उसके साथ बदसलूकी की। सीसीटीवी से घटना की पुष्टि के बाद पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है और अब युवकों की पहचान की जा रही है। राज्य की महिला आयोग ने इस मामले पर संज्ञान लिया है।

एक्ट्रेस ने सोशल मीडिया पर आपबीती साझा करते हुए एक पोस्ट भी शेयर किया है। इस पोस्ट में उन्होंनें महिलाओं के सामने आने वाली चुनौतियों का जिक्र किया और साथ ही पुरुषों पर आरोप लगाया कि उन्होंने स्त्री से उसकी से सेफ्टी, कंफर्ट और आनंद सब कुछ छीन लिया है।

अपने पोस्ट में एक्ट्रेस ने लिखा,

“मैं आमतौर पर सोशल मीडिया पर शेखी मारने वालों में से नहीं हूँ। लेकिन मेरे साथ आज जो हुआ इसे ऐसे ही जाने नहीं दिया जा सकता। दो लोग लुलु हाइपर मार्केट में मेरे पास से गुजरे जहाँ कभी-कभी ही भीड़ होती है। इनमें से एक ने मेरे पास से गुजरते हुए मेरे पीछे अपना हाथ रख दिया। मुझे पता तो चला लेकिन मैं तुरंत रिएक्ट नहीं कर पाई। मैं उन्हें संदेह दर्शाना चाहती थी लेकिन आपको पता है कि जब कुछ गलत होता है तो पता चल ही जाता है। आपको महसूस हो जाता है। मेरी बहन ने ये सब साफ देखा क्योंकि वो दूर नहीं खड़ी थी। उसने मुझे आकर पूछा कि क्या मैं ठीक हूँ। मैं बिलकुल ठीक नहीं थी।”

आगे उन्होंने लिखा,

“मैंं एक मिनट के लिए सन्न रह गई। मैं उनके पास गई लेकिन उन्होंने मुझे इग्नोर किया। मैं समझ गई कि इन्हें मालूम है कि मुझे पता चल चुका है। दोनों फौरन मेरे सामने से चले गए। मैं गुस्से में थी क्योंकि मैं कुछ कह नहीं पाई थी। मुझे कुछ सूझा ही नहीं। मैं और मेरी बहन, माँ व भाई के पास आए और सब्जी के काउंटर पर खड़े हो गए। वह लोग हमें तब भी फॉलो करते रहे। ”

एक्ट्रेस के मुताबिक,

“जब माँ और भाई चीजें समेट रहे थे और मैं बिल के लिए कार्ट ले जा रही थी, ये लोग मेरे पास आए और मुझसे व मेरी बहन से बात करने का प्रयास करने लगे। इन्होंने मेरे से बात करते हुए पास आने की कोशिश की। वह मेरी फिल्मों के नाम जानना चाहते थे। हम बिलकुल सकपका गए और उन लड़कों से उनके काम से काम रखने को कहा। जैसे ही मेरी माँ हमारे पास आईं वो दोनों चले गए। ”

घटना को साझा करते हुए एक्ट्रेस लिखती हैं कि वो उन्हें सैंकड़ों बातें कह सकती थीं जो उन्होंने नहीं कही। वह कहती हैं कि सोशल मीडिया पर इस घटना को लिख कर वह केवल राहत चाहती हैं। उन्होंने कहा कि वो जानती हैं कि ऐसे लोग ये सब दोबारा कर सकते हैं, इसलिए उन्हें गुस्सा आ रहा है। वह बताती है कि ये सब पहली दफा नहीं है जब उन्होंने ये सब अनुभव किया। हर बार यह सब अलग और मुश्किल होता है।

वह महिलाओं के समक्ष आने वाली चुनौतियों का जिक्र करते हुए कहती हैं,

“जब भी झुको या घूमों अपने कपड़े देखने पड़ते हैं। हाथों से अपने वक्ष को सुरक्षित रखना पड़ता है। सूची बहुत लंबी है। जब मैं घर में होती हूँ तो मुझे मेरी माँ, बहन, दोस्तों की चिंता रहती है जो यही सब करती हैं। ये सब सिर्फ बीमार पुरुषों के कारण होता है। इन लोगों ने हमसे हमारी सुरक्षा ले ली है। हमारी सहजता छीन ली है। तुमने हमसे हमारे स्त्रीत्व का आनंद छीन लिया है। मुझे तुमसे नफरत है। जो पुरुष इसे पढ़ रहे हैं, अगर तुमने कभी किसी महिला के साथ गलत किया तो तुम जीवन के सबसे निम्न स्तर पर होगे और तुम कुछ और नहीं बल्कि जहन्नुम ही डिजर्व करते हो। मैं आशा और प्रार्थना करती हूँ कि तुम्हें उन लोगों की तरह कभी किसी का सामना न करना पड़े। जो महिलाएँ इसे पढ़ रही हैं मैं उम्मीद करती हूँ कि जो हिम्मत मुझमें आज नहीं है उनमें वो हिम्मत हो, कि वो ऐसे पुरुषों के मुँह पर थप्पड़ मार सकें  ”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कॉन्ग्रेस ही लेकर आई थी कर्नाटक में मुस्लिम आरक्षण, BJP ने खत्म किया तो दोबारा ले आए: जानिए वो इतिहास, जिसे देवगौड़ा सरकार की...

कॉन्ग्रेस का प्रचार तंत्र फैला रहा है कि मुस्लिम आरक्षण देवगौड़ा सरकार लाई थी लेकिन सच यह है कि कॉन्ग्रेस ही इसे 30 साल पहले लेकर आई थी।

मुंबई के मशहूर सोमैया स्कूल की प्रिंसिपल परवीन शेख को हिंदुओं से नफरत, PM मोदी की तुलना कुत्ते से… पसंद है हमास और इस्लामी...

परवीन शेख मुंबई के मशहूर स्कूल द सोमैया स्कूल की प्रिंसिपल हैं। ये स्कूल मुंबई के घाटकोपर-ईस्ट इलाके में आने वाले विद्या विहार में स्थित है। परवीन शेख 12 साल से स्कूल से जुड़ी हुई हैं, जिनमें से 7 साल वो बतौर प्रिंसिपल काम कर चुकी हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe