Thursday, July 25, 2024
HomeराजनीतिTMC समर्थकों ने BJP जिला सचिव को मारी गोली: बोले दिलीप घोष, बंगाल पुलिस...

TMC समर्थकों ने BJP जिला सचिव को मारी गोली: बोले दिलीप घोष, बंगाल पुलिस की मौजूदगी में हुआ हमला

भाजपा की बंगाल ईकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, "दास हमारी पार्टी के बहुत सक्रिय कार्यकर्ता हैं। उन्होंने स्थानीय पंचायत सदस्यों के अवैध कृत्य के खिलाफ विरोध किया। जब सत्ता पक्ष के समर्थकों ने हमला किया तो पुलिस मूकदर्शक बनकर खड़ी रही।"

पश्चिम बंगाल के पूर्वी मिदनापुर जिले के खजूरी में सत्तारुढ़ तृणमूल कॉन्ग्रेस के समर्थकों और भारतीय जनता पार्टी के समर्थकों के बीच हुई झड़प के दौरान भाजपा के जिला सचिव को गोली मार दी गई। गोली भाजपा सचिव के बाएँ हाथ में लगी।

घटना रविवार (जून 28, 2020) दोपहर की है। स्थानीय पुलिस द्वारा की गई शुरुआती जाँच में पता चला कि यह घटना तब घटी जब भाजपा समर्थकों का समूह ने पार्टी के जिला सचिव पबित्रा दास के नेतृत्व में स्थानीय तृणमूल पंचायत के फैसले के खिलाफ प्रदर्शन किया। पंचायत ने फ्लोटिंग टेंडर के बिना चक्रवात अम्फान में उखड़े पेड़ों को बेचने का कथित तौर पर फैसला लिया था।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “जब भाजपा कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे थे तो तृणमूल कॉन्ग्रेस के समर्थक वहाँ इकट्ठे हो गए। कुछ ही समय में दोनों समूहों के बीच झड़प शुरू हो गई।”

पुलिस अधिकारी ने बताया कि झड़प के दौरान पबित्रा दास के बाएँ हाथ में गोली लगी। वो वहीं पर गिर पड़े। जब बीजेपी के समर्थक वहाँ पर पहुँचे तो उन्होंने उनके हाथ से खून निकलते देखा। दास को तुरंत स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया।

पुलिस ने कहा कि नंदीग्राम से सटे खजुरी में कई मकानों में तोड़फोड़ की गई, जो वाम मोर्चा शासन के दौरान बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व में बड़े पैमाने पर भूमि अधिग्रहण आंदोलन का गवाह बना।

भाजपा की बंगाल ईकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने आरोप लगाया कि तृणमूल समर्थकों ने पुलिसकर्मियों की उपस्थिति में दास और अन्य भाजपा समर्थकों पर हमला किया। उन्होंने कहा, “दास हमारी पार्टी के बहुत सक्रिय कार्यकर्ता हैं। उन्होंने स्थानीय पंचायत सदस्यों के अवैध कृत्य के खिलाफ विरोध किया। जब सत्ता पक्ष के समर्थकों ने हमला किया तो पुलिस मूकदर्शक बनकर खड़ी रही।”

पूर्वी मिदनापुर के कोंताई में तृणमूल कॉन्ग्रेस के सांसद शिशिर अधिकारी ने कहा कि उनकी पार्टी का कोई भी समर्थक घटना में शामिल नहीं था।

गौरतलब है कि पिछले दिनों पश्चिम बंगाल के सोनारपुर में बीजेपी नेता नारायण विश्वास की नृशंस हत्या कर दी गई। पहले मृतक को गोली मारी गई और जब वो जख्मी होकर नीचे गिर गए, तो हमलावरों ने धारदार हथियार से उनकी हत्या कर दी।

बंगाल के बीरभूम के नानूर इलाके में 47 वर्षीय भाजपा कार्यकर्ता शंकरी बागड़ी की 21 अक्टूबर 2019 को टीएमसी कार्यकर्ताओं ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। झड़प में 6 अन्य भाजपा समर्थक भी घायल हो गए थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

माजिद फ्रीमैन पर आतंक का आरोप: ‘कश्मीर टाइप हिंदू कुत्तों का सफाया’ वाले पोस्ट और लेस्टर में भड़की हिंसा, इस्लामी आतंकी संगठन हमास का...

ब्रिटेन के लेस्टर में हिन्दुओं के विरुद्ध हिंसा भड़काने वाले माजिद फ्रीमैन पर सुरक्षा एजेंसियों ने आतंक को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है।

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -