Monday, July 15, 2024
Homeराजनीति'मैडम सोनिया जी रहेंगी अध्यक्ष... या BJP के खिलाफ अकेले लड़ने वाले श्री राहुल...

‘मैडम सोनिया जी रहेंगी अध्यक्ष… या BJP के खिलाफ अकेले लड़ने वाले श्री राहुल जी बनेंगे’ – AICC (SC) का फैसला

"राहुल गाँधी यंग विजनरी लीडर हैं। वो देश की जनता के लिए ईमानदारी के साथ खड़े हुए और BJP सरकार के खिलाफ (जो आम आदमी के अधिकारों को कुचल रही है) अकेले लड़े। इसलिए सोनिया गाँधी के विकल्प के तौर पर सिर्फ और सिर्फ..."

बस कुछ घंटे बाद… यानी सोमवार (24 अगस्त 2020) को कॉन्ग्रेस कार्यसमिति की बैठक है। लेकिन इसी कॉन्ग्रेस के एक धड़े ने गाँधी परिवार (माँ-बेटे) पर मुहर लगा दी है।

अखिल भारतीय कॉन्ग्रेस कमिटी (एआईसीसी) की अनुसूचित जाति (SC) संभाग ने स्पष्ट कर दिया है कि सोनिया गाँधी को ही कॉन्ग्रेस अध्यक्ष रहना चाहिए। क्यों रहना चाहिए? इसका भी तर्क AICC (SC) ने दे दिया है।

AICC (SC) ने रविवार (23 अगस्त को, कॉन्ग्रेस कार्यसमिति की बैठक से ठीक एक दिन पहले) को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से एक मीटिंग की। मीटिंग में कहा गया कि सोनिया गाँधी ने सबसे महत्वपूर्ण समय में पार्टी का नेतृत्व किया था, पार्टी को सत्ता में लाया था और एक दशक तक नेतृत्व किया था।

सोनिया गाँधी के विकल्प के तौर पर अखिल भारतीय कॉन्ग्रेस कमिटी (एआईसीसी) की अनुसूचित जाति (SC) संभाग ने यह भी स्पष्ट कर दिया कि पार्टी अध्यक्ष के तौर पर सिर्फ और सिर्फ राहुल गाँधी को ही देखते हैं। क्यों? सिर्फ राहुल गाँधी ही क्यों?

AICC (SC) ने राहुल गाँधी को अध्यक्ष के तौर पर देखने के पीछे तर्क दिया कि वो यंग विजनरी लीडर हैं। राहुल गाँधी देश की जनता के लिए ईमानदारी के साथ खड़े हुए और BJP सरकार के खिलाफ (जो आम आदमी के अधिकारों को कुचल रही है) अकेले लड़े।

कॉन्ग्रेस कार्यसमिति की बैठक से ठीक एक दिन पहले अनुसूचित जातियों की लॉबी ने गाँधी परिवार के लिए पासा क्यों फेंका? क्या इसका उन 23 बड़े नेताओं के द्वारा सोनिया गाँधी को लिखे पत्र से कोई कनेक्शन है? क्या प्रियंका गाँधी वाला ‘गैर गाँधी अध्यक्ष’ इंटरव्यू या राहुल गाँधी का अध्यक्ष न बनने की जिद सिर्फ एक जुमला भर था? जनता देख रही है, चंद घंटों में सब क्लियर हो जाएगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -