Thursday, March 4, 2021
Home रिपोर्ट राष्ट्रीय सुरक्षा महिला नक्सली के हाथ में बंदूक, धमकी भरे पोस्टर और राजनीतिक प्रश्रय: बंगाल में...

महिला नक्सली के हाथ में बंदूक, धमकी भरे पोस्टर और राजनीतिक प्रश्रय: बंगाल में माओवादियों की वापसी और 4 घटनाएँ

माओवादियों को प्रदेश सरकार से पूरा सहयोग भी मिल रहा है। ममता बनर्जी ने छात्रधर महतो को TMC की प्रदेश कार्यकारिणी समिति में शामिल किया था। महतो 10 साल तक जेल में रह चुका है, वो माओवादी संगठनों के लिए काम करता था।

माओवादी पिछले कई सालों से पश्चिम बंगाल में दहशत की वजह बने हुए हैं खासकर जंगलमहल क्षेत्र में। इस पूरे इलाके में पश्चिम मिदनापुर, पुरुलिया, झारग्राम और बाँकुड़ा जैसे जिले कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ इंडिया (माओवादी) का गढ़ बने हुए हैं। साल 2009 से 2011 के बीच माओवादी जंगलमहल में एक अलग क्षेत्र बनाने में काफी हद तक कामयाब रहे थे।

वामपंथ के चरमपंथी समूह और सुरक्षाबलों के बीच तब गोलीबारी का लंबा दौर चला था। इस घटना में कुल 350 आम नागरिकों ने अपनी जान गँवाई थी और 80 माओवादी नेताओं पर कार्रवाई हुई थी। इसे पश्चिम बंगाल के जंगली कॉरिडोर का सबसे भयानक और कठिन अभियान माना जाता है। इसमें लगभग 50 सुरक्षाबल शहीद भी हुए थे। मल्लौला कोटेश्वर राव उर्फ़ किशन जी की हत्या के बाद इस घरेलू आतंकवादी समूह का प्रभाव लगभग ख़त्म हो गया था। इसके बाद पूरे इलाके में माओवादी गतिविधियाँ काफी कम हो गई थी। 

ख़बरों की मानें तो ऐसा माना जाता है कि माओवादी झारखंड के सिंहभूम जिले में अपना कैम्प लगाते हैं। पीछे कुछ महीनों से माओवादी झारग्राम में काफी सक्रिय रहे हैं। पिछले कुछ समय में झारग्राम में ऐसी 4 घटनाएँ हुई हैं, जिनके आधार पर माओवादियों की मौजूदगी और सक्रियता का डर फिर से बढ़ रहा है। ऐसी जानकारियों के आधार पर राज्य प्रशासन और खुफ़िया एजेंसियों ने हालात नियंत्रण में करने के लिए अभियान शुरू कर दिया है। 

हाल ही में माओवादियों ने पश्चिम बंगाल के बेलपहाड़ी स्थित सिमुलपल इलाके में टंगी कुसुमग्राम में पर्यटकों के एक समूह के साथ डकैती की। खड़गपुर से आए पर्यटकों को मोबाइल समेत अपने पास लगभग हर चीज़ देनी पड़ी। क्योंकि वह पूरा क्षेत्र पर्यटन के लिए मशहूर था, इसलिए वहाँ आने वाले लोगों के बीच भय का माहौल बन गया है। माओवादियों की संख्या 6 थी, जिसमें 3 महिलाएँ थीं और उन सभी के पास बंदूकें थीं। उन्होंने दिन में ही पर्यटकों को रोका और उनके मोबाइल फोन छीने। इसके बाद वह पड़ोसी राज्य झारखंड की तरफ आगे बढ़ गए। 

साभार – संगबाद प्रतिदिन

झारग्राम के पुलिस अधीक्षक अमित कुमार भारत राठौड़ ने इस घटना के बारे में अन्य जानकारी दी। उन्होंने बताया कि हाल ही में पश्चिम बंगाल, झारग्राम जिले में बेलापहाड़ी के पास भूलाबेधा क्षेत्र में माओवादियों के 3 पोस्टर पाए गए थे। साल 2009 के दौरान जंगलमहल के आस-पास ऐसे पोस्टर का मिलना आम बात थी। इनके वापस नज़र आने का यही मतलब है कि माओवादी समूह दोबारा संगठित हो रहे हैं और किसी नई योजना पर काम कर रहे हैं। 

साभार – टाइम्स ऑफ़ इंडिया

एक पोस्टर में लिखा था ‘ठेकेदार सौरव सड़क का काम बंद करो।’ पोस्टर में कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ इंडिया का ज़िक्र था और उसमें ठेकेदार सौरव रॉय को धमकी दी गई थी। धमकी में ऐसा कहा गया था कि वह धरसा से पराड़ी के बीच 40 किलोमीटर की सड़क का काम बंद करे। हालाँकि सौरव रॉय को इस बात की जानकारी नहीं थी और वह अपने काम में लगातार जुटे हुए थे।

इसके कुछ समय बाद माओवादियों ने गैस डीलर बिद्युत दास पर जानलेवा हमला किया था। माओवादियों ने उनसे 2 लाख रुपए की माँग की थी, जिसे देने से उन्होंने इनकार कर दिया था। इसके बाद 28 अगस्त को माओवादियों ने उन पर और उनकी पत्नी पर रात के 9:30 बजे अंधाधुंध गोलियाँ चलाई थीं।

घटना झारग्राम जिले के बेलापहाड़ी स्थित पोछा पानी गाँव में हुई थी। जब माओवादियों ने पति-पत्नी पर गोली चलाई, तब वह छत पर मौजूद थे। जैसे ही उन्होंने गोलीबारी की आवाज़ सुनी, वह जान बचाने के लिए छत से कूद कर भागे। अँधेरे का फायदा उठाते हुए माओवादी मौके से भाग निकले। घटना पर एक पुलिस अधिकारी ने कहा था, “लगता है माओवादी फिर से इकट्ठा हो रहे हैं और दास जी की जान लेना चाहते हैं।”

साभार – इंडियन एक्सप्रेस

15 अगस्त के दौरान भी माओवादियों ने झारग्राम के भूलाभेदा इलाके के 2-3 गाँवों में पोस्टर्स लगाए थे। पोस्टर्स में लिखा था कि स्थानीय लोग 15 अगस्त को ‘काले दिवस’ के तौर पर मनाएँ। इस पोस्टर पर कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) का ज़िक्र था। इस तरह के लगभग 10-12 हाथ से लिखे गए पोस्टर झारग्राम पुलिस ने बरामद किए थे।

इस पर पुलिस अधिकारी ने कहा था, “माओवादियों के पास फिलहाल किसी भी तरह की सेना नहीं बची है। साल 2011 में मल्लौला कोटेश्वर राव उर्फ़ किशन जी की मौत के बाद बहुत से माओवादियों ने आत्मसमर्पण कर दिया था। ऐसे पोस्टर पश्चिमी मिदनापुर में पिछले साल पाए गए थे।”

साभार – हिंदुस्तान टाइम्स

फिलहाल इस मामले में जाँच शुरू कर दी गई है लेकिन अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। इस तरह की कई घटनाएँ सामने आने के बाद पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि पर इस मुद्दे पर अपनी बात रखी थी। उन्होंने कहा था कि एक बार फिर राज्य में माओवादियों की सक्रियता स्पष्ट रूप से नज़र आ रही है।

हैरानी की बात यह है कि माओवादियों को प्रदेश सरकार से पूरा सहयोग भी मिल रहा है। ममता बनर्जी ने छात्रधर महतो को टीएमसी की प्रदेश कार्यकारिणी समिति में शामिल किया था। महतो 10 साल तक जेल में रह चुका है और माओवादी संगठनों के लिए काम भी करता था।     

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

चोरी करके बनाया गया दीपिका पादुकोण का Levi’s जीन्स वाला विज्ञापन? Yeh Ballet के डायरेक्टर ने लगाया आरोप

"ऐसा कोई स्टूडियो मुंबई में नहीं था, इसलिए विज्ञापन के डायरेक्टर ने इसे देखा और हमारे सेट को प्लेगराइज किया।" - ‘Yeh Ballet’ के निर्देशक ने...

‘मुगलों-औरंगजेब ने करवाई मंदिरों की मरम्मत’ – NCERT बिना सबूत के पूरे देश को पढ़ा रहा था, भेजा गया लीगल नोटिस

मुगलों का महिमामंडल करने वाली NCERT को एक RTI कार्यकर्ता ने लीगल नोटिस भेजा है। NCERT को ये नोटिस मुगलों पर अप्रमाणित कंटेंट छापने को लेकर...

स्विडन में आतंक: अकेले कुल्हाड़ी से 8 लोगों पर हमला, 3 साल पहले इस्लामी आतंकी ने लॉरी से रौंद डाला था 5 को

पुलिस ने फिलहाल आरोपित से जुड़ी कोई जानकारी सार्वजनिक नहीं की है। स्विडन की राजधानी में पहले भी दो बार इस्लामी आतंकियों ने हमले...

‘इस बार चुनाव बंगाल के भविष्य का, ऐसा करंट लगेगा कि कुर्सी से 2 फुट ऊपर उठ जाएँगी ममता’: नितिन गडकरी

"चुनाव के दिन आप लोग सुबह उठिएगा…अपने भगवान को याद कीजिएगा… इसके बाद मतदान केंद्रों पर जाकर कमल का बटन दबाइए। ऐसा करंट लगेगा कि ममता जी अपनी कुर्सी से दो फुट ऊपर उठ जाएँगी।"

ट्यूशन के लिए निकली नाबालिग लड़की गायब, शोएब पर ‘लव जिहाद’ के आरोप: 1 महीने बाद भी पुलिस के हाथ खाली

लड़की के पिता ने कहा, "आपलोग उसे ढूँढ कर ला दीजिए, वरना हम ज़हर खा कर मर जाएँगे। अपने हिन्दू होने का धर्म निभाइए। वो उसे बेच सकता है। मुस्लिम बना देगा उसे।"

अनुराग और तापसी पन्नू ‘गैंग’ के ठिकानों पर इनकम टैक्स की रेड पर लिबरलों का रोना शुरू, कहा- ‘ये तो होना ही था’

“कुछ बिंदु पर, यह रणनीति काम करना बंद कर देगी। लोग डरेंगे नहीं। वे अब भी सच बोलेंगे। फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप, अभिनेत्री तापसी पन्नू आयकर छापे का सामना कर रहे हैं।”

प्रचलित ख़बरें

BBC के शो में PM नरेंद्र मोदी को माँ की गंदी गाली, अश्लील भाषा का प्रयोग: किसान आंदोलन पर हो रहा था ‘Big Debate’

दिल्ली में चल रहे 'किसान आंदोलन' को लेकर 'BBC एशियन नेटवर्क' के शो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आपत्तिजनक टिप्पणी (माँ की गाली) की गई।

पुलिसकर्मियों ने गर्ल्स हॉस्टल की महिलाओं को नंगा कर नचवाया, वीडियो सामने आने पर जाँच शुरू: महाराष्ट्र विधानसभा में गूँजा मामला

लड़कियों ने बताया कि हॉस्टल कर्मचारियों की मदद से पूछताछ के बहाने कुछ पुलिसकर्मियों और बाहरी लोगों को हॉस्टल में एंट्री दे दी जाती थी।

‘प्राइवेट पार्ट में हाथ घुसाया, कहा पेड़ रोप रही हूँ… 6 घंटे तक बंधक बना कर रेप’: LGBTQ एक्टिविस्ट महिला पर आरोप

LGBTQ+ एक्टिविस्ट और TEDx स्पीकर दिव्या दुरेजा पर पर होटल में यौन शोषण के आरोप लगे हैं। एक योग शिक्षिका Elodie ने उनके ऊपर ये आरोप लगाए।

‘हाथ पकड़ 20 मिनट तक आँखें बंद किए बैठे रहे, किस भी किया’: पूर्व DGP के खिलाफ महिला IPS अधिकारी ने दर्ज कराई FIR

कुछ दिनों बाद उनके ससुर के पास फोन कॉल कर दास ने कॉम्प्रोमाइज करने को कहा और दावा किया कि वो पीड़िता के पाँव पर गिरने को भी तैयार हैं।

‘बिके हुए आदमी हो तुम’ – हाथरस मामले में पत्रकार ने पूछे सवाल तो भड़के अखिलेश यादव

हाथरस मामले में सवाल पूछने पर पत्रकार पर अखिलेश यादव ने आपत्तिजनक टिप्पणी की। सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद उनकी किरकिरी हुई।

आगरा से बुर्के में अगवा हुई लड़की दिल्ली के पीजी में मिली: खुद ही रचा ड्रामा, जानिए कौन थे साझेदार

आगरा के एक अस्पताल से हुई अपहरण की यह घटना सीसीटीवी फुटेज वायरल होने के बाद सामने आई थी।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,284FansLike
81,881FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe