Friday, July 19, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयमुस्लिम मुल्क में पहले हिंदू मंदिर का उद्घाटन कर कतर जाएँगे PM मोदी, पूर्व...

मुस्लिम मुल्क में पहले हिंदू मंदिर का उद्घाटन कर कतर जाएँगे PM मोदी, पूर्व नौसैनिकों की रिहाई के बाद MEA ने दी जानकारी

भारत के विदेश सचिव विनय मोहन क्वात्रा ने बताया है कि अपनी यूएई यात्रा पूरी कर प्रधानमंत्री कतर के लिए रवाना हो जाएँगे। वे कतर के अमीर शेख तमीम बिन हमद अल थानी और अन्य गणमान्य व्यक्तियों के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। पीएम मोदी की यह दूसरी कतर यात्रा होगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 फरवरी 2024 को कतर जाएँगे। उनकी यात्रा को लेकर यह जानकारी ऐसे समय में सामने आई है, जब कतर ने फाँसी की सजा पाए पूर्व भारतीय नौसैनिकों को रिहा कर दिया है। भारतीय विदेश मंत्रालय के अनुसार अबू धाबी से पीएम कतर रवाना होंगे। पीएम का संयुक्त अरब अमीरात दौरा 13 फरवरी से शुरू हो रहा है। वे इस इस्लामी मुल्क में पहले हिंदू मंदिर का उद्घाटन करेंगे।

भारत के विदेश सचिव विनय मोहन क्वात्रा ने सोमवार (12 फरवरी 2024) को मीडिया से बात करते हुए कहा कि 14 फरवरी की दोपहर अपनी यूएई यात्रा पूरी कर प्रधानमंत्री कतर के दोहा के लिए रवाना हो जाएँगे। इस दौरान वे कतर के अमीर शेख तमीम बिन हमद अल थानी और अन्य गणमान्य व्यक्तियों के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। क्वात्रा ने बताया कि यह पीएम मोदी की दूसरी कतर यात्रा होगी। इससे पहले वे जून 2016 में कतर की यात्रा पर गए थे। विदेश सचिव ने पीएम मोदी की इस यात्रा के बाद भारत और कतर के बीच विभिन्न स्तरों पर हुई बातचीत, द्विपक्षीय संबंधों की मजबूती और दोनों देशों के बीच बढ़ते कारोबारी संबंधों का भी जिक्र किया।

कतर के लिए रवाना होने से पहले PM मोदी अबू धाबी में 14 फरवरी को स्वामीनारायण मंदिर का उद्घाटन करेंगे। अपने दो दिवसीय दौरे पर वे UAE के राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान के साथ द्विपक्षीय बातचीत भी करेंगे। बता दें कि पिछले 8 महीने में पीएम मोदी की UAE की यह तीसरी यात्रा है। स्वामीनारायण मंदिर के उद्घाटन के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 फरवरी 2024 को ‘अहलान मोदी’ कार्यक्रम में भारतीय प्रवासियों को भी संबोधित करेंगे।

गौरतलब है कि कतर में 8 भारतीयों को मौत की सजा के मामले में भारत सरकार को बड़ी राजनयिक जीत मिली है। फाँसी की सजा पाने वाले नौसेना के सभी 8 पूर्व अधिकारियों को रिहा कर दिया गया है। इनमें से 7 भारत वापस आ चुके हैं। कुछ समय पहले ही इनकी फाँसी की सजा पर कतर की अदालत ने रोक लगाई थी। अब कतर के अमीर के हस्तक्षेप के बाद सभी 8 लोगों को जेल से आजादी मिल गई है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने कतर के अमीर के इस फैसले पर खुशी जताई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -