Thursday, July 25, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनHotshots ऐप बेच (सिर्फ फर्जी का) दिया था राज कुंद्रा ने... लेकिन मुंबई से...

Hotshots ऐप बेच (सिर्फ फर्जी का) दिया था राज कुंद्रा ने… लेकिन मुंबई से करते थे पूरा कंट्रोल, होती थी ₹60 लाख+ की कमाई

पुलिस को गुमराह करने के लिए राज कुंद्रा ने अपने ऐप 'हॉटशॉट्स' को बेच दिया था। जिसे बेचा था, वो उनका साला प्रदीप बक्शी है। बेचने के बाद भी वो मुंबई से इस ऐप को कंट्रोल कर रहे थे। पोर्न वीडियोज के लिए कुंद्रा ही कंटेट उपलब्ध करवाते थे।

पोर्न फ़िल्में बनाने और फिर उन्हें एप्स के जरिए बेचने के मामले में गिरफ्तार हुए कारोबारी राज कुंद्रा को लेकर पुलिस ने खुलासा किया है कि उन्होंने पुलिस को गुमराह करने के लिए अपने ऐप ‘हॉटशॉट्स’ को ब्रिटेन की कंपनी केनरिन प्राइवेट लिमिटेड को बेच दिया था। इस कंपनी का मालिक उनका साला प्रदीप बक्शी है।

पुलिस के मुताबिक कुंद्रा ‘हॉटशॉट्स’ ऐप के जरिए पोर्न वीडियोज की स्ट्रीमिंग में शामिल थे। उन्होंने वर्ष 2019 में अपने ऐप ‘हॉटशॉट्स’ को 25,000 डॉलर (18,65,410 रुपए) में बेच दिया था। हालाँकि यह सिर्फ जाँच को भटकाने के लिए था क्योंकि ऐप को बेचने के बाद भी वो मुंबई से इसे कंट्रोल कर रहे थे। पोर्न वीडियोज के लिए कुंद्रा ही कंटेट उपलब्ध करवाते थे। उन्होंने अपने वियान इंडस्ट्रीज के ऑफिस से यूके की फर्म को कंट्रोल किया था। फिलहाल, उसे मोबाइल से हटा लिया गया है।

मुंबई पुलिस ने कुंद्रा के ऑफिस से क्लिप समेत कई अन्य सबूतों के मिलने का दावा किया है। इस बीच कुंद्रा के वकीलों अबाद पोंडा और सुभाष जाधव ने क्रिमिनल प्रोसीजर कोड के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए उनकी गिरफ्तारी को अवैध करार दिया है।

पोर्न फिल्म से कुंद्रा ने कमाए लाखों

कुंद्रा को अदालत में मंगलवार को पेश किया गया था, जहाँ से उन्हें 23 जुलाई तक की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। क्राइम ब्रांच ने दावा किया है कि कई व्हाट्सएप चैट से पता चला है कि राज कुंद्रा (45) ऐप और इसके कंटेंट के वित्तीय लेनदेन में शामिल थे।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, व्यवसायी और उसके सहयोगियों ने बताया कि पोर्न फिल्म को लाइव कर 1.85 लाख रुपए और ऐप पर फिल्म को बेचकर 4.50 लाख रुपए से अधिक का लाभ कमाते थे। ऐप पर करीब 20 लाख रजिस्ट्रेशन के जरिए कुंद्रा ने 60 लाख रुपए (MTD रेवेन्यू, month to date revenue) की कमाई की थी। पुलिस ने अदालत में अपने रिमांड नोट में बताया है कि आरोपितों ने ऐप पर व्यूअर्स से मेंबरशिप शुल्क लिया था।

पुलिस के मुताबिक, राज कुंद्रा के ‘हॉटशॉट्स’ ऐप को उनकी ही कंपनी आर्म्स प्राइम प्राइवेट लिमिटेड ने बनाया था। कुंद्रा ने बॉलीवुड में स्ट्रगल कर रही मॉडल्स समेत दूसरों का फायदा उठाया और उन्होंने पोर्न फिल्मों में काम दिया। पुलिस ने यह भी कहा कि इस मामले में तीन महिलाओं ने शिकायत की है कि उन्हें अश्लील फिल्मों में अभिनय करने के लिए मजबूर किया गया था।

गौरतलब है कि पोर्न फिल्में बनाने और उन्हें ऐप पर अपलोड करने के आरोप में मुंबई पुलिस ने एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा समेत 11 लोगों को गिरफ्तार किया था। राज कुंद्रा के खिलाफ IPC और IT एक्ट के अलावा ‘स्त्री अशिष्ट रूपण प्रतिषेध अधिनियम (Indecent Representation of Women (Prohibition) Act)’ के तहत भी मामला दर्ज किया गया है।

गिरफ्तार किए गए लोगों में अभिनेता-अभिनेत्री से लेकर लाइटमैन, वीडियोग्राफर और ग्राफिक्स एडिटर के रूप में कार्य करने वाले लोग तक शामिल हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

देशद्रोही, पंजाब का सबसे भ्रष्ट आदमी, MeToo का केस… खालिस्तानी अमृतपाल का समर्थन करने वाले चन्नी की रवनीत बिट्टू ने उड़ाई धज्जियाँ, गिरिराज बोले...

रवनीत सिंह बिट्टू ने कहा कि एक पूर्व मुख्यमंत्री देशद्रोही की तरह व्यवहार कर रहा है, देश को गुमराह कर रहा है। गिरिराज सिंह बोले - ये देश की संप्रभुता पर हमला।

‘दरबार हॉल’ अब कहलाएगा ‘गणतंत्र मंडप’, ‘अशोक हॉल’ बना ‘अशोक मंडप’: महामहिम द्रौपदी मुर्मू का निर्णय, राष्ट्रपति भवन ने बताया क्यों बदला गया नाम

राष्ट्रपति भवन ने बताया है कि 'दरबार' का अर्थ हुआ कोर्ट, जैसे भारतीय शासकों या अंग्रेजों के दरबार। बताया गया है कि अब जब भारत गणतंत्र बन गया है तो ये शब्द अपनी प्रासंगिकता खो चुका है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -