Wednesday, July 17, 2024
Homeदेश-समाजBJP के जीत से गदगद बाबर ने बाँटी मिठाई, लगाया जय श्रीराम का नारा:...

BJP के जीत से गदगद बाबर ने बाँटी मिठाई, लगाया जय श्रीराम का नारा: नाराज आरिफ, ताहिद, परवेज ने उतार दिया मौत के घाट

बाबर के परिजनों ने बताया कि उनके पड़ोस में रहने वाले पट्टीदार उनसे इस बात पर नाराज थे कि आखिर वो भाजपा का प्रचार क्यों कर रहे हैं।

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में बाबर नाम के एक मुस्लिम व्यक्ति को पीट-पीट कर मार डाला गया। बाबर की गलती ये थी कि वह भाजपा की जीत की खुशी में मिठाई बाँट रहे थे। उनकी ये खुशी उन्हीं के समुदाय के लोगों से देखी नहीं गई और 20 मार्च को उन्हें इतना पीटा कि इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। हाल में उनका जब शव अपने गाँव पहुँचा, तो क्षेत्र के विधायक पीएन पाठक उन्हें कंधा देने घर गए। साथ ही आरोपितों के विरुद्ध कार्रवाई कराने के निर्देश दिए।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बाबर के परिजनों ने बताया कि उनके पड़ोस में रहने वाले पट्टीदार उनसे इस बात पर नाराज थे कि आखिर वो भाजपा का प्रचार क्यों कर रहे हैं। कई बार इन लोगों ने बाबर को भाजपा का प्रचार करने से मना किया था और धमकियाँ भी दी थीं। जिसके कारण बाबर ने रामकोला थाने से लेकर कई अधिकारियों तक के पास सुरक्षा की माँग की, मगर तब उनकी बात गंभीरता से नहीं ली गई। 20 मार्च को उन्हीं पट्टीदारों ने बाबर को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। बाद में उन्हें छत से नीचे फेंक दिया।

बाबर की बीवी ने इस बाबत थाने में शिकायत दी जिसके आधार पर पट्टीदारों पर केस दर्ज हुआ। अब कसया एसडीएम ने बताया है कि वे मामले की जाँच कर रहे हैं और आरोपितों की गिरफ्तारी की जाएगी। इलाके के भाजपा एमएलए पीएन पाठक भी बाबर का शव घर आने के बाद उन्हें कंधा देने मौके पर पहुँचे और आरोपितों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए।

श्रीराम का नारा सुन भड़के बाबर के परिजन

गौरतलब है कि बाबर के परिजनों के मुताबिक विधानसभा चुनाव में बाबर भाजपा के समर्थन में प्रचार कर रहे थे। उन्होंने 10 मार्च को नतीजे घोषित होने के बाद मिठाई भी बाँटी थी। मुस्लिम होने के बाद भी बीजेपी को समर्थन देना उनके पट्टीदारों को नागवार गुजरा और मौका देख उन्होंने बाबर के साथ निर्मम ढंग से मारपीट की। बताया जा रहा है कि 20 मार्च को जब उन पर हमला हुआ तब उन्होंने जय श्रीराम का नारा लगा दिया था। इसी को सुनकर उनके आसपास रहने वाले परिजन बिदक गए और अजीमुल्लाह, आरिफ, ताहिद, परवेज ने साथियों के साथ मिलकर उनपर हमला किया। जब जान बचाने के लिए बाबर छत पर भागे तो ये लोग वहाँ भी पहुँच गए और बुरी तरह पीटने के बाद उन्हें छत से फेंक दिया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अमेरिकी राजनीति में नहीं थम रहा नस्लवाद और हिंदू घृणा: विवेक रामास्वामी और तुलसी गबार्ड के बाद अब ऊषा चिलुकुरी बनीं नई शिकार

अमेरिका में भारतीय मूल के हिंदू नेताओं को निशाना बनाया जाना कोई नई बात नहीं है। निक्की हेली, विवेक रामास्वामी, तुलसी गबार्ड जैसे मशहूर लोग हिंदूफोबिया झेल चुके हैं।

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -