Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाजदिल्ली से घूमने निकली 5 लड़कियाँ, राजस्थान में युवकों से लिफ्ट ली, 2 का...

दिल्ली से घूमने निकली 5 लड़कियाँ, राजस्थान में युवकों से लिफ्ट ली, 2 का पता नहीं

पाँचों लड़कियाँ दिल्ली लौटने के लिए बस की प्रतीक्षा कर रही थीं। तभी इनोवा कार में सवार युवकों ने लिफ्ट का ऑफर दिया। कुछ दूर जाते ही युवकों ने तीन लड़कियों को कार से बाहर धक्का दे दिया, जबकि दो को साथ ले गए।

दिल्ली से राजस्थान घूमने गईं 5 लड़कियों में 2 का सोमवार (जुलाई 23, 2019) की रात वापस आते वक्त सीकर के बस स्टॉप से अपहरण हो गया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बदमाशों ने पहले इन पाँचों युवतियों को डिपो तिराहे से कार में बिठाया, लेकिन बाद में गोकुलपुरा इलाके के पास उनमें से 3 लड़कियों को कार से बाहर धकेल दिया और 2 लड़कियों का अपहरण करके उन्हें ले गए।

पुलिस अधिकारी ने इस मामले के संबंध में बताया कि रात का खाना खाने के बाद ये पाँचों लड़कियाँ दिल्ली के लिए बस की प्रतीक्षा कर रही थीं। लेकिन, तभी इनोवा कार में सवार कुछ युवक वहाँ आए और उन्हें लिफ्ट के लिए ऑफर दिया। जिसके बाद लड़कियों ने उन लड़कों से लिफ्ट ले ली। मगर कुछ दूर जाते ही युवकों ने उनमें से तीन को कार से बाहर धक्का दे दिया, जबकि दो का अपहरण करके उन्हें अपने साथ ले गए।

रादस्थान पत्रिका के सीकर संस्करण में प्रकाशित खबर

रोती-बिलखती लड़कियों ने पुलिस को इस संबंध में तुरंत फोन करके सूचना दी। जिसके बाद उद्योग नगर थाना पुलिस मौक़े पर पहुँचकर युवतियों को अपने साथ ले गई। पुलिस ने आधी रात में ही जिले भर में नाकाबंदी करवा दी, लेकिन बदमाशों का कोई सुराग नहीं मिला। शुरुआती जाँच में पुलिस ने इस पूरे मामले को संदिग्ध माना है।

लड़कियों के मुताबिक, चलती गाड़ी में बदमाश युवकों ने उनसे मोबाइल और पर्स लूटने की कोशिश की थी। जिस कारण उन्होंने कार में काफी संघर्ष किया। उन्होंने बताया कि उन लोगों ने बहुत शोर भी मचाया था, लेकिन इलाका सुनसान होने कारण किसी ने कुछ नहीं देखा। लड़कियों के अनुसार, जिन लड़कियों का अपहरण हुआ है वह बंगाल की हैं और हिन्दी बोलना नहीं जानती हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सीकर के उद्योग नगर थाना के स्टेशन ऑफिसर वीरेंद्र शर्मा ने बताया कि मामले की जाँच चल रही है। तीनों लड़कियों ने अलग-अलग बयान दिए हैं और मामला दर्ज भी नहीं करवाया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नाम: नूर मुहम्मद, काम: रोहिंग्या-बांग्लादेशी महिलाओं और बच्चों को बेचना; 36 घंटे चला UP पुलिस का ऑपरेशन, पकड़ा गया गिरोह

देश में रोहिंग्याओं को बसाने वाले अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करी के गिरोह का उत्तर प्रदेश एटीएस ने भंडाफोड़ किया है। तीन लोगों को अब तक गिरफ्तार किया गया है।

‘राजीव गाँधी थे PM, उत्तर-पूर्व में गिरी थी 41 लाशें’: मोदी सरकार पर तंज कसने के फेर में ‘इतिहासकार’ इरफ़ान हबीब भूले 1985

इतिहासकार व 'बुद्धिजीवी' इरफ़ान हबीब ने असम-मिजोरम विवाद के सहारे मोदी सरकार पर तंज कसा, जिसके बाद लोगों ने उन्हें सही इतिहास की याद दिलाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,464FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe