Friday, May 24, 2024
Homeराजनीति'इसे मार डालो.. चलो ख़त्म करें.. किसी को पता नहीं चलना चाहिए': कॉन्ग्रेस नेता...

‘इसे मार डालो.. चलो ख़त्म करें.. किसी को पता नहीं चलना चाहिए’: कॉन्ग्रेस नेता का वीडियो वायरल, भाजपा MLA की हत्या की साजिश का आरोप

यह तीन मिनट की वीडियो क्लिप है जिसमें कॉन्ग्रेस नेता को एक अन्य व्यक्ति के साथ बातचीत करते हुए देखा जा सकता है। लह कहता है, "इसे मार डालो विधायक को खत्म करो।"

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक एसआर विश्वनाथ की हत्या की साजिश रचने की चर्चा से जुड़ा सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हुआ है। इसमें कॉन्ग्रेस नेता बेलूर गोपालकृष्ण किसी अन्य व्यक्ति से भाजपा विधायक की हत्या की योजना के बारे में बात करते हुए सुने जा सकते हैं।

दावा है कि वीडियो में विधायक एसआर विश्वनाथ की हत्या की योजना बनाते हुए दिखाया गया है, जो कर्नाटक विधानसभा में बेंगलुरु के येलहंका का प्रतिनिधित्व करते हैं। इस वीडियो में की जा रही चर्चा कन्नड़ भाषा में है और कुल्ला देवराज का जिक्र किया गया है। वीडियो में हत्या के समय की चर्चा जाहिर तौर पर हो रही है। वीडियो में एक पूर्व पुलिस अधिकारी फोन पर बात करते हुए देखा गया है। बताया जा रहा है कि गोपालकृष्ण और देवराज को हिरासत में ले लिया गया है।

यह तीन मिनट की वीडियो क्लिप है जिसमें कॉन्ग्रेस नेता को एक अन्य व्यक्ति के साथ बातचीत करते हुए देखा जा सकता है। लह कहता है, “इसे मार डालो विधायक को खत्म करो। ठीक है। चलो खत्म करें, किसी को पता नहीं होना चाहिए…यह हमारे बीच होना चाहिए।” कॉन्ग्रेस नेता ने इसके लिए 1 करोड़ रुपए देने की भी बात कही। पुलिस ने कहा कि वीडियो में तारीख नहीं था और वे आगे की कार्रवाई के लिए मामले की जाँच कर रहे थे।

कर्नाटक के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने कहा, “राज्य पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया है… विश्वनाथ ने भी मुझसे इस मुद्दे पर बात की।” अरागा ज्ञानेंद्र ने आगे कहा, “मुझे कल रात वीडियो के बारे में पता चला। पुलिस FIR दर्ज करने पर फैसला करेगी। हम (उसे) सुरक्षा देने के बारे में सोचेंगे। खुफिया विभाग (विश्वनाथ को सुरक्षा देने पर) फैसला करेगा। पुलिस फिलहाल मामले की जाँच कर रही है।”

इस घटना के बारे में बात करते हुए सीएम बसवराज बोम्मई ने कहा है, “मुझे अभी तक इस घटना के बारे में पता नहीं है। जल्द ही संबंधित अधिकारियों से बात करूँगा। इस बारे में मैं खुद विश्वनाथ से बात करूँगा।” उन्होंने आगे कहा कि वो देखेंगे कि उसके आधार पर क्या कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -