Sunday, July 21, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयरेनबो कलर्स के खिलौने, LGBT फ्लैग वाले कपड़े सऊदी अरब कर रहा जब्त, कहा-...

रेनबो कलर्स के खिलौने, LGBT फ्लैग वाले कपड़े सऊदी अरब कर रहा जब्त, कहा- ये रंग बच्चों को जहरीले संदेश देते हैं, समलैंगिकता को मिलता है बढ़ावा

"हम उन लोगो और डिजाइन का पता लगा रहे हैं, जो इस्लाम विरोधी, यौन उत्पीड़न, युवा पीढ़ी को निशाना बनाने वाले और समलैंगिकता को बढ़ावा देने के लिए प्रयोग में लाए जा रहे हैं।''

सऊदी अरब (Saudi Arabia) में समलैंगिकता गैरकानूनी है। इसके तहत अधिकारियों ने राजधानी रियाद में रेनबो कलर्स के खिलौने और एलजीबीटी फ्लैग जैसे दिखने वाले कपड़ों को दुकानों से जब्त कर लिया है। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, अधिकारी समलैंगिकता को बढ़ावा देने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर रहे हैं, जिसके चलते उन्होंने दुकानों से रेनबो कलर्स के खिलौने और कपड़े जब्त किए हैं।

सऊदी अरब के न्यूज चैनल अल-एखबरिया (Al-Ekhbariya News Channel) की रिपोर्ट के अनुसार, जब्त किए गए सामान में रेनबो कलर की स्कर्ट, टोपी और पेंसिल हैं। इनमें ज्यादातर सामान छोटे बच्चों के खेलने का है।

जानकारी के मुताबिक वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने रियाद के अलग-अलग क्षेत्रों की दुकानों में जाँच अभियान चलाने के आदेश दिए हैं। अभियान से जुड़े वाणिज्य मंत्रालय के एक अधिकारी का कहना है, “हम उन लोगो और डिजाइन का पता लगा रहे हैं, जो इस्लाम विरोधी, यौन उत्पीड़न, युवा पीढ़ी को निशाना बनाने वाले और समलैंगिकता को बढ़ावा देने के लिए प्रयोग में लाए जा रहे हैं।”

रेनबो फ्लैग की ओर इशारा करते हुए एक पत्रकार कहता है, “एलजीबीटी का फ्लैग रियाद के बाजारों में उपलब्ध है।” रिपोर्ट में कहा गया है कि ये कलर बच्चों को ‘Poisoned Message’ भेजते हैं।

बता दें कि सऊदी अरब में समलैंगिक रिश्ते बनाना इस्लामी शरिया कानून के तहत बहुत बड़ा अपराध है। सऊदी अरब के अलावा कतर, सुडान, ईरान, यमन में समलैंगिक रिश्ता बनाने के लिए मौत की सजा दी जाती है।

गौरतलब है कि पिछले साल दिसंबर में कतर ने अपने यहाँ बच्चों के कुछ खिलौनों को प्रतिबंधित कर दिया था। इसकी वजह इनका रंग बताया गया था, जो कथित तौर पर इस्लामी मूल्यों के खिलाफ हैं। उस वक्त रंगे बिरंगे खिलौनों को कतर की दुकानों से जब्त किया गया था। देश के वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा था कि उन्हें रंग-बिरंगे खिलौनों पर कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन रेनबो कलर्स के कुछ खिलौने LGBTQ फ्लैग जैसे दिखते हैं। इसलिए उन खिलौनों को बैन किया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

वामपंथी सरकार ने चलवाई गोली, मारे गए 13 कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता: जानें क्यों ममता बनर्जी मना रहीं ‘शहीद दिवस’, TMC ने हाईजैक किया कॉन्ग्रेस का...

कभी शहीद दिवस कार्यक्रम कॉन्ग्रेस मनाती थी, लेकिन ममता बनर्जी ने कॉन्ग्रेस पार्टी से अलग होने के बाद युवा कॉन्ग्रेस के 13 कार्यकर्ताओं की हत्या को अपने नाम के साथ जोड़ लिया और उसका इस्तेमाल कम्युनिष्टों की जड़ काटने में किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -