Tuesday, July 27, 2021
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेककिसानों ने पत्रकार अजित अंजुम को दम भर मारा, वायरल हो गया वीडियो: Fact...

किसानों ने पत्रकार अजित अंजुम को दम भर मारा, वायरल हो गया वीडियो: Fact Check

विनय कुमार नाम के ट्विटर यूजर ने ये वीडियो शेयर करते हुए कहा कि किसान नेता राकेश टिकैत ने मंच से किसानों को इस मामले को लेकर फटकार भी लगाई।

सोशल मीडिया पर वरिष्ठ पत्रकार अजित अंजुम को किसानों द्वारा कूटे जाने की बातें जोरों पर हैं जबकि खुद अजित अंजुम ने इस बारे में स्पष्टीकरण जारी किया है। दरअसल, ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया जा रहा है, जिसमें लोगों द्वारा दावा किया जा रहा है कि किसान धरना प्रदर्शन के दौरान वरिष्ठ पत्रकार अजित अंजुम को कुछ असामाजिक तत्वों ने पीट दिया और उनके कपड़े भी फाड़ दिए।

एक ट्विटर यूजर ने लिखा है कि अजित अंजुम का कैमरा भी छीना गया जब वो गाजीपुर बॉर्डर पर किसान धरना कवरेज करने गए थे। विनय कुमार नाम के ट्विटर यूजर ने ये वीडियो शेयर करते हुए कहा कि किसान नेता राकेश टिकैत ने मंच से किसानों को इस मामले को लेकर फटकार भी लगाई।

वहीं, एक अन्य ट्विटर यूजर ने भी भीड़ द्वारा किसी आदमी को पीटने की इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है, “अजीत अंजुम को किसानों ने धोया एक्सक्लुसिव तस्वीरें देखिए इस क्रांतिकारी पत्रकार के स्वागत की।”

एक अन्य यूजर ने लिखा है – “अजित अंजुम जी की बिचौलियों द्वारा ऐसी कुटाई की जितनी निंदा की जाए उतनी कम है।”

क्या है सच्चाई

अजित अंजुम ने अपने ट्विटर अकाउंट से इन खबरों को फर्जी बताया है। अजित अंजुम ने इस वीडियो को लेकर चल रही अफवाह पर सफाई देते हुए लिखा, “कुछ लोग गलत जानकारी के साथ ये वीडियो वायरल कर रहे हैं। किसी फोटोग्राफर के साथ किसी बात पर कुछ लड़कों की बहस हुई। फिर झगड़े जैसी नौबत देख मैं और मेरे जैसे कई लोग भागकर बीच बचाव करने पहुँचे। उसी वक्त का ये वीडियो है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,361FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe