Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाज80 करोड़ रुपए, 12 हेक्टेयर जमीन, 24 घंटे बिजली: जिस गाँव का 'सूर्य मंदिर'...

80 करोड़ रुपए, 12 हेक्टेयर जमीन, 24 घंटे बिजली: जिस गाँव का ‘सूर्य मंदिर’ अब तक था विश्व भर में प्रसिद्ध, PM मोदी ने उस ग्राम को बनाया देश का पहला ‘सोलर विलेज’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज इस गाँव को सोलर गाँव घोषित करते हुए कहा, " जिस मोढेरा को सदियों पहले मिट्टी में मिलाने के लिए आक्रांताओं ने क्या कुछ नहीं किया, जिस मोढेरा पर भाँति-भाँति के अत्याचार हुए। वो मोढेरा अब अपनी पौराणिकता के साथ-साथ आधुनिकता के लिए भी दुनिया में मिसाल बन रहा है।"

प्राचीन सूर्य मंदिर के लिए विश्व प्रसिद्ध मेहसाणा जिले के मोढेरा गाँव ने आज एक और उपलब्धि अपने नाम कर ली। पीएम मोदी ने रविवार (9 अक्टूबर 2022) को मोढेरा को देश का पहला ‘सोलर विलेज’ घोषित किया। यहाँ के सूर्य मंदिर से लेकर प्रत्येक घर में बिजली की आपूर्ति सौर ऊर्जा के माध्यम से होगी।

दरअसल, मेहसाणा जिले के मोढेरा गाँव के प्रत्येक घर की छत पर सोलर पैनल लगाए गए हैं। जिससे इस गाँव को 24 घंटे सौर पैनल से बिजली मिलेगी। इस गाँव को सोलर विलेज बनाने के लिए केंद्र और राज्य सरकार ने दो चरणों में सौर पैनल लगाए हैं। इस गाँव को आधुनिक पहचान दिलाने के लिए करीब 80.66 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं। इसके लिए राज्य सरकार ने 12 हेक्टेयर जमीन आवंटित की है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज इस गाँव को सोलर गाँव घोषित करते हुए कहा, ” जिस मोढेरा को सदियों पहले मिट्टी में मिलाने के लिए आक्रांताओं ने क्या कुछ नहीं किया, जिस मोढेरा पर भाँति-भाँति के अत्याचार हुए। वो मोढेरा अब अपनी पौराणिकता के साथ-साथ आधुनिकता के लिए भी दुनिया में मिसाल बन रहा है।”

विश्व प्रसिद्ध मोढेरा को सोलर विलेज बनाने के लिए मेहसाणा के सुजानपुरा में बैटरी एनर्जी स्टोरेज सिस्टम (BESS) के साथ एकीकृत सौर ऊर्जा परियोजना को अमल में लाया गया है। ग्राउंड माउंटेड सोलर पावर प्लांट लगाया गया है। ये सभी सोलर सिस्टम बैटरी एनर्जी स्टोरेज सिस्टम (बीईएसएस) से जुड़े हुए हैं।

इस सिस्टम को सूर्य मंदिर से सिर्फ 6 किलोमीटर की दूरी पर लगाया गया है। इससे मोढेरा को 24×7 यानी 24 घंटे और सातों दिन सौर ऊर्जा आधारित बिजली मिलेगी। इस परियोजना को ‘सोलराइजेशन ऑफ मोढेरा सन टेम्पल एंड टाउन’ नाम दिया गया है।

बता दें कि पीएम मोदी ने मोढेरा को सौलर विलेज घोषित करने के साथ गाँव को वैश्विक पर्यटन मानचित्र पर मजबूती के साथ पेश करने के लिए 3,900 करोड़ रुपए की अन्य कई योजनाओं की भी आधारशिला रखी।

मोढेरा गाँव की इस उपलब्धि पर सरपंच जतनबेन डी ठाकोर ने कहा है कि केंद्र सरकार व राज्य की इस परियोजना से सभी ग्रामीण बेहद खुश हैं। पहले यहाँ बिजली का बिल लगभग 1 हजार रुपये के आसपास आता था लेकिन अब यह लगभग शून्य हो गया है।

मोढेरा गाँव को सौर्य ऊर्जा आधारित बनाने पर गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने खुशी जताई है। उन्होंने कहा है कि गुजरात ने एक बार फिर से स्वच्छ व हरित ऊर्जा पैदा करने के प्रधानमंत्री के विजन को पूरा करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की है। 2030 तक अक्षय ऊर्जा के माध्यम से भारत की 50 फीसदी ऊर्जा आवश्यकताओं को पूरा करने के प्रधानमंत्री जी के संकल्प को पूरा करने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस भोजशाला को मुस्लिम कहते हैं कमाल मौलाना मस्जिद, वह मंदिर ही है: ASI ने हाई कोर्ट को बताया- मंदिरों के हिस्से पर बने...

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट को सौंपी गई रिपोर्ट में ASI ने कहा है कि भोजशाला का वर्तमान परिसर यहाँ पहले मौजूद मंदिर के अवशेषों से बनाया गया था।

भारतवंशी पत्नी, हिंदू पंडित ने करवाई शादी: कौन हैं JD वेंस जिन्हें डोनाल्ड ट्रम्प ने चुना अपना उपराष्ट्रपति उम्मीदवार, हमले के बाद पूर्व अमेरिकी...

पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को रिपब्लिकन पार्टी के नेशनल कंवेंशन में राष्ट्रपति और सीनेटर JD वेंस को उपराष्ट्रपति उम्मीदवार चुना है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -