Thursday, July 29, 2021
Homeराजनीतिकॉन्ग्रेस पार्टी के विपरीत जाकर अधीर रंजन चौधरी ने की कोरोना जंग में मोदी...

कॉन्ग्रेस पार्टी के विपरीत जाकर अधीर रंजन चौधरी ने की कोरोना जंग में मोदी सरकार की तारीफ, कहा- ग्लोबल लीडर बनेगा भारत

"हिंदुस्तान में जहाँ 130 करोड़ आबादी है वहाँ सरकार, राज्य सरकार, डॉक्टर और बाकी प्रतिष्ठानों ने अच्छा काम किया है। जब हम अमेरिका, यूरोप को देखते हैं तब पता चलता है कि हम उन लोगों से काफी आगे निकल चुके हैं। अगर इस मौके को इसी ढंग से हमने इस्तेमाल किया तो भारत आगे निकल जाएगा। आने वाले दिनों में भारत रैंकिंग में कहाँ से कहाँ पहुँच जाएगा।"

कोरोना वायरस से निपटने के लिए की गई तैयारियों को लेकर जहाँ कॉन्ग्रेस पार्टी केन्द्र सरकार को घेरती रहती है। वहीं कॉन्ग्रेस नेता और लोकसभा में नेता विपक्ष अधीर रंजन चौधरी ने मोदी सरकार की तारीफ की है। अधीर रंजन चौधरी ने माना कि सरकार और मेडिकल स्टाफ बाकी दुनिया के मुकाबले भारत में अच्छा काम कर रहा है और कहा कि जिस तरह से अब तक देश इस बीमारी से निपटा है उसको देखते हुए अगर कोरोना संकट से भारत बाहर निकलता है भारत ग्लोबल लीडर भी बन सकता है।

अधीर रंजन चौधरी ने कोरोना वायरस और भारत पर बात करते हुए कहा, “हिंदुस्तान में जहाँ 130 करोड़ आबादी है वहाँ सरकार, राज्य सरकार, डॉक्टर और बाकी प्रतिष्ठानों ने अच्छा काम किया है। जब हम अमेरिका, यूरोप को देखते हैं तब पता चलता है कि हम उन लोगों से काफी आगे निकल चुके हैं। अगर इस मौके को इसी ढंग से हमने इस्तेमाल किया तो भारत आगे निकल जाएगा। आने वाले दिनों में भारत रैंकिंग में कहाँ से कहाँ पहुँच जाएगा। अगर हम कोरोना से लड़ने के लिए ऐसे ही ठोस कदम उठाते रहे तो आने वाले दिनों में भारत एक मॉडल देश के रूप में उभरने की संभावना है। भारत ग्लोबल लीडर बनेगा।”

गौरतलब है कि इससे पहले कॉन्ग्रेस पार्टी वक्त-वक्त पर सरकार की तैयारियों को नाकाफी बता चुकी है। कॉन्ग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर लॉकडाउन की तुलना नोटबंदी से भी की थी।

सोनिया ने शनिवार को लिखे पत्र में MSME सेक्टर की परेशानियों का जिक्र किया था। उन्होंने कहा कि इस सेक्टर का जीडीपी में योगदान एक तिहाई है और 11 करोड़ लोग काम करते हैं। दूसरी तरफ राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी लगातार कह रहे हैं कि सरकार लॉकडाउन से कोरोना को सिर्फ रोक सकती है, उसे खत्म करने के लिए बड़े पैमाने पर टेस्टिंग की कमी है। गौरतलब है कि इससे पहले कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी और मिलिंद देवड़ा भी मोदी सरकार की तारीफ कर चुके हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कोरोना से अनाथ हुई लड़कियों के विवाह का खर्च उठाएगी योगी सरकार: शादी से 90 दिन पहले/बाद ऐसे करें आवेदन

योजना का लाभ पाने के लिए लड़कियाँ खुद या उनके माता/पिता या फिर अभिभावक ऑफलाइन आवेदन करेंगे। इसके साथ ही कुछ जरूरी दस्तावेज लगाने आवश्यक होंगे।

बंगाल की गद्दी किसे सौंपेंगी? गाँधी-पवार की राजनीति को साधने के लिए कौन सा खेला खेलेंगी सुश्री ममता बनर्जी?

ममता बनर्जी का यह दौरा पानी नापने की एक कोशिश से अधिक नहीं। इसका राजनीतिक परिणाम विपक्ष को एकजुट करेगा, इसे लेकर संदेह बना रहेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,780FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe