Sunday, September 19, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयइजरायल ने 34 आतंकियों को मार डाला... 200 रॉकेट दागने वाला फिलिस्तीनी अब माँग...

इजरायल ने 34 आतंकियों को मार डाला… 200 रॉकेट दागने वाला फिलिस्तीनी अब माँग रहा ‘संघर्ष विराम’ की भीख

इजरायल के विदेश मंत्री ने कहा है कि आतंकवादियों को चुन-चुन कर मारने का काम जारी रहेगा। इजरायली सेना के प्रवक्ता ने कहा कि सघंर्ष विराम पर किसी भी तरह की सहमति...

12 नवंबर को इजरायल ने फिलिस्तीन के सबसे बड़े जिहादी को मार गिराया। आतंकी सरगना बहा अबू अल-अता अपने घर में था, जब उसे निशाना बना इजरायल ने मिसाइल दागी। हमले में वह अपनी बीवी सहित मारा गया। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि अबू-अल अता एक ‘Ticking Bomb’ था, जो पूरे इजरायल को तबाह करने का सपना लिए कई आतंकी हमले की साजिश रच रहा था। 

इसके बाद आतंकी संगठन ‘फिलिस्तीनी इस्लामिक जिहाद’ ने इजरायल की ओर कम से कम 200 रॉकेट दागे और बदला लेने की धमकी दी। ये रॉकेट इजरायल के राष्ट्रीय राजमार्ग पर गिरे, जिसमें कई लोग घायल हो गए और कई गाड़ियाँ बर्बाद हो गईं।

इसके बाद इजरायल ने भी जवाबी कारर्वाई करते हुए रॉकेट दागने शुरू कर दिए। दो दिनों की गोलाबारी में तकरीबन 34 फिलीस्तीनी मारे गए और कई घायल हुए। मरने वालों में अबू मलिक के एक ही परिवार के आठ लोग भी शामिल हैं, जो दक्षिण गाजापट्टी के रिहाइशी इलाके में रहते थे।

इतनी मौतों के बाद गुरुवार (नंवबर 14, 2019) को फिलीस्तीन प्रशासित गाजा के इस्लामिक जिहादी समूह इजरायल के साथ संघर्ष विराम पर सहमत हो गया। हालाँकि इजरायल के विदेश मंत्री का कहना है कि आतंकवादियों को चुन-चुन कर मारने का काम जारी रहेगा।

इस्लामिक जिहाद के प्रवक्ता मुसब अल बरीम का दावा है कि संगठन ने अपने नेताओं को इजरायली सेना की ओर से निशाना नहीं बनाए जाने सहित कई माँगें की थी, जिसे स्वीकार किए जाने के बाद सघंर्ष विराम पर सहमति बनी। मगर इजरायली सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल एविचे एडराई ने कहा है कि ऐसे किसी समझौते की पुष्टि नहीं हुई है।

एक तरफ जहाँ फिलीस्तीनी, इजरायल से दया की भीख माँग रहा है, वहीं दूसरी तरफ गुरुवार को संघर्ष विराम लागू होने के बाद भी अपनी कायराना हरकत दिखा रहा है। जानकारी के मुतबाकि, फिलिस्तीनी इस्लामिक जिहाद आतंकी संगठन ने संघर्ष विराम के बावजूद इजरायल पर हमले किए। जिसके बाद इजरायल ने भी जवाबी हमले किए।

इजराइल की सेना ने शुक्रवार (नवंबर 15, 2019) को तड़के कहा कि उसने गाजा में इस्लामिक जिहाद से जुड़े ठिकानों पर नए सिरे से हमले शुरू किए, क्योंकि उसने गुरुवार सुबह युद्धविराम लागू होने के बावजूद इजरायल में कई रॉकेट दागे। इजरायली सेना ने भी इस बात की पुष्टि करते हुए एक ट्वीट में कहा, “आईडीएफ (इजरायली रक्षा बल) इस समय गाजा पट्टी में इस्लामिक जिहाद के आतंकी ठिकानों पर हमला कर रहा है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘आई एम सॉरी अमरिंदर’: इस्तीफे से पहले सोनिया गाँधी ने कैप्टेन से किया किनारा, जानिए क्या हुई फोन पर आखिरी बातचीत

"बिना मुझसे पूछे विधायक दल की मीटिंग बुला ली गई, जिसके बाद सुबह सवा दस के करीब मैंने कॉन्ग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गाँधी को फोन किया था और मैंने उन्हें कहा कि..."

सिख नरसंहार के बाद छोड़ दी थी कॉन्ग्रेस, ‘अकाली दल’ में भी रहे: भारत-पाक युद्ध की खबर सुन दोबारा सेना में गए थे ‘कैप्टेन’

11 मार्च, 2017 को जन्मदिन के दिन ही कैप्टेन अमरिंदर सिंह को पंजाब में बहुमत प्राप्त हुआ और राज्य में कॉन्ग्रेस के लिए सत्ता का सूखा ख़त्म हुआ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,150FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe