Sunday, July 21, 2024
Homeराजनीतिराजस्थान के बर्खास्त मंत्री की 'लाल डायरी' में CM अशोक गहलोत के बेटे का...

राजस्थान के बर्खास्त मंत्री की ‘लाल डायरी’ में CM अशोक गहलोत के बेटे का नाम, दावा – विधायकों की खरीद-फरोख्त और क्रिकेट चुनाव का पूरा हिसाब-किताब है दर्ज

गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा है कि जिस तरह से लाल डायरी को राजेंद्र सिंह गुढ़ा से छीनने के लिए कॉन्ग्रेस नेताओं में होड़ लगी थी, इससे लगता है कि दाल में कुछ लाल नहीं तो काला तो ज़रूर है।

राजस्थान विधानसभा में मंत्री राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने अपनी ही सरकार को आईना दिखाते हुए कहा कि राजस्थान महिलाओं के खिलाफ अपराध में नंबर वन है, ऐसे में मणिपुर पर बहस करने से पहले हमें खुद की गिरेबान में झाँकना चाहिए। इसके कुछ ही घटों बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया। अब उन्होंने विधानसभा में कॉन्ग्रेस के मंत्रियों द्वारा पटक कर पीटे जाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि वो ‘लाल डायरी’ स्पीकर की टेबल पर रखना चाहते थे, लेकिन उनसे वो छीन ली गई।

वहीं अब भाजपा ने बड़ा दावा किया है कि राजेंद्र गुढ़ा के हिसाब से इस डायरी में सीएम अशोक गहलोत के बेटे वैभव का भी नाम है। बता दें कि वैभव गहलोत ‘राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन’ के अध्यक्ष हैं। राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने कहा कि इस डायरी का आधा हिस्सा उनसे छीन लिया गया और उसका आधा हिस्सा अब भी उनके पास है। उन्होंने कहा कि इस डायरी में विधायकों की खरीद-फरोख्त के साथ-साथ क्रिकेट के चुनाव में किसे कितने रुपए दिए और क्या काले कारनामे हुए गए इन सबका हिसाब है।

उन्होंने चेताया कि इस संबंध में और खुलासे आगे भी करने वाले हैं। केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने भी इस पर हमला बोलते हुए कहा है कि आज राजेंद्र सिंह गुढ़ा विधानसभा में एक लाल डायरी लेकर पहुँचे थे, उन्होंने मीडिया और सोशल मीडिया के माध्यम से बताया कि था कि कल वह एक लाल डायरी लेकर आएँगे। शेखावत ने कहा कि इस लाल डायरी से सरकार की चूलें हिल जाएँगी, सरकार गिर जाएगी।

राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने तो यहाँ तक कहा कि कॉन्ग्रेस के सारे के सारे नेता बलात्कारी हैं और अगर महिलाओं के साथ दुष्कर्म की कोई डिग्री होती तो इन्हें अब तक Ph.D मिल गई होती। उन्होंने शांति धारीवाल और महेश जोशी जैसे कॉन्ग्रेसी मंत्रियों का नार्को टेस्ट कराने की भी माँग की, ताकि पता चले कि कितनी महिलाओं के साथ इनके संबंध हैं। वहीं गजेंद्र शेखावत ने कहा कि इस लाल डायरी का रहस्य क्या है, ये आज राजस्थान का हर व्यक्ति जानना चाहता है।

उन्होंने कहा कि जिस तरह विधानसभा में राजेन्द्र गुढ़ा से लाल डायरी छीनने की कोशिश की गई, उससे साफ है कि दाल में कुछ ना कुछ काला ज़रूर है। उन्होंने गहलोत सरकार से पूछा कि उस लाल डायरी में क्या है, इसका खुलासा करें। उन्होंने कहा कि राजस्थान में अशोक गहलोत के एक विश्वासपात्र के घर छापेमारी में लाल डायरी मिली थी, जिसे IT अधिकारियों से छीन लिया गया था और पुलिस की इसमें मिलीभगत थी। राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने उस लाल डायरी में 500 करोड़ रुपए का हिसाब-किताब होने का दावा किया है।

गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा है कि जिस तरह से लाल डायरी को राजेंद्र सिंह गुढ़ा से छीनने के लिए कॉन्ग्रेस नेताओं में होड़ लगी थी, इससे लगता है कि दाल में कुछ लाल नहीं तो काला तो ज़रूर है। उन्होंने कहा कि राजस्थान की जनता के पैसों को लूट कर कौन-कौन गुलछर्रे उड़ा रहे थे, इसका खुलासा होना चाहिए। BJYM के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष हिमांशु शर्मा ने भी कहा कि मुख्यमंत्री के बेटे वैभव गहलोत को राजस्थान क्रिकेट अकादमी के अध्यक्ष बनाने में हुए भ्रष्टाचार की कहानी भी लाल किताब में छुपी हुई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मध्य प्रदेश और बिहार में भी काँवर यात्रा मार्ग में ढाबों-ठेलों पर लिखा हो मालिक का नाम’: पड़ोसी राज्यों में CM योगी के फैसलों...

रमेश मेंदोला ने कहा कि नाम बताने में दुकानदारों को शर्म नहीं बल्कि गर्व होना चाहिए। हरिभूषण ठाकुर बचौल बोले - विवादों से छुटकारा मिलेगा।

‘लैंड जिहाद और लव जिहाद को बढ़ावा दे रही हेमंत सोरेन की सरकार’: झारखंड में गरजे अमित शाह, कहा – बिगड़ रहा जनसंख्या का...

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर 'भूमि जिहाद', 'लव जिहाद' को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए उन पर तीखा हमला किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -