Friday, July 12, 2024
Homeदेश-समाजB.Tech वाले लारेब हाशमी ने बस कंडक्टर का गला काटा: वीडियो वायरल, कहा -...

B.Tech वाले लारेब हाशमी ने बस कंडक्टर का गला काटा: वीडियो वायरल, कहा – ‘इंशाअल्लाह मार देंगे… हुकूमत मोदी-योगी की लेकिन राज सिर्फ मुस्तफा का’

"लब्बैक या रसूलअल्लाह हम जिएँगे आपके लिए, मरेंगे आपके लिए। इंशाअल्लाह मार देंगे। तो ये रसम है कि हुकूमत मोदी की है योगी की है, नहीं हमारे दिलों पर राज सिर्फ मुस्तफा का चलता है। इंशाअल्लाह अंतरिम मारेंगे।"

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले में बी-टेक के एक छात्र ने इंजीनियरिंग कॉलेज के बस कंडक्टर की गर्दन धारदार हथियार से काट दी है। आरोपित छात्र का नाम लारेब हाशमी है, जिसे पुलिस ने एक मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया है। हाशमी के पैर में पुलिस की गोली लगी है।

अपना वीडियो वायरल करके लारेब हाशमी ने कंडक्टर हरकेश विश्वकर्मा पर हमले की वजह उनके द्वारा किया गया इस्लाम का अपमान बताया है। हालाँकि बस ड्राइवर इसे किराए को लेकर हुआ विवाद बता रहे हैं। गंभीर रूप से घायल हरकेश का इलाज अस्पताल में चल रहा है। घटना शुक्रवार (24 नवंबर 2023) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह मामला प्रयागराज जिले के यमुना पार इलाके में थाना औद्योगिक क्षेत्र का है। शुक्रवार को सिविल लाइंस इलाके से एक इलेक्ट्रिक बस सवारी के साथ करछना की तरफ निकली। इस बस को ड्राइवर मंगला प्रसाद यादव चला रहे थे जबकि कंडक्टर के तौर पर 24 वर्षीय हरकेश विश्वकर्मा मौजूद थे। इसी बस में यूनिटेड इंजीनिरिंग कॉलेज में बी-टेक फर्स्ट ईयर का 20 वर्षीय छात्र लारेब हाश्मी भी सवार हुआ। बस चलने के थोड़े समय बाद कंडक्टर ने हाशमी से भाड़ा माँगा। ड्राइवर मंगला प्रसाद के मुताबिक किराया कम ज्यादा-होने के मुद्दे पर हाशमी और कंडक्टर में विवाद हो गया।

कुछ ही समय की बहस के बाद जब बस लारेब हाशमी के कॉलेज गेट पर पहुँची, तब उसने अपने बैग में छिपा हुआ चापड़ (धारधार हथियार) निकाल लिया। उसने सबके आगे ही कंडक्टर हरकेश पर ताबड़तोड़ वार किए। हमले के दौरान खासतौर पर कंडक्टर की गर्दन को निशाना बनाया गया।

अचानक हुए इस हमले से बाकी सवारियाँ दहशत में आ गईं। कोई कुछ समझ पाता, इससे पहले आरोपित अपने कॉलेज के गेट से अंदर घुस गया। बस कंडक्टर मंगला प्रसाद ने कुछ सहयोगियों के साथ हरकेश को अस्पताल में भर्ती करवाया।

फिलहाल हरकेश की हालत गंभीर है। उनका इलाज स्वरूप रानी अस्पताल प्रयागराज में चल रहा है। वहीं मामले की सूचना पर पुलिस ने हमलावर की तलाश शुरू की। उसे चांडी बंदरगाह के पास गिरफ्तार कर लिया गया। बाद में चापड़ बरामद करने के लिए उसे ले जाने के दौरान उसने छिपा कर रखी एक बंदूक से पुलिस पर हमला किया।

सतकर्ता की वजह से इस हमले में पुलिसकर्मी बाल-बाल बच गए। आरोपित को काबू करने के लिए आत्मरक्षा में चली गोली लारेब के पैर में लगी और वो घायल हो गया। फ़िलहाल लारेब का इलाज भी अस्पताल में करवाया जा रहा है।

वायरल वीडियो में बताया इस्लाम का अपमान

इस घटना के बाद एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है, जो आरोपित लारेब हाशमी का बताया जा रहा है। वायरल वीडियो में आरोपित इस्लामी वेशभूषा में दिख रहा है और अपने द्वारा किए गए हमले की वजह इस्लाम का अपमान बता रहा है।

वीडियो की शुरुआत में हाशमी ने कहा, “अस्सलाम वाले कुम रहमतुल्लाह बरकात हु। वो मुसलमानों को गाली दे रहा था। हजरत ए खालिद बिन वलीद रज़ी अल्लाह ताला अन्हु की बरकत से मैंने उस हरामजादे को मारा है। इंशाअल्लाह वो बचेगा नहीं। इंशाअल्लाह वो मरेगा।”

इसी वीडियो में आरोपित ने आगे कहा, “यहाँ से फनाज तक, पूरी दुनिया तक ये गरीब नवाज की दर का कुत्ता पैगाम दे रहा कि जिसने हुजूर के खिलाफ बात की है, लब्बैक या रसूलअल्लाह हम जिएँगे आपके लिए, मरेंगे आपके लिए। इंशाअल्लाह मार देंगे। तो ये रसम है कि हुकूमत मोदी की है योगी की है, नहीं हमारे दिलों पर राज सिर्फ मुस्तफा का चलता है। इंशाअल्लाह अंतरिम मारेंगे।”

इसी के साथ हमलावर कई बार लब्बैक का नारा लगाता है। वो बाकी मुस्लिमों से जान और माल हुजूर के लिए कुर्बान करने की भी अपील करता है। वीडियो के अंत में आरोपित अल्लाह हु अकबर के नारे लगाते हुए पंजाबी भाषा में बोलता है। हालाँकि ऑपइंडिया इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है। DCP यमुनापार के मुताबिक मामले की जाँच की जा रही है। लारेब मूलतः प्रयागराज के ही सोराँव इलाके का रहने वाला है। उसका अब्बा मुर्गी बेचता है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेपाल में गिरी चीन समर्थक प्रचंड सरकार, विश्वास मत हासिल नहीं कर पाए माओवादी: सहयोगी ओली ने हाथ खींचकर दिया तगड़ा झटका

नेपाल संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में प्रचंड मात्र 63 वोट जुटा पाए। जिसके बाद सरकार गिर गई।

उधर कॉन्ग्रेसी बक रहे गाली पर गाली, इधर राहुल गाँधी कह रहे – स्मृति ईरानी अभद्र पोस्ट मत करो: नेटीजन्स बोले – 98 चूहे...

सवाल हो रहा है कि अगर वाकई राहुल गाँधी को नैतिकता का इतना ज्ञान है तो फिर उन्होंने अपने समर्थकों के खिलाफ कभी कार्रवाई क्यों नहीं की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -