Sunday, July 21, 2024
Homeविविध विषयअन्य40 साल पुराने जिस अमेरिकी बैंक को Forbes ने दी टॉप 100 में जगह,...

40 साल पुराने जिस अमेरिकी बैंक को Forbes ने दी टॉप 100 में जगह, वही सिलिकॉन वैली बुरी तरह डूबा: 60% शेयर गिरे, लोगों को मंदी का डर

8 मार्च को SVB ने जानकारी दी कि उसने बैंक की कई सिक्योरिटीज को घाटे में बेचा है। इसके साथ साथ बैंक ने अपनी बैलेंस शीट को मजबूत करने के लिए नए शेयर बेचने की घोषणा की। इससे कई बड़ी कैपिटल फर्मों में डर का माहौल बन गया। इसके बाद SBV के स्टॉक में गिरावट आई। जिससे दूसरे बैंकों के शेयर्स को भारी नुकसान पहुँचा।

अमेरिकी रेगुलेटर्स ने शुक्रवार (10 मार्च 2023) को देश के सबसे बड़े बैंकों में शुमार सिलिकॉन वैली बैंक (Silicon Valley Bank) को बंद करने के आदेश दे दिए। पिछले महीने ही बैंक को फोर्ब्स पत्रिका द्वारा अमेरिका के सर्वश्रेष्ठ बैंको की सूची में स्थान दिया गया था।

कैलिफोर्निया के डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंशियल प्रोटेक्शन और इनोवेशन द्वारा बैंक को बंद करने के आदेश के साथ ही फेडरल डिपॉजिट इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (FDIC) को बैंक का रिसीवर नियुक्त किया गया है। बैंक के ग्राहकों के पैसों की सुरक्षा भी FDIC ही संभालेगी।

14 फरवरी 2023 को मशहूर बिजनेस मैगजीन ने देश के 100 सर्वश्रेष्ठ बैंकों की अपनी 14वीं वार्षिक सूची जारी की थी। फोर्ब्स ने कथित तौर पर ग्रोथ, लाभ, क्रेडिट क्वालिटी के आधार पर यह सूची तैयार की थी जिसमें एसवीबी फाइनेंशियल ग्रुप (एसवीबी बैंक की पैरेंट कंपनी) को 20 वाँ स्थान दिया गया था।

7 मार्च 2023 को SVB Financial Group की तरफ से इसे लेकर एक ट्वीट भी किया गया था। जिसमें लिखा था कि फोर्ब्स द्वारा तैयार अमेरिका के सर्वश्रेष्ठ बैंकों की वार्षिक रैंकिंग में लगातार 5वें साल स्थान प्राप्त करने और पब्लिकेशन्स इनॉगरल फाइनेंशियल ऑल स्टार्स लिस्ट में भी शामिल होने पर गर्व है। इस ट्वीट के ठीक 3 दिन बाद 40 सालों तक परिचालन में रहने वाले बैंक को नियामकों ने बंद करने के लिए मजबूर कर दिया।

फेडरल डिपॉजिट इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (FDIC) ने शुक्रवार (10 मार्च) को अमेरिका स्थित सिलिकॉन वैली बैंक (SVB) को बंद करने और उसकी संपत्तियों को जब्त करने की घोषणा की। दरअसल, सिल्वरगेट कैपिटल कॉर्प के अचानक बंद होने और सिलिकॉन वैली बैंक के लापरवाह तरीके से फंडरेजिंग की वजह से प्रौद्योगिकी उद्योग (Technology Industry) में भय व्याप्त हो गया।

8 मार्च को SVB ने जानकारी दी कि उसने बैंक की कई सिक्योरिटीज को घाटे में बेचा है। इसके साथ साथ बैंक ने अपनी बैलेंस शीट को मजबूत करने के लिए नए शेयर बेचने की घोषणा की। इससे कई बड़ी कैपिटल फर्मों में डर का माहौल बन गया। इसके बाद SBV के स्टॉक में गिरावट आई। जिससे दूसरे बैंकों के शेयर्स को भारी नुकसान पहुँचा।

SVB फाइनेंशियल ग्रुप के शेयरों में 9 मार्च 2023 को 60 प्रतिशत तक की गिरावट दर्ज की गई। जिसके बाद इसे कारोबार के लिए रोक दिया गया। SVB के सीईओ ग्रेग बेकर ने इस संकट को टालने के लिए ग्राहकों और निवेशकों से शांत रहने और आगे से पूंजी न निकालने का अनुरोध भी किया। हालाँकि इसका कोई फायदा नहीं हुआ।

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक एसवीबी के शेयर गिरने की वजह से पिछले 48 घंटो में अमेरिकी बैंको को स्टॉक मार्केट में 100 अरब डॉलर का नुकसान हुआ है। वहीं यूरोपीय बैंको को 50 अरब डॉलर के घाटे की बात कही जा रही है।

लोगों को याद आ रही 2008 की मंदी

अमेरिका पर आया बैंकिंग संकट नया नहीं है। वर्ष 2008 में भी अमेरिका इस तरह के संकट का सामना कर चुका है जब ज्यादा लोन बाँटने की वजह से बैंकिंग फर्म लेहमन ब्रदर्स को दिवालिया होना पड़ा था। इसका असर दुनिया भर पर पड़ा था। लेहमन ब्रदर्स के दिवालिया घोषित होते ही दुनिया भर को मंदी का सामना करना पड़ा था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काशी विश्वनाथ मंदिर और महाकालेश्वर मंदिर परिसर के दुकानदारों को लगाना होगा नेम प्लेट: बिहार के बोधगया की दुकानों में खुद ही लगाया बोर्ड,...

उत्तर प्रदेश के बाद मध्य प्रदेश के महाकालेश्वर मंदिर परिसर में स्थित दुकानदारों को अपना नेम प्लेट लगाने का आदेश दिया गया है।

‘मध्य प्रदेश और बिहार में भी काँवर यात्रा मार्ग में ढाबों-ठेलों पर लिखा हो मालिक का नाम’: पड़ोसी राज्यों में CM योगी के फैसलों...

रमेश मेंदोला ने कहा कि नाम बताने में दुकानदारों को शर्म नहीं बल्कि गर्व होना चाहिए। हरिभूषण ठाकुर बचौल बोले - विवादों से छुटकारा मिलेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -