Tuesday, September 21, 2021
Homeराजनीतिखोपड़ियों के ढेर पर इंदिरा गाँधी: सिद्धू के सलाहकार ने शेयर किया आपत्तिजनक स्केच,...

खोपड़ियों के ढेर पर इंदिरा गाँधी: सिद्धू के सलाहकार ने शेयर किया आपत्तिजनक स्केच, कश्मीर को बताया था अलग मुल्क

सीएम अमरिंदर ने कहा कि डॉक्टर प्यारे लाल गर्ग और मलविंदर सिंह माली सिर्फ प्रदेश कॉन्ग्रेस कमिटी के अध्यक्ष को सलाह देने तक ही खुद को सीमित रखें तो बेहतर है।

पंजाब में कॉन्ग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू अपने सलाहकारों के कारण विवाद में आ गए हैं। हाल ही में पंजाब में कॉन्ग्रेस ने अपनी कलह सुलझाई है, लेकिन मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह और सिद्धू के बीच का मनमुटाव ख़त्म होने का नाम नहीं ले रहा। इसी बीच सिद्धू के सलाहकारों की हरकतों पर कैप्टेन ने नसीहत भी दी है। इसके साथ ही पंजाब कॉन्ग्रेस में फिर से खींचतान शुरू हो गई है।

सिद्धू के सलाहकार मलविंदर सिंह माली की दो अलग-अलग फेसबुक पोस्ट पर विवाद हुआ था। उन्होंने न सिर्फ जम्मू कश्मीर, बल्कि कॉन्ग्रेस की दिवंगत नेता व पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी पर भी विवादित पोस्ट कर डाला। जहाँ एक तरफ कश्मीर को उन्होंने अलग देश बता डाला तो वहीं इंदिरा गांधी का एक आपत्तिजनक स्केच सोशल मीडिया पर शेयर किया। इससे नाराज़ कैप्टेन ने सिद्धू को सलाह दी है।

सीएम अमरिंदर ने कहा कि डॉक्टर प्यारे लाल गर्ग और मलविंदर सिंह माली सिर्फ प्रदेश कॉन्ग्रेस कमिटी के अध्यक्ष को सलाह देने तक ही खुद को सीमित रखें तो बेहतर है। उन्होंने कहा कि ये संवेदनशील मुद्दे हैं, इसीलिए इन पर वो अधूरा ज्ञान रख कर न बोलें। उन्होंने कहा कि जिस चीज के बारे में जानकारी न हो, उस पर नहीं बोलना चाहिए। कैप्टेन ने माली के बयान को देशविरोधी बताते हुए कहा कि इससे माहौल खराब हो सकता है।

उन्होंने इसे देश विरोधी काम बताया। हालाँकि, इतना विवाद होने के बावजूद भी माली ने अपना बयान वापस नहीं लिया है। सीएम कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने कहा, “सिद्धू के सलाहकार वास्तविकता से कोसों दूर हैं। उन्हें जमीनी हकीकत नहीं पता है। ये हर किसी को पता है कि पाकिस्तान हमारे के लिए असल खतरा है। वहाँ से लगातार हथियार लाए जाते हैं, पंजाब में ड्रग्स की सप्लाई की जाती है। इसका इस्तेमाल पंजाब को अस्थिरता की ओर धकेलने के लिए होता है।

सीएम ने याद दिलाया कि कैसे हमारे सैनिक भी बॉर्डर पर शहीद हो रहे हैं। उन्होंने 80 के दशक का दौर भी याद दिलाया, जब कई लोगों को आतंकवाद के कारण अपनी जान गँवानी पड़ी थी। माली ने फेसबुक के अपने कवर पेज पर 1990 के आसपास प्रकाशित होने वाली एक मैगजीन ‘जनतक पैगाम’ के मुख्य पृष्ठ का फोटो लगाया है। इसमें इंदिरा गाँधी को हाथ में बंदूक लिए दिखाया गया है, जिसके एक सिरे पर खोपड़ी लटक रही है।

इस कार्टून में इंदिरा गांधी के पीछे भी खोपडियों का ढेर लगा हुआ है और इस पेज पर पंजाबी में लिखा है, “हर जबर दी इही कहाणी, करना जबर ते मुँह दी खाणी’, अर्थात ‘हर जुल्म करने वाले की यही कहानी है अंत में उसे मुँह की खानी पड़ती है।’ एक तरह से उन्होंने सिख दंगों के लिए कॉन्ग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए और स्वर्ण मंदिर में हुए ऑपरेशन ब्लू स्टार के लिए इंदिरा गाँधी का ये स्केच शेयर किया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज योगेश है, कल हरीश था: अलवर में 2 साल पहले भी हुई थी दलित की मॉब लिंचिंग, अंधे पिता ने कर ली थी...

आज जब राजस्थान के अलवर में योगेश जाटव नाम के दलित युवक की मॉब लिंचिंग की खबर सुर्ख़ियों में है, मुस्लिम भीड़ द्वारा 2 साल पहले हरीश जाटव की हत्या को भी याद कीजिए।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालत में मौत: पंखे से लटकता मिला शव, बरामद हुआ सुसाइड नोट

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालात में मौत हो गई है। महंत का शव बाघमबरी मठ में सोमवार को फाँसी के फंदे से लटकता मिला।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,473FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe