Friday, July 19, 2024
Homeराजनीतिमुस्लिम महिला को दी BJP कार्यकर्ता होने की सजा, घर से निकाल शौहर कर...

मुस्लिम महिला को दी BJP कार्यकर्ता होने की सजा, घर से निकाल शौहर कर रहा दूसरा निकाह: PM-CM से मदद की गुहार

वीडियो में सोफिया ने सपा विधायक गजाला लारी और उनके परिवार से जान का खतरा बताया था। वीडियो में उन्होंने कहा, "मैं पूर्व अल्पसंख्यक आयोग की सदस्य रही हूँ। मैं भाजपा से जुड़ी हूँ और यह मेरे पति को पसंद नहीं है। मुझ पर पार्टी छोड़ने का दबाव डाला जा रहा है।"

उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur, Uttar Pradesh) की भाजपा नेत्री और अल्पसंख्यक आयोग की पूर्व सदस्य सोफिया अहमद ने अपने शौहर शारिक अराफात पर दूसरा निकाह करने का आरोप लगाया है। सोफिया ने यूपी पुलिस से शौहर का दूसरा निकाह रोकने की अपील की।

शारिक आराफात समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) से 4 बार की विधायक रहीं गजाला लारी के भाई हैं। मूल रूप से चेन्नई निवासी सोफिया अहमद ने शारिक और उनकी बहन गजाला से अपनी जान को बताते हुए मदद माँगी है। उन्होंने कहा कि उनका भाजपा से जुड़ा होना ससुराल वालों को पसंद नहीं आ रहा है।

सोफिया का कहना है कि भाजपा कार्यकर्ता होने की वजह से शौहर शारिक ने पहले तो उन्हें बिना तलाक दिए घर से निकाल दिया और अब दूसरा निकाह करने की तैयारी में है। पुलिस को दी गई शिकायत के अनुसार, सोफिया और शारिक की शादी साल जून 2015 में हुई थी। वर्ष 2016 में उनके बीच के रिश्ते खराब हो गए।

आरोप है कि अगस्त 2016 में शौहर शारिक ने एक तलाक देकर सोफिया को एक साल के बच्चे के साथ घर से निकाल दिया। इसके बाद सोफिया स्वरूप नगर की एक फ्लैट में रहने लगी। ससुराल वालों से प्रताड़ित सोफिया ने उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराया था। हालाँकि, समय बीतने के साथ सुलह समझौता हो गया और वह वर्ष 2019-2021 के बीच ससुराल आने-जाने लगी।

सोफिया का आरोप है कि उन पर ससुराल पक्ष की तरफ से भाजपा छोड़ने का लगातार दबाव बनाया जाता रहा है। सोफिया ने ऐसा नहीं किया और अब उन्हें पता चला है कि शौहर दूसरा निकाह करने की तैयारी कर रहा है। इसके बाद सोफिया ने पुलिस कमिश्नर बीपी जोगदंड से निकाह रोकने की अपील की है। पुलिस कमिश्नर जोगदंड ने मामले की जाँच के आदेश दिए हैं।

इसके पहले 24 जनवरी 2023 को सोफिया ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया था। वीडियो में सोफिया ने सपा विधायक गजाला लारी और उनके परिवार से जान का खतरा बताया था। वीडियो में उन्होंने कहा, “मैं पूर्व अल्पसंख्यक आयोग की सदस्य रही हूँ। मैं भाजपा से जुड़ी हूँ और यह मेरे पति को पसंद नहीं है। मुझ पर पार्टी छोड़ने का दबाव डाला जा रहा है।”

सोफिया ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ (CM Yogi Adityanath) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से मदद की गुहार लगाई थी। इस दौरान उन्होंने अपने शौहर की दूसरे निकाह का भी जिक्र किया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -