Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाजअकबर बन गया सत्यम, शमीम ने भी की घर वापसी: छत्तीसगढ़ में 251 परिवार...

अकबर बन गया सत्यम, शमीम ने भी की घर वापसी: छत्तीसगढ़ में 251 परिवार के 1000 लोगों ने अपनाया सनातन, धीरेंद्र शास्त्री ने ओढ़ाया भगवा, प्रबल प्रताप ने पखारे पाँव

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में बागेश्वर धाम वाले धीरेंद्र शास्त्री की हनुमत कथा के अंतिम दिन शनिवार (27 जनवरी 2024) को 1000 लोगों घर वापसी की। इस दौरान जशपुर राजपरिवार के प्रबल प्रताप सिंह जूदेव भी मौजूद थे। जनजातीय समुदाय के बीच बेहद लोकप्रिय भाजपा नेता प्रबल प्रताप सिंह धर्मांतरण करने वाले लोगों के पाँव धोकर घरवापसी कराते रहे हैं।

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में बागेश्वर धाम वाले धीरेंद्र शास्त्री की हनुमत कथा के अंतिम दिन शनिवार (27 जनवरी 2024) को 1000 लोगों घर वापसी की। इस दौरान जशपुर राजपरिवार के प्रबल प्रताप सिंह जूदेव भी मौजूद थे। जनजातीय समुदाय के बीच बेहद लोकप्रिय भाजपा नेता प्रबल प्रताप सिंह धर्मांतरण करने वाले लोगों के पाँव धोकर घर वापसी कराते रहे हैं।

राजधानी रायपुर के कोटा गुढ़ियारी इलाके में इस समय धीरेंद्र शास्त्री की श्री हनुमंत कथा चल रही थी। यह कथा 23 जनवरी से 27 जनवरी 2024 तक चली। कथा के अंतिम दिन 251 परिवार के 1000 धर्मांतरित लोगों ने घर वापसी की। घर वापसी करने वाले लोगों में 2 मुस्लिम परिवार सहित ईसाई धर्म को मानने वाले लोग शामिल हैं।

कार्यक्रम के दौरान उत्तर प्रदेश के रहने वाले मोहम्मद अकबर ने भी हिन्दू धर्म में वापसी की। धीरेंद्र शास्त्री ने अकबर का नाम बदलकर सत्यम रखा है। वहीं, रायपुर के चंगोराभाठा में रहने वाले शेख समीम ने भी सनातन धर्म अपनाया है। इस दौरान गरीब परिवारों के 21 जोड़ों का सामूहिक विवाह कराया गया और उन्हें घर-गृहस्थी का जरूरत का सामान भी दिया गया।

भाजपा नेता प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने इस लोगों के पैर धोकर इनकी घर वापसी करवाया। इस दौरान हवन-पूजन का भी आयोजन किया गया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, घर वापसी करने वाले सभी लोग सगुजां संभाग के रहने वाले हैं। इस दौरान जूदेव ने कहा कि वे सभी लोगों को सनातन में वापस लाएँगे। घर वापसी को उन्होंने राष्ट्र निर्माण का काम बताया।

प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने कहा,  इनका धर्मांतरण बहुत ही गलत तरीके से कराया गया था। इनसे झूठ बोलकर और हिंदू देवताओं के बारे में अपमानजनक बातें बोलकर इनका धर्मांतरण कराया गया था।” उन्होंने कहा कि घर वापसी का कार्यक्रम वे लंबे समय से कराते आ रहे हैं। उनके दिवंगत पिता दिलीप सिंह जूदेव भी कराते रहे थे।

जूदेव ने कहा, “मेरा मानना है जहाँ हिंदुओं का धर्मांतरण हुआ है या अल्पमत में आए हैं, वह क्षेत्र भारत से कटता गया। एक समय था जब अफगानिस्तान से लेकर इंडोनेशिया तक सारे हिंदू ही थे। हिंदुओं का धर्मांतरण हुआ और वे क्षेत्र भारत से अलग हो गए। जहाँ हिंदू घटा है, वहाँ देश बँटा है।” उन्होंने मंच से छत्तीसगढ़ में 101 मंदिर बनवाने की भी शपथ ली। 

वहीं, कथावाचक पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कहा कि वे किसी धर्म के विरोधी नहीं हैं और ना ही वे धर्मांतरण में यकीन रखते हैं, लेकिन बहला-फुसलाकर धर्मांतरित कराए गए लोगों की घर वापसी में उन्हें विश्वास है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने घर वापसी की है, वे हनुमान जी की मर्जी से आए हैं। उन्होंने प्रबल प्रताप सिंह जूदेव के प्रयासों की भी जमकर सराहना की।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कॉन्ग्रेस के चुनावी चोचले ने KSRTC का भट्टा बिठाया, ₹295 करोड़ का घाटा: पहले महिलाओं के लिए बस सेवा फ्री, अब 15-20% किराया बढ़ाने...

कर्नाटक में फ्री बस सेवा देने का वादा करना कॉन्ग्रेस के लिए आसान था लेकिन इसे लागू करना कठिन। यही वजह है कि KSRTC करोड़ों के नुकसान में है।

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -