Thursday, July 25, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षा186 आतंकी ढेर, 159 गिरफ्तार: कश्मीर DGP ने दी घाटी में आतंकियों की रिपोर्ट,...

186 आतंकी ढेर, 159 गिरफ्तार: कश्मीर DGP ने दी घाटी में आतंकियों की रिपोर्ट, बताया- 4 सालों में सबसे शांतिपूर्ण रहा साल 2022

दिलबाग सिंह के मुताबिक साल 2022 में पुलिस के 14 और अर्धसैनिक बलों के 17 जवान वीरगति को प्राप्त हुए। यह संख्या आज़ादी के बाद अब तक के कश्मीर के इतिहास में सबसे कम है। वहीं आतंकी हमलों में मारे गए आम नागरिकों की संख्या कुल 24 बताई गई है।

साल 2022 के समापन पर जम्मू कश्मीर के DGP दिलबाग सिंह ने पूरे साल का लेखा-जोखा पेश किया। उन्होंने आतंकवाद के नजरिए से साल 2022 को बेहद शांत वर्ष बताया। पुलिस महानिदेशक ने अपने बयान में साल 2023 को पुलिस के लिए मिशन जीरो टेरर का लक्ष्य तय किया है। उन्होंने कहा है कि इस साल आतंकी नेटवर्क को ध्वस्त करना ही उनकी प्राथमिकता रहेगी। IPS दिलबाग सिंह ने यह बयान शनिवार (31 दिसंबर 2022) को दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक DGP दिलबाग सिंह ने कहा कि पिछले 12 महीनों के अंदर नए आतंकियों की भर्ती में तेजी से कमी आई है। इसी के साथ उन्होंने सुरक्षा बलों को होने वाले जान-माल के नुकसान में भी काफी गिरावट होने की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 2022 में ही लश्कर और जैश से जुड़े 56 पाकिस्तानियों सहित 186 आतंकियों को मार गिराने के साथ 4 से 5 आतंकियों से बने कुल 146 आतंकी समूहों को खत्म कर दिया गया। इसके अलावा 159 आतंकियों को गिरफ्तार भी किया गया।

आतंकियों की नई भर्ती के आँकड़े पेश करते हुए दिलबाग सिंह ने कहा कि 2022 में कुल 100 नए आतंकियों ने देश के खिलाफ हथियार उठाए थे। यह संख्या साल 2021 से 37% कम बताई जा रही है। 2022 में बने 100 नए आतंकियों में से 17 को गिरफ्तार किया गया जबकि 18 की तलाश जारी है। बाकी 65 आतंकियों को अलग-अलग मुठभेड़ों में मार गिराया गया है। DGP दिलबाग ने यह भी दावा किया है कि बड़ी संख्या में कश्मीरी युवाओं ने आतंकवाद की राह छोड़ कर शराफत से जीने की कसम खाई है। हालाँकि उन्होंने इसकी सटीक संख्या नहीं बताई।

दिलबाग सिंह के मुताबिक साल 2022 में पुलिस के 14 और अर्धसैनिक बलों के 17 जवान वीरगति को प्राप्त हुए। यह संख्या आज़ादी के बाद अब तक के कश्मीर के इतिहास में सबसे कम है। वहीं आतंकी हमलों में मारे गए आम नागरिकों की संख्या कुल 24 बताई गई है। दिलबाग सिंह ने इस संख्या को भी कश्मीर में अब तक के इतिहास में अब तक सबसे कम बताया है। आगे पेश आँकड़ों के अनुसार कश्मीर पुलिस ने साल 2022 में 55 वाहनों और 28 घरों को सीज किया। इनका इस्तेमाल आतंकी हरकतों को संचालित करने में हुआ था।

DGP ने आतंकवाद में प्रयोग होने वाले हथियारों के आँकड़ों की भी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि साल 2022 में कुल 188 घातक हथियार बरामद किए गए हैं। इसमें AK- 47 भी शामिल हैं। इसके अतिरिक्त 275 पिस्टल, 354 ग्रेनेड और 61 IED भी बरामद हुईं। बरामद हथियारों में कई ऐसे भी हैं जिन्हे ड्रोन से गिराया गया था। पुलिस महानिदेशक जम्मू कश्मीर के मुताबिक पुलिस ने घाटी में नशे के रैकेट के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की है। इस कार्रवाई के दौरान NDPS के 1693 केस दर्ज हुए। इस साल अन्य ड्रग्स के अलावा 212 KG हेरोइन, 383 KG चरस, 12 KG ब्राउन शुगर और 10000 KG से ज्यादा खसखस की भूसी बरामद की गई।

DGP दिलबाग सिंह ने बताया कि कश्मीर पुलिस ने साल 2022 में कुल 29834 FIR दर्ज की हैं। इसमें 2285 केस महिलाओं के विरुद्ध हुए अपराध से संबंधित थे। इसके अलावा 1350 केस गैरकानूनी कार्यों को ले कर दर्ज हुए। पुलिस महानिदेशक ने कहा कि घाटी में रहने वाले अल्पसंख्यकों को नुकसान पहुँचाने या इसकी कोशिश करने वालों को किसी हाल में बख्शा नहीं जाएगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘वनवासी महिलाओं से कर रहे निकाह, 123% बढ़ी मुस्लिम आबादी’: भाजपा सांसद ने झारखंड में NRC के लिए उठाई माँग, बोले – खाली हो...

लोकसभा में बोलते हुए सांसद निशिकांत दुबे ने कहा, विपक्ष हमेशा यही बोलता रहता है संविधान खतरे में है पर सच तो ये है संविधान नहीं, इनकी राजनीति खतरे में है।

देशद्रोही, पंजाब का सबसे भ्रष्ट आदमी, MeToo का केस… खालिस्तानी अमृतपाल का समर्थन करने वाले चन्नी की रवनीत बिट्टू ने उड़ाई धज्जियाँ, गिरिराज बोले...

रवनीत सिंह बिट्टू ने कहा कि एक पूर्व मुख्यमंत्री देशद्रोही की तरह व्यवहार कर रहा है, देश को गुमराह कर रहा है। गिरिराज सिंह बोले - ये देश की संप्रभुता पर हमला।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -