Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाज'इस्लाम कबूल करो या मौत चुनो': 17 साल की हिन्दू लड़की ने की आत्महत्या,...

‘इस्लाम कबूल करो या मौत चुनो’: 17 साल की हिन्दू लड़की ने की आत्महत्या, कुछ दिन पहले ही जेल से छूट कर आए थे अदनान और अब्दुल, हिजाबी अन्नू सिंह भी धराई

ऑपइंडिया के पास अरोपिता अन्नू की तस्वीरें मौजूद हैं। तस्वीरों में वह हिजाब में दिख रही है। एक अन्य तस्वीर में वह किसी इस्लामी इबादतगाह के आगे खड़ी दिखाई दे रही है।

उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले में एक नाबालिग हिन्दू लड़की ने आत्महत्या कर लिया है। मृतका के पिता ने अदनान आफ़ताब, अब्दुल कयूम के साथ अन्नू सिंह नाम की एक लड़की पर अपनी बेटी को आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने इस मामले में FIR दर्ज कर के तीनों आरोपितों को हिरासत में ले लिया है। घटना शुक्रवार (20 अक्टूबर, 2023) की है।

यह घटना सीतापुर जिले के थाना क्षेत्र कोतवाली देहात की है। मृतका के पिता ने इस मामले में थाने में तहरीर दी है। तहरीर में उन्होंने बताया कि शुक्रवार को वो अपनी नौकरी करने चले गए थे। इसी दौरान उनकी पत्नी बच्चों को लाने स्कूल चली गई। सुबह लगभग 10:45 पर जब मृतका की माँ घर लौटी तो पाया कि उनकी 17 साल की बेटी फाँसी के फंदे से लटकी हुई है। जब तक लड़की को फंदे से उतारा गया तब तक उसकी जान निकल चुकी थी।

शिकायत में मृतका के पिता का आरोप है कि उनकी नाबालिग बेटी को लम्बे समय से अदनान आफ़ताब, अब्दुल कयूम के साथ अन्नू नाम की एक लड़की परेशान कर रही थी। इन सभी ने मिल कर पीड़िता पर कई बार इस्लामी धर्मांतरण का दबाव दिया जिस से वो अक्सर मानसिक तनाव में रहती थी। पीड़ित परिवार की तरफ से अदनान और कयूम पर 14 अगस्त, 2023 को छेड़खानी की FIR भी दर्ज करवाई गई थी। तब दोनों आरोपितों ने स्कूल से लौट रही पीड़िता से छेड़छाड़ की थी।

इस मामले में दोनों की गिरफ्तारी और कानूनी कार्रवाई भी हुई थी। पीड़िता के पिता ने आगे बताया कि उनके द्वारा दर्ज करवाई गई FIR में दोनों आरोपित जेल चले गए थे। कुछ दिनों बाद दोनों जेल से छूट कर आए तो वो लड़की पर केस में समझौते का दबाव बनाने लगे। जब लड़की ने इनकार किया तो उसकी एडिटेड फोटो-वीडियो वायरल करने की धमकियाँ दी जाने लगीं। लड़की के पिता के मुताबिक, उसको आरोपितों ने 2 रास्ते दिए थे – पहला इस्लाम कबूलने का और दूसरा मौत का।

अपनी बेटी को इन धमकियों से काफी परेशान बता कर मृतका के पिता ने आत्महत्या की वजह इसी दबाव को बताया है। ऑपइंडिया के पास FIR कॉपी मौजूद है। आखिरकार 20 अक्टूबर को लड़की ने फाँसी लगा कर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने पीड़िता के पिता की शिकायत पर अदनान आफ़ताब, अन्नू और अब्दुल कय्यूम पर IPC की धारा 306 और 506 के तहत FIR दर्ज कर लिया। तीनों आरोपितों को हिरासत में ले लिया गया है। पुलिस मामले की जाँच कर रही है।

ऑपइंडिया के पास अरोपिता अन्नू की तस्वीरें मौजूद हैं। तस्वीरों में वह हिजाब में दिख रही है। एक अन्य तस्वीर में वह किसी इस्लामी इबादतगाह के आगे खड़ी दिखाई दे रही है। सीतापुर जिले के पत्रकार अभिमन्यु सिंह ने ऑपइंडिया के मृतका के पिता से बातचीत की वीडियो भेजी। वीडियो में पीड़िता के पिता ने बताया कि तीनों आरोपित लगातार उनकी बेटी को फोन कर के तनाव दे रहे थे। मृतका के पिता ने तीनों आरोपितों के घर पर बुलडोजर चलवाने की भी माँग की है।

मृतका द्वारा की गई पहली FIR में लड़की के वकील ने बताया कि आरोपित अब्दुल कय्यूम और आफ़ताब अक्सर हिन्दू बन कर छेड़छाड़ की घटनाओं को अंजाम दिया करते थे। ये सभी कलावा आदि बाँधा करते थे। उन्होंने बताया कि लड़की द्वारा आरोपितों के खिलाफ कोर्ट में दिए गए बयान के बाद ही सभी आरोपित उसके पीछे पड़ गए थे। वकील ने इस घटना को ‘लव जिहाद’ बताया और शासन-प्रशासन से कठोर कार्रवाई की आशा जताई।

वकील ने दावा किया कि सीतापुर और आसपास के जिलों में कम से कम 5 से 10 हजार लड़कियाँ ‘लव जिहाद’ की शिकार बनी हैं जो एक गैंग द्वारा टारगेट की गईं हैं। उन्होंने कहा कि इसमें से कई लड़कियों ने तो धर्म परिवर्तन भी कर डाला है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -